हर कदम पर था भयंकर जाम से सामना

Gorakhpur Updated Sat, 25 Jan 2014 05:46 AM IST
गोरखपुर। भीड़ के आगे यातायात व्यवस्था बेबस हो गई। सारे दावे फेल हो गए। चार घंटे से अधिक समय तक शहर का बाकी हिस्सा जहां खामोश दिखा वहीं मेडिकल कॉलेज की ओर जाने वाली सड़क पर हर कदम भयंकर जाम के हवाले था। जिन लोगों ने गलियों से निकलने की कोशिश की, उन्हें आगे जाने के लिए राह तो नहीं ही मिली, लौटने का प्रयास भी जाम में फंस गया। जाम से निजात दिलाने के लिए पुलिस कहीं भी मुस्तैद नहीं थी।
भारी भीड़ की संभावना के मद्देनजर लोगों ने अपने चार पहिया वाहनों को रैली स्थल से काफी पहले छोड़ दिया था, लेकिन मोदी के शहर में आ जाने के बाद भी बड़े वाहनों पर प्रतिबंध न होने से स्थिति बेकाबू हो गई थी। परिवहन निगम की बसें भी आती-जाती दिखीं। ओवरब्रिज खत्म होते ही मेडिकल कॉलेज की ओर शुरू जाम का सिलसिला कॉलेज से काफी आगे तक था। फातिमा बाई पास, जेल रोड, पैडलेगंज और मोहद्दीपुर में भी यही स्थिति थी। कई लोगों ने सड़क से जुड़ी गलियों की तरफ अपनी बाइक मोड़ी, लेकिन वहां से भी निकलना आसान नहीं था। स्थिति यह थी कि जिधर भी राह दिखी लोग घुसे और फंसते गए।
जाम के बीच स्कूली बच्चे, महिलाएं और बुजुर्ग पैदल तक नहीं चल पा रहे थे। जबकि रैली में शामिल होने वाली गाड़ियों के रेला के सामने लोग दो किलोमीटर की दूरी भी बाइक से घंटो में पूरी की। बेकाबू भीड़ के कारण तमाम लोग मोदी का भाषण बीच में ही छोड़कर बाहर निकलने के प्रयास में जुट गए। मोदी के जाने के कई घंटे बाद तक शहर का बड़ा हिस्सा जाम के हवाले था। भीड़ इस कदर अनियंत्रित थी कि जाते समय मोदी को नजदीक से देखने के लिए लोगों ने बेरिकेडिंग तक तोड़ डाली।
रोडवेज यात्री और मासूम हुए परेशान
मानबेला में नरेंद्र मोदी की रैली की वजह से मोहद्दीपुर से पैडलेगंज, देवरिया बाइपास से पैडलेगंज तक जाम लगने के कारण वाहनों की लंबी लाइन लग गई थी। देवरिया से डॉक्टर को दिखाने आ रहे राम निवास ने बताया कि उन्हें मोहद्दीपुर में दो घंटे जाम खुलने का इंतजार करने के बाद बस से उतरकर पैदल ही डॉक्टर के पास जाना पड़ा। दोपहर ढाई बजे के करीब इंदिरानगर में एक स्कूल की छुट्टी होने के बाद बच्चों को सड़क पार करने में एक घंटे से भी ज्यादा वक्त लग गया।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

मरीज की मौत पर परिजन ने सरकारी अस्पताल में किया तांडव

बस्ती के सरकारी अस्पताल में भर्ती एक मरीज की मौत के बाद तिमारदार ने खूब तांडव मचाया। तीमारदार ने अस्पताल में रखी कुर्सी और मेज को फेंकना शुरू कर दिया।

23 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls