बिना सामान लौटना पड़ा घर

Hamirpur Updated Tue, 24 Jul 2012 12:00 PM IST
हमीरपुर। सीएसडी कैंटीन हमीरपुर में कर्मचारियों से मारपीट करने के विरोध में कर्मचारियों ने कैंटीन बंद रखी। कैंटीन करीब तीन घंटे तक बंद रही। इससे कैंटीन में सामान लेने पहुंचे पूर्व सैनिकों, महिलाओं और बच्चों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। आखिर में लोगों को खाली हाथ मायूस होकर घर लौटना पड़ा।
रक्षा देवी, कौशल्या देवी, रचना कुमार, प्रवीन कुमार, सुरेंद्र कुमार, रविंद्र कुमार, रूप लाल, दिवेंद्र कुमार, कुलभूषण सिंह, रितेश कुमार, संजय कुमार, सलोचना कुमार, आरती देवी, सुनीता कुमारी, कृष्ण कुमार, देव कुमार, करतार सिंह, सुमन कुमारी, रवि कुमार, वचन सिंह, चरण सिंह, बलदेव सिंह, निक्का राम, कांशी राम और अमर सिंह आदि का कहना है कि सीएडी कैंटीन कर्मचारियों के विरोध प्रदर्शन के चलते उन्हें भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। और करीब चार घंटे तक परेशानी का सामना करना पड़ा। और आखिर में मायूश होकर खाली हाथ घर लौटना पड़ा। उन्होंने बताया कि कर्मचारियों द्वारा कैंटीन में सेवाएं न देने से उनके समय और पैसे दोनों की बर्बादी हुई। दूर-दूर से आए लोग, महिलाएं, बच्चे और बुजुर्ग कैंटीन के बाहर बैठे रहे।
करीब तीन घंटे बाद कैंटीन खोली, तब तक दूरगामी क्षेत्रों से लोग वापस जा चुके थे। कर्मचारियों ने पुलिस अधीक्षक और उपायुक्त से मांग की है कि दिन दिहाडे़ बीच बाजार में छुरे से हमला करने वाले आरोपी के खिलाफ सख्त कार्रवाई अमल में लाई जाए।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: हमीरपुर में इस वजह से एक साथ 30 से ज्यादा बच्चे बीमार

हमीरपुर के थाना कुरारी में एक सरकारी स्कूल के तीस से ज्यादा बच्चों की हालत बिगड़ने के बाद उन्हें सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया।

18 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls