स्वास्थ्य सेवाएं बेहतर बनाने को 35 डाक्टर मांगे

Hamirpur Updated Fri, 28 Sep 2012 12:00 PM IST
हमीरपुर। बिगड़ी स्वास्थ्य योजनाओं को पटरी पर लाने के लिए गुरुवार को जिलाधिकारी बी चंद्रकला ने सीएमओ कार्यालय में छापामारा। उन्होंने स्थापना कक्ष में चिकित्सकों की तैनाती का विवरण देखा। निरीक्षण में बताया कि 35 चिकित्सकों के लिए शासन से मांग की गई है। एनआरएचएम के तहत वर्ष 2009 में करीब 50 चिकित्सकों व कर्मचारियों की तैनाती की गई। इन सभी की संविदा का नवीनीकरण नहीं किया गया है। ऐसे में अस्पतालों में स्टाफ की कमी से स्वास्थ्य सेवाएं ध्वस्त हो रही हैं। निरीक्षण में जिलाधिकारी ने सीएमओ डा.रामशरण मिश्रा से कहा कि 29 सितंबर तक संविदा संबंधी नवीनीकरण कर दें। इससे 40 कर्मचारी लाभांवित होंगे। इस बीच सीएमओ ने बताया कि 35 डाक्टरों की मांग प्रमुख सचिव स्वास्थ्य से की है। एक सप्ताह में चिकित्सकों क ी तैनाती का आश्वासन दिया गया है। इस मौके पर उप जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन उपस्थित रहे।
वायरल से युवक की मौत
भरुआसुमेरपुर। क्षेत्र में वायरल से रोगियों के मरने का सिलसिला थम नहीं रहा है। लगातार रोगियों की संख्या बढ़ती जा रही है। सरकारी अस्पतालों और निजी क्लीनिकों में रोगियों की लाइनें लगी हैं। क्षेत्र के नारायनपुर गांव निवासी नंदू खंगार (35) बीते 8 दिन से बुखार से पीड़ित था। वह अपना इलाज प्राइवेट डाक्टर से करा रहा था। बुधवार की रात उसकी मौत हो गई।

Spotlight

Most Read

Jharkhand

चारा घोटाला: चाईबासा कोषागार मामले में कोर्ट ने सुनाया फैसला, तीसरे केस में लालू दोषी करार

रांची स्थित विशेष सीबीआई अदालत ने चारा घोटाले के तीसरे मामले में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और आरजेडी के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को दोषी करार दिया है। साथ ही पूर्व सीएम जगन्नाथ मिश्रा को भी दोषी ठहराया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: हमीरपुर में इस वजह से एक साथ 30 से ज्यादा बच्चे बीमार

हमीरपुर के थाना कुरारी में एक सरकारी स्कूल के तीस से ज्यादा बच्चों की हालत बिगड़ने के बाद उन्हें सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया।

18 जनवरी 2018