पहले मारी गोली, फिर लात-घूसों से पीटा, मौत

क्राइम डेस्क, अमर उजाला, गोरखपुर। Updated Tue, 13 Feb 2018 08:57 PM IST
पहले मारी गोली, फिर लात-घूसों से पीटा, मौत
मृतक ठेकेदार की फाइल फोटो। - फोटो : Amar Ujala
गोरखनाथ थानाक्षेत्र के बरगदवां स्थित लच्छीपुर मैरिज हॉल में सोमवार की देररात रेलवे के ठेकेदार अरविंद सिंह की गोली मारकर हत्या किए जाने के मामले में गोरखनाथ पुलिस ने मंगलवार को तीन नामजद सहित पांच लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। कई लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। दर्ज केस के मुताबिक गोली मारने वालों ने अरविंद की लाइसेंसी रिवाल्वर भी लूट ली है। पूरी घटना सीसी कैमरे में कैद है। फुटेज में गोली मारने वाला आरोपी असलहा लहराते हुए भाग रहा है।
रामनगर मिर्जापुर पचपेड़वा निवासी अरविंद सिंह (42) उर्फ मंटू रेलवे में ठेकेदारी करते थे। सोमवार की रात अरविंद दोस्त और मोहल्ले के अभिषेक सिंह के तिलकोत्सव में गए थे। समारोह लक्ष्मीपुर के जश्न मैरिज हॉल में चल रहा था। खाने की व्यवस्था अरविंद ही देख रहे थे। तिलकोत्सव के बाद शिवपुर सहबाजगंज से आए लड़की पक्ष के ज्यादातर लोग लौट गए। कुछ लोग अभी भोजन कर रहे थे। इसी बीच अरविंद उनके बीच गए। पुलिस के मुताबिक अरविंद ने लोगों से पूछा कि कुछ और लेना है। कैटरिंग वाले जाना चाहते हैं। इसी बात पर अरविंद और शाहपुर के असुरन निवासी आशुतोष भट्ट के बीच विवाद हो गया।

आरोप है कि आशुतोष ने गालीगलौज शुरू कर दी और अरविंद की कनपटी पर बंदूक सटाकर गोली मार दी। इससे वह जमीन पर गिर पड़े। इसके बाद भी आरोपियों ने उनपर लात-घूंसे बरसाए और लाइसेंसी रिवाल्वर लूटकर तमंचा लहराते हुए फरार हो गए। घटना के बाद भगदड़ मच गई। मामले की सूचना तत्काल पुलिस को दी गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने अरविंद को मेडिकल कॉलेज पहुंचाया, जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

मंगलवार की सुबह अरविंद के पिता लक्ष्मी नारायण सिंह की तहरीर पर शाहपुर के असुरन निवासी आशुतोष भट्ट, शिवपुर सहबाजगंज निवासी दीपक सिंह और निक्की समेत पांच के खिलाफ हत्या, लूट का मुकदमा दर्ज कर लिया। आरोपियों की तलाश में दबिश दी जा रही है। पुलिस ने आरोपी की पत्नी समेत आठ लोगों को हिरासत में ले लिया। सबसे पूछताछ चल रही है। अरविंद के परिवार में पत्नी और छह वर्ष का बेटा है। एसएसपी सत्यार्थ अनिरुद्ध पंकज ने कहा कि अरविंद का विवाद आरोपियों से खाने के लिए हुआ था। सभी की पहचान हो गई है। जल्द ही गिरफ्तार करके आरोपियों को जेल भेजा जाएगा।

लड़की के घरवाले हिरासत में
आरोपियों की पहचान और गिरफ्तारी के लिए तिलक लेकर आए लड़की पक्ष के कई लोगों को भी पुलिस ने हिरासत में लिया है। आरोपियों के रिश्तेदार, मित्र और करीबी लोगों से पुलिस पूछताछ कर सभी बिंदुओं को खंगाल रही है। गिरफ्तारी के लिए पुलिस की कई टीमें लगाई गई हैं।

भागते समय लहराई पिस्टल
एसपी सिटी विनय सिंह मंगलवार को जश्न मैरिज हॉल पर पहुंचे और घटना की जानकारी ली। साथ ही आसपास लगे सीसी कैमरों की फुटेज निकलवाई। फुटेज में आरोपी भागते दिख रहे हैं। एक आरोपी पिस्टल लहरा रहा था, जबकि दूसरी पिस्टल कमर में है। फुटेज के आधार पर पुलिस अज्ञात आरोपियों के अलावा घटना में शामिल अन्य लोगों की शिनाख्त में जुटी है।

मनबढ़ हैं आरोपी, मंटू से थी पहचान
तिलक में भोजन के लिए मंटू और आशुतोष के बीच अचानक विवाद हुआ। धौंस जमाने वाली तकरार हत्या तक जा पहुंची। पुलिस की प्रारंभिक जांच से पता चला कि कार्यक्रम के दौरान अधिकांश नशे की हालत में थे। उनके पास अवैध असलहे थे। हत्यारोपी असुरन निवासी आशुतोष भट्ठ, शिवपुर सहबाजगंज निवासी दीपक सिंह और निक्की की इलाके में मनबढ़ के रूप में पहचान है। दीपक सिंह के ऊपर कई केस दर्ज हैं। ठेकेदारी के दौरान आरोपियों की पहचान अरविंद सिंह से हुई थी।

Spotlight

Most Read

Dehradun

देहरादून के नामी पेट्रोलपंप मालिक ने बेटे संग नौकरानी से किया रेप, कोर्ट में किया सरेंडर

देहरादून के एक नामी पेट्रोलपंप मालिक ने अपने बेटे के साथ नौकरानी को हवस का शिकार बना लिया।

23 फरवरी 2018

Related Videos

यूपी में कस्टम विभाग के हाथ लगा सोने का जखिरा!

महाराजगंज में कस्टम डिपार्मेंट को बड़ी सफलता हाथ लगी है। कस्टम विभाग के अधिकारियों ने एक युवक के पास से एक किलो एक सौ पचास ग्राम सोना बरामद किया है। बरामद किए सोने की कीमत पैंतीस लाख रुपये से ज्यादा की बताई जा रही है।

22 फरवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen