विज्ञापन

दूसरे दिन बाजार बंद, वकीलों ने लगाया जाम

Hamirpur Updated Thu, 27 Dec 2012 05:30 AM IST
विज्ञापन
ख़बर सुनें
मौदहा/हमीरपुर। सोमवार की सरेशाम सर्राफ व्यापारी की हत्या और लूट के मामले का खुलासा नहीं होने पर बुधवार को व्यापारियों ने प्रदर्शन कर बाजार बंद रखा। वहीं इस घटना के विरोध में अधिवक्ताओं ने पुलिस के विरुद्ध नारेबाजी कर मंडी समिति के पास सांकेतिक जाम लगाकर विरोध जताया और अदालती कार्यों का बहिष्कार किया। उधर जिला मुख्यालय में सर्राफा एसोसिएशन ने दुकानें बंदकर प्रदर्शन करते हुए कलेक्ट्रेट पहुंचकर डीएम को ज्ञापन सौंपा।
विज्ञापन
कसबे के नेशनल चौराहे पर बीते दो दिन पूर्व सरेशाम सराफा की दुकान पर धावा बोल चाचा भतीजा को गोली मार दी। इसमें भतीजे गौरीशंकर की मौत हो गई और लुटेरे गहनों से भरा झोला लूट ले गए। इस घटना के विरोध में बीते दो दिन से व्यापारियों में उबाल है। मंगलवार को बाजार बंदकर व्यापारियों ने विरोध जताया। बुधवार को भी सुबह से ही व्यापारियों ने बाजार बंद कर प्रदर्शन किया। आक्र ोशित व्यापारी मंडी समिति स्थित तहसील पहुंचे। वहां अधिवक्ताओं ने भी व्यपारियों का साथ देते हुए हड़ताल का ऐलान कर दिया। वकीलों ने मंडी गेट के सामने मुख्य मार्ग पर सांकेतिक जाम लगा दिया। बाद में तहसीलदार न्यायालय के सामने वकीलों ने सभा की। इस बीच पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इस मौके पर वरिष्ठ अधिकवक्ता हयात अहमद ने कहा कि यह घटना बेहद दुखद है। अधिवक्ता संघ व्यापारियों के साथ है। सभा में वरिष्ठ अधिवक्ता शिववीरेंद्र भटनागर ने कहा कि ऐसी घटनाएं पुलिस की लापरवाही से घटित होती है। पुलिस पैसे व दबाव में काम करती है। यदि इस घटना का सही खुलासा नहीं हुआ तो अधिवक्ता व्यापारियों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर संघर्ष में साथ देगा। युवा अधिवक्ता राहुल द्विवेदी ने कहा कि पुलिस का रवैया सही नहीं है। वरिष्ठ अधिवक्ता बाबूराम मिश्रा ने कहा कि पुलिस नाकारा हो गई है। इन्हें तत्काल हटाकर सजा दी जाए। सभा का संचालन उमाशंकर त्रिपाठी ने किया। बाद में मौके पर आए उप जिलाधिकारी मनोज कुमार पांडेय को चार सूत्रीय मांगों का राज्यपाल को संबोधित ज्ञापन सौंपा। जिसमें पीड़ित व्यापारी परिवार को दस लाख का मुआवजा, अक्षम लापरवाह पुलिस अधिकारियों को दंडित करना, अपराधियों की गिरफ्तारी व माल बरामदगी तथा मंडी स्थल तहसील परिसर के रजिस्टार कार्यालय में सशस्त्र पुलिस के जवान लगाए जाएं। ज्ञापन देने में अधिवक्ताओं में रामगोपाल पाल, उमाशंकर त्रिपाठी, शफी अहमद, नसीरउद्दीन, किशोरी, सौरभ तिवारी, कलीम, रावेंद्र त्रिपाठी, उमेश त्रिपाठी सहित अन्य मौजूद रहे। एसडीएम ने कहा कि उनकी भावनाओं को समझते है।
मुख्यालय के सर्राफा एसोसिएशन ने इस घटना की निंदा करते हुए बुधवार को अपनी दुकानें बंदकर विरोध प्रदर्शन किया। व्यापारियों की मांग है कि लूट व हत्याकांड का जल्द खुलासा किया जाए और 48 घंटे के अंदर बदमाशों को हरहाल में गिरफ्तार किया जाए। एसोसिएशन के अध्यक्ष अभिषेक कुमार ने कहा कि अगर समय अवधि में खुलासा नही किया गया तो व्यापारी सड़कों पर उतरेंगे। उन्होंने गुरूवार को पूरा बाजार बंद करने की बात कही। इस मौके पर एसोसिएशन के संजय गुप्ता, कोषाध्यक्ष मुकेश ओमर सहित सर्राफा व्यापारी मौजूद रहे। वहीं कंछल गुट के नगर युवा व्यापार मंडल के रामबाबू गुप्ता ने भी मुख्यमंत्री को भेजे ज्ञापन में आरोपियों को सख्त सजा दिए जाने की मांग की है।
मौदहा कांड की निंदा
राठ। मौदहा में सर्राफा व्यवसायी हत्याकांड की स्थानीय स्वर्णकार समाज ने निंदा की है। मोहल्ला चरखारी रोड पर दीपू मुंशी के आवास पर हुई बैठक में समाज के नेता महेंद्र सोनी ने कहा कि सर्राफा व्यवसायी लक्ष्मीनारायन सोनी के घर लाखों की लूट और भतीजे गौरीशंकर सोनी की गोली मार कर हत्या करने की घटना की निंदा की। बैठक में अखिलेश सोनी, शिवकुमार, सुरेश सोनी, प्रेमनारायन, रामलाल, सुनील, जीतेंद्र, मोहित मौजूद रहे।
शोकसभा में शामिल होंगे स्वतंत्रदेव
मौदहा । भाजपा के निर्वतमान प्रदेश उपाध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह गुरुवार को कसबे की गुड़ाही बाजार में सर्राफा व्यापारी की हत्या पर आयोजित शोेकसभा में शामिल होंगे। यह जानकारी पार्टी के नगर अध्यक्ष विवेक पारासर ने दी है। बताया कि शोकसभा का आयोजन दिन में 1:30 बजे होगा।
पीड़ित परिजनों को बंधाया ढांढस
मौदहा । सर्राफा व्यापारी हत्याकांड के मामले में पुलिस अधीक्षक रतनकुमार श्रीवास्तव घटना स्थल पर पहुंचे। उन्होंने पीड़ित परिजनों से घटना की जानकारी ली और ढांढस बंधाया। साथ ही मामले की शीघ्र खुलासा करने का आश्वासन दिया। बीती रात प्रभारी डीआईजी ज्ञानेश्वर तिवारी आकर परिजनों से मिल चुके है।
अवकाश के बाद जैसे ही एसपी लौटे तभी उन्होंने कसबे में हुई इस बड़ी वारदात का मौके पर निरीक्षण किया। उन्होंने मृतक गौरीशंकर के भाई सोहन सोनी व घायल सराफा लक्ष्मी नारायण व बेटे मयंक सहित अन्य परिजनों से जानकारी ली। इतना ही नहीं नेशनल चौराहा स्थित कई व्यापारियों ने पुलिस अधीक्षक से पुलिस के ढीले रवैये की शिकायत की। एसपी के साथ अपर पुलिस अधीक्षक एसके सक्सेना, सीओ एके मौर्या सहित थानाध्यक्ष मौजूद थे। एसपी ने डाकबंगले में पूरे दिन रुककर जनपद के विभिन्न थानों से आए थानाध्यक्षों को आवश्यक निर्देश देते रहे।
यह घटना पुलिस की लापरवाही का नतीजा
मौदहा (हमीरपुर)। पूर्व सांसद गंगाचरण राजपूत बुधवार को पीड़ित परिवार से मिलने आए। उन्होंने पीड़ित परिवार पर सहानुभूति जताई। हर दशा में व्यापारियों की सुरक्षा तथा घटना के खुलासे क ा प्रयास करेंगे। उन्होंने पत्रकारों से कहा कि यह घटना पुलिस की लापरवाही का घोर नतीजा है। व्यापारियों के लुटने व सुरक्षा व्यवस्था न होने पर सीधे मुख्यमंत्री से मांग करेंगे
मौदहा में बाजार बंद पर घटनाक्रम
10:00 बजे सोमवार की शाम घटी घटना के बाद बुधवार को भी बाजार बंद रहे
11:00 बजे व्यापारी व अधिवक्ताओं ने मुख्य मार्ग पर सांकेतिक जाम कर सभा की।
12:45 बजे व्यापारियों ने थाना चौराहा पर प्रदर्शन किया।
2:00 बजे पुलिस अधीक्षक पीड़ित परिजनों से मिले।
2:15 बजे पूर्व सांसद गंगाचरण राजपूत पीड़ित परिजनो से मिले।
3:00 बजे हमीरपुर सर्राफा संघ व उद्योग व्यापार मंडल भी पीड़ित परिजनो से मिला।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Kanpur

यूपी: तालाब में नहाते वक्त डूबने से एक ही परिवार की 3 बच्चियों की मौत

यूपी के हमीरपुर जिले में मंगलवार को एक दर्दनाक हादसा हुआ। थाना ललपुरा के स्वासा गांव के तालाब में नहाते समय एक ही परिवार की तीन बच्चियों की डूबने से मौत हो गयी। इस घटना से पूरे गांव में मातम का माहौल छा गया। 

13 नवंबर 2018

विज्ञापन

Related Videos

VIDEO: इस मेले में भिड़े दो समुदाय, पुलिस पर भी हुई पत्थरबाजी

हमीरपुर में कंस मेले के जुलूस के दौरान दो समुदाय के लोग आमने सामने आ गए और देखते ही देखते बवाल शुरू हो गया। वहीं हद तो तब हो गई जब मामले को शांत कराने पहुंची पुलिस पर भी हमला करना शुरू कर दिया गया।

26 सितंबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls
Niine

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree