महापंचायत में आज करेगी निर्णायक फैसला

Gorakhpur Updated Thu, 27 Dec 2012 05:30 AM IST
गोरखपुर। भारतीय किसान यूनियन की महापंचायत में जुटे किसानों के सब्र का बांध अब टूटने लगा है। महापंचायत शुरू होने के बाद अभी तक उनकी मांगों को सुनने के लिए कोई अधिकारी नहीं आया है। बृहस्पतिवार को अगर प्रशासन से बात नहंी बनी तो आंदोलन उग्र रूप अख्तियार कर सकता है। इस बात का संकेत राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश सिंह टिकैत ने भी दिया है। रात में कुछ किसान नेताओं ने रेलवे ट्रैक पर जाकर जायजा लिया। इसकी भनक लगते ही प्रशासन सतर्क हो गया है। किसान नेताओं की हर गतिविधि पर नजर रखी जा रही है।
‘अमर उजाला’ से टेलीफोन पर बातचीत में राकेश टिकैत ने कहा कि किसानों के गन्ना बकाया का भुगतान हर हाल में मिल प्रबंधन को करना होगा। इसके लिए प्रशासन से बात करेंगे। मैं बृहस्पतिवार को महापंचायत में पहुंच रहा हूं। हमारे साथ प्रदेश स्तर के सभी नेता भी आ रहे हैं। प्रशासन इस महापंचायत को हल्के में लेने की भूल न करे। किसानों के सामने ही आंदोलन को आगे बढ़ाने की रूपरेखा तय की जाएगी। उधर, आंदोलन की बागडोर संभाले जिलाध्यक्ष सतीश ओझा ने कहा कि इस बार यूनियन ने तय कर लिया है कि फैसला होकर रहेगा। बार-बार आश्वासन और विश्वासघात से अच्छा है कि एक बार आरपार की लड़ाई हो जाए। गन्ना किसानों का भुगतान नहीं दिया गया तो आंदोलन उग्र होकर ही रहेगा। हम अपने अधिकार लेना अच्छी तरह जानते हैं।

छह थानों की लगाई गई फोर्स
चौरीचौरा। महापंचायत के दौरान सुरक्षा व्यवस्था को लेकर पर्याप्त व्यवस्था की गई है। सरैया डिस्टिलरी पर छह थानों की फोर्स लगा दी गई है। झंगहा, पिपराइच, खजनी, हरपुर बुदहट, पीपीगंज थानाध्यक्ष बुधवार को डटे रहे। एसओ चौरीचौरा ने बताया कि सुरक्षा को लेकर दस सब इंस्पेक्टर, 40 सिपाही, 10 महिला सिपाही, एक कंपनी पीएसी तैनात की गई है।

किसानों की तबियत बिगड़ी
सरदारनगर। महापंचायत में आए कुछ किसानों की तबियत ठंड लगने से बिगड़ गई है। महिला किसान सोनमती (75) निवासी विशुनपुर खुर्द, शांति देवी (70) विशुनपुर खुर्द, फूलमती देवी (60) निवासी देवरिया, श्यामलाल (62) निवासी देवरिया की तबियत बुधवार को खराब हो गई। इन्हें ठंड लग गई है और बुखार है। किसानों ने एसडीएम चौरीचौरा से एंबुलेंस और डॉक्टर उपलब्ध कराने को कहा। लेकिन देर रात तक इन्हें डॉक्टरी सुविधा उपलब्ध नहीं कराई गई।

रात में लोकगीत का उठा रहे आनन्द
चौरीचौरा। दिन भर महापंचायत में शामिल किसान रात में लोकगीत का आनन्द उठा रहे हैं। लोक गायक हृदय राम यादव की टीम ने बुधवार की देर रात तक किसानों को गीत सुनाकर उनका मनोरंजन किया।

अलाव का भरपूर इंतजाम
महापंचायत में आए किसानों के लिए अलाव के भरपूर इंतजाम किए गए हैं। तीन ट्राली लकड़ी गिराई गई है। किसान अलाव के पास ही बैठकर आगे के आंदोलन की रणनीति बना रहे हैं।

दो दिनों से बंद है डिस्टिलरी
सरैया डिस्टिलरी दो दिनों से बंद है। डिस्टिलरी बंद होने से रोजाना सरकार को करीब एक करोड़ बीस लाख रुपये राजस्व का नुकसान हो रहा है।

किसानों की मांगों का किया समर्थन
गोरखपुर। गन्ना बकाया और श्रमिकों के वेतन भुगतान की मांग को लेकर भारतीय किसान यूनियन की अगुवाई में चल रहे आंदोलन का स्वराज (जे) ने समर्थन किया है। महापंचायत में पहुंचे स्वराज (जे) के अध्यक्ष जटाशंकर ने कहा कि पिछले कई महीनों से किसानों को मिल मालिकों की तरफ से आश्वासन दिए जा रहे हैं। स्थिति यह है कि किसानों के समक्ष कई समस्याएं उत्पन्न हो गई हैं। एक तरफ सरकार ने मिल बंद कराकर रोजगार छीन लिया है, तो दूसरी तरफ वेतन और किसानों के भुगतान नहीं किए जा रहे हैं।

Spotlight

Most Read

Delhi NCR

आप विधायकों को हाईकोर्ट ने भी नहीं दी राहत, अब सोमवार को होगी सुनवाई

लाभ के पद के मामले में चुनाव आयोग ने आम आदमी पार्टी के 20 विधायकों को अयोग्य घोषित करने के मामले में अब सोमवार को होगी सुनवाई।

19 जनवरी 2018

Related Videos

आलू किसानों पर यूपी के कृषि मंत्री का बड़ा बयान

यूपी में आलू किसानों की हालत क्या है इससे पूरा देश वाकिफ है। यूपी के अलग-अलग शहरों में सड़कों पर आलू फेंके जाने की तस्वीरें सामने आती हैं। ऐसे में यूपी के कृषि मंत्री ने ये आश्वासन दिया है कि आलू किसानों के साथ अन्याय नहीं किया जाएगा।

20 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper