विज्ञापन

ताने से आहत सुनील ने ही की थी पत्नी की हत्या

अमर उजाला/गाोरख्ापुर Updated Thu, 13 Sep 2018 02:00 AM IST
ताने से आहत सुनील ने ही की थी पत्नी की हत्या
विज्ञापन
ख़बर सुनें
गोरखपुर। तिवारीपुर की सूर्य विहार कॉलोनी में जीआरपी इंस्पेक्टर अजित सिंह की बहन और ब्यूटी पार्लर संचालिका रेनू सिंह की हत्या पति सुनील सिंह ने ही की थी। पुलिस ने 24 घंटे में पर्दाफाश कर आरोपी पति को गिरफ्तार कर लिया। साथ ही उस बट्टे (लोढ़ा) को भी बरामद कर लिया जिससे रेनू को मारा गया था। पुलिस के मुताबिक पति-पत्नी में विवाद हुआ था। पत्नी ने पति की बेरोजगारी को लेकर ताना मारा था, इससे नाराज होकर सुनील ने रेनू के सिर पर जानलेवा वार कर दिया।
विज्ञापन
एसएसपी शलभ माथुर ने देर रात मीडिया को बताया कि रेनू की हत्या बेडरूम में की गई थी। पति ने तड़के 3.30 बजे मार्निंग वाक पर जाने की जो कहानी बताई थी, वह पच नहीं रही थी। यह तो तय था ही कि हत्या किसी करीबी ने की है। रेनू के घर के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज में कुछ नहीं मिला। सूरजकुंड ओवरब्रिज के आसपास लगे कैमरे की जब फुटेज चेक की गई तो उसमें सुनील जाता दिखा। उसके हाथ में झोला था। इसी बीच पोस्टमार्टम रिपोर्ट आ गई। इससे पता चला कि रेनू की हत्या मंगलवार की रात 12.30 बजे की गई थी। इस रिपोर्ट के बाद ही सुनील को हिरासत में लिया गया। पूछताछ में वह टूट गया और पत्नी की हत्या का जुर्म कबूल कर लिया।


एसएसपी ने सुनील के हवाले से बताया कि मंगलवार की देर रात रेनू की तबीयत खराब थी। इसपर पति ने कहा घबराओ नहीं, अपनी बहन के घर से गाड़ी मंगा लेता हूं। इतना सुनते ही पत्नी भड़क गईं और उसे खरी-खोटी सुनाने लगीं। साथ ही बट्टा उठाकर खुद को मारने लगीं। इस पर उसे भी गुस्सा आ गया और उसने पत्नी से बट्टा छीनकर उसके सिर पर मार दिया। पुलिस से बचने के लिए ही उसने मार्निंग वाक से लौटने के बाद पत्नी का शव मिलने की कहानी गढ़ी। सीसीटीवी फुटेज में सुनील के हाथ में जो झोला दिखा, उसमें वह हत्या में इस्तेमाल बट्टा लेकर जा रहा था। पुलिस ने बट्टा भी बरामद कर लिया है।
इनसेट
पत्नी के दाह संस्कार के बाद हिरासत में लिया
रेनू का राजघाट पर दाह संस्कार किया गया। पति सुनील ने ही मुखाग्नि दी। वहीं से पुलिस ने सुनील को हिरासत में ले लिया। पुलिस के मुताबिक हत्या के आरोप से बचने के लिए सुनील ने ही घर का सामान बिखेरा और पुलिस को बताया था कि पत्नी की हत्या के बाद लूटपाट की गई है। एक कान का टप्स और कुछ कैश गायब हैं।

इंसपेक्टर भाई के सामने हुई पूछताछ

रेनू सिंह के भाई और जीआरपी इंस्पेक्टर अजित सिंह के सामने पुलिस ने सुनील सिंह से पूछताछ की। इस दौरान सुनील ने पूरी घटना कबूल करते हुए आला कत्ल भी बरामद करा दिया। इस घटना से जीआरपी इंस्पेक्टर को भी सदमा लगा। उन्हें भरोसा नहीं था कि सुनील अपनी पत्नी की हत्या कर देगा।

पर्दाफाश में पुलिस के मददगार तथ्य


- पोस्टमार्टम में रात 12:30 बजे हत्या की पुष्टि होना
- सुनील का तड़के 3:30 बजे टहलने जाना, वह भी तब जब पत्नी की तबीयत खराब थी
- 4:30 बजे तक शव का अकड़ जाना और खून का जम जाना
- सीसीटीवी फुटेज में सुनील के अलावा किसी और का न दिखना
- पति के बाएं हाथ और शरीर पर चोट के निशान का मिलना

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News App अपने मोबाइल पे|
Get all crime news in Hindi. Stay updated with us for all breaking hindi news.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Moradabad

खुद निगहबानों ने ही लुटवा दी अरबों की सरकारी भूमि

खुद निगहबानों ने ही लुटवा दी अरबों की सरकारी भूमि

22 सितंबर 2018

विज्ञापन

Related Videos

VIDEO: गोरखपुर में महिला के साथ छेड़छाड़, विरोध करने पर किया ये हाल

जहां प्रदेश सरकार सूबे में कानून व्यवस्था मजबूत होने की बात कर रही है, वहीं सीएम के गृह जनपद गोरखपुर में ही छेड़छाड़ की शिकार महिला न्याय के लिए दर-दर भटक रही है।

21 सितंबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree