विज्ञापन

एसएसबी आरक्षी पर हमले के मामले में नहीं हुई कार्रवाई

क्राइम डेस्क, अमर उजाला, गोरखपुर। Updated Sun, 16 Sep 2018 01:51 AM IST
fir
fir
ख़बर सुनें
गोरखपुर। एसएसबी कैंप कार्यालय में तैनात आरक्षी पर हमला और उसकी पत्नी के अपहरण की कोशिश, छेड़खानी करने के आरोपियों पर केस दर्ज नहीं हो सका। आरक्षी की पत्नी ने शनिवार को मुख्यमंत्री के कैंप कार्यालय में प्रार्थना पत्र देकर कार्रवाई की मांग की।
विज्ञापन
विज्ञापन
प्रार्थना पत्र में पीड़ित की पत्नी ने लिखा है कि उनके पति एसएसबी में आरक्षी हैं। उनके साथ ही वह रहती हैं। सात अगस्त की रात में किसी ने उनका दरवाजा खटखटाया। आरक्षी ने कहा कोई स्टाफ का ही होगा। जब वह दरवाजा खोलीं तो विभाग के दो लोग वहां पर खड़े थे। दोनों ने उनको पकड़ लिया। वह चिल्लाई तो पति बाहर आ गए और दोनों से भिड़ गए। इस पर दोनों ने उन्हें पीटकर घायल कर दिया। शोर सुनकर वहां कई लोग आ गए। उस समय उसके पति बेहोश हो गए थे। हमलावर अपनी गाड़ी छोड़ कर फरार हो गए थे। इसकी सूचना अधिकारियों को दी। पुलिस और विभाग के लोग आए। वहां फोटोग्राफी हुई, पर कोई कार्रवाई नहीं की गइग्। विभाग के डीआईजी आए और आरोपियों की गाड़ी लेकर चले गए। पीड़िता ने कहा कि उस पर दबाव बनया जा रहा है कि यदि कहीं शिकायत करोगी तो पति का ट्रांसफर दूर कर दिया जाएगा।

Recommended

क्या है करियर का किस्मत कनेक्शन? जानने के लिए संपर्क करें जाने-माने ज्योतिषी से
ज्योतिष समाधान

क्या है करियर का किस्मत कनेक्शन? जानने के लिए संपर्क करें जाने-माने ज्योतिषी से

आप भी बन सकते हैं हिस्सा साहित्य के सबसे बड़े उत्सव "जश्न-ए-अदब" का-  यहाँ register करें-
Register Now

आप भी बन सकते हैं हिस्सा साहित्य के सबसे बड़े उत्सव "जश्न-ए-अदब" का- यहाँ register करें-

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News App अपने मोबाइल पे|
Get all crime news in Hindi. Stay updated with us for all breaking hindi news.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Delhi NCR

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज गोरखपुर में पीएम किसान योजना को करेंगे लांच

देश में दो हेक्टेयर तक की जोत वाले छोटे और सीमांत किसानों के लिए शुरू की गई पीएम किसान सम्मान निधि योजना के तहत 2000 रुपये की पहली किस्त का वितरण रविवार से शुरू हो जाएगा।

24 फरवरी 2019

विज्ञापन

प्रयागराज में मीडिया से रूबरू हुए सिद्धार्थ नाथ सिंह, SP-BSP गठबंधन पर साधा निशाना

शनिवार को यूपी सरकार के स्वास्थ्य और चिकित्सा मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने प्रयागराज में पत्रकारों से बातचीत की। इस दौरान उन्होंने यूपी की सियासत से लेकर आस्था के कुंभ समेत तमाम मुद्दों पर खुलकर बात की। खुद सुनिए क्या बोले सिद्धार्थ नाथ सिंह।

23 फरवरी 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree