बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

अफसरों को मंहगी पड़ेगी किसानों की अनदेखी

अमर उजाला ब्यूरो, गोरखपुर। Updated Sun, 04 Jun 2017 01:54 AM IST
विज्ञापन
खरीफ गोष्ठी में बोलते एपीसी चंद्र प्रकाश।
खरीफ गोष्ठी में बोलते एपीसी चंद्र प्रकाश। - फोटो : Amar Ujala

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
प्रदेश के कृषि उत्पादन आयुक्त (एपीसी) चंद्र प्रकाश ने कहा कि किसान देश की अर्थव्यवस्था की रीढ़ हैं। उन्हें कोई दिक्कत न हो यह अफसरों की जिम्मेदारी है। अफसर गंभीरता से उनकी समस्याओं को सुनें और तत्काल उनका निस्तारण कराएं। किसी ने भी किसानों की अनदेखी की तो वह उसके लिए मंहगा पड़ सकता है। लापरवाह अफसर किसी भी दशा में बख्शे नहीं जाएंगे। उन्होंने सभी जिलों के डीएम को ऐसे लापरवाह अफसरों पर नजर रखने को कहा।
विज्ञापन


 एपीसी शनिवार को एमएमएमयूटी में आयोजित गोरखपुर-बस्ती मंडल की खरीफ गोष्ठी में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि इस तरह की गोष्ठियों से किसानों को उन्नत तकनीक की जानकारी के साथ ही सरकार की जन कल्याणकारी योजनाओं की भी जानकारी मिलती है। उन्होंने कहा कि इन योजनाओं को अंतिम किसान तक पहुंचाने की जिम्मेदारी सभी अधिकारियों की है। उन्होंने कहा कि सभी योजनाओं का व्यापाक प्रचार प्रसार हो जिससे किसानों को उनके लाभ के लिए चलाई जा रही योजनाओं के बारे में जानकारी हो सके।


इस दौरान गोरखपुर और बस्ती मंडल के कमिश्नर ने बताया कि मंडल में खरीफ  की तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। मृदा परीक्षण, फ सली ऋण, बीमा आदि में किसानों को लाभ दिया जा रहा है और खाद-बीज की पर्याप्त उपलब्धता भी है। दोनों कमिश्नर ने अपने मंडलों की समस्याओं के बारे में भी बताया। डीएम राजीव रौतेला ने कृषकों तक अधिक से अधिक योजनाओं का लाभ पहुंचाने पर बल दिया। गोष्ठी में डीएम देवरिया सुजीत कुमार, डीएम कुशीनगर आंद्रा वामसी, डीएम महराजगंज बीके सिंह, डीएम संतकबीरनगर, सिद्धार्थनगर समेत सभी जिलों के सीडीओ, संयुक्त कृषि निदेशक, दोनों मण्डलों के उप निदेशक कृषि, जिला कृषि अधिकारी समेत कई विभागों के अफसर और किसान मौजूद रहे। 

खेती के साथ मछली, पशुपालन बढ़ाएगी आमदनी 
एपीसी ने कहा कि किसान खेती के साथ पशुपालन, मुर्गी पालन, मछली पालन पर भी विचार करें क्योंकि इनसे उनकी आमदनी बढ़ेगी। उन्होंने शिक्षित बेरोजगारों को भी कृषि के कार्यों से जोड़ने तथा अन्य योजनाओं की जानकारी देते हुए स्वरोजगार के लिए प्रेरित करने को कहा। सभी डीएम से कहा कि वे अपने पौधरोपण कराएं और महिलाओं को भी आगे लाने की दिशा में प्रयास करें।

किसानों को लेकर प्रदेश सरकार संजीदा : रजनीश 
गोष्ठी में प्रमुख सचिव कृषि रजनीश गुप्ता ने कहा कि प्रदेश सरकार किसानों के हित के लिए हमेशा प्रयत्नशील है। सरकार का प्रयास है कि किसानों को उनकी फ सलों का उचित मूल्य दिलाकर उनको आर्थिक रूप से मजबूत बनाए। उन्होंने कहा कि अधिकारी यह सुनिश्चित करें कि किसानों को अनुदान 15 दिनाें में मिल जाए। किसानों को गलत बीज न मिले, इसके लिए अधिकारी नियमित रूप से प्रवर्तन कार्य करें। उन्होंने गलत बीज बांटने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के लिए निर्देश दिए। इस मौके पर प्रमुख सचिव पशुधन, मत्स्य एवं दुग्ध, अपर मुख्य सचिव ग्राम्य विकास ने भी किसानाें को संबोधित करते हुए विभागीय योजना के बारे में विस्तार से जानकारी दी।

गोरखपुर, लखनऊ में खुलेगी कैट फिश की हैचरी
प्रमुख सचिव पशुधन, मत्स्य एवं दुग्ध समीर ने बताया कि मत्स्यपालन को बढ़ावा देने के लिए लखनऊ के साथ गोरखपुर में भी कैट फिश मसलन मंगूर, टेंगर, बढ़नी, बरारी आदि प्रजाति की हैचरी खोली जाएगी। इसकी तैयारियां शुरू हो गई हैं। 
 
रोपा पौधा गायब देख भड़के एपीसी
सुबह गोष्ठी शुरू होने के पहले सर्किट हाउस पहुंचे एपीसी (कृषि उत्पादन आयुक्त) ने वहां कुछ साल पहले खुद के द्वारा रोपे पौधे को न पाकर अफसरों पर कड़ी नाराजगी जताई। कहा कि अपने पिछले गोरखपुर दौरे में उन्होंने सर्किट हाउस में पौधरोपण किया था, मगर देखरेख के अभाव में वह गायब हो गया। गोष्ठी खत्म होने के बाद शाम चार बजे के करीब एपीसी फिर सर्किट हाउस पहुंचे और 11 पौधे लगाए। उन्होंने कृषि विभाग के अफसरों समेत वहां मौजूद सभी अफसरों को चेताया कि अगर अगले दौरे में ये पौधे उन्हें सुरक्षित नहीं मिले तो उनकी खैर नहीं। उन्होंने कहा कि लाखों, करोड़ों खर्च कर पौधे तो लगाए जाते हैं मगर प्राय: विभागों की लापरवाही से वे सूख जाते हैं। उन्होंने जीडीए समेत कई विभागों को पौधे लगाने के निर्देश दिए। 

एपीसी से मिलने पहुंचे भाजपा नेता
जिले के दौरे पर आए एपीसी चंद्रप्रकाश से भाजपा नेताओं ने सर्किट हाउस में मुलाकात की। उनसे मिल कर कई मुद्दों पर चर्चा की, हालांकि भाजपा नेता इसे अपनी व्यक्गित मुलाकात बता रहे हैं। शनिवार को इंजीनियरिंग कालेज के बहुद्देशीय हाल में खरीफ गोष्ठी का आयोजन किया गया था, जिसमें शामिल होने के लिए एपीसी के अलावा अन्य कई विभागों के प्रमुख सचिव यहां पर आए थे। वहां पर किसानों की समस्याओं पर चर्चा के बाद एपीसी चंद्र प्रकाश सर्किट हाउस आ गए, जहां पर उन्होंने गोरखपुर-बस्ती मंडल के कई जिलों के अधिकारियों के साथ बैठक की। इस बीच भाजपा के प्रदेश मंत्री कामेश्वर सिंह भी अपने साथियों के साथ उनसे मिलने सर्किटहाउस पहुंचे। भाजपा नेताओं ने उनसे मुलाकात कर कुछ स्थानीय मुद्दों पर चर्चा की, हालांकि भाजपा नेता कहा कहना है कि वह उनकी व्यक्तिगत मुलाकात थी। एपीसी से उनकी पुरानी जान पहचान है। 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us