क्रिसमस केक में बसा यीशु के प्यार का उपहार

Gorakhpur Updated Tue, 25 Dec 2012 05:30 AM IST
गोरखपुर। क्रिसमस का नाम आते ही क्रिसमस केक की याद आने लगती है। मौज-मस्ती के माहौल में खाया गया क्रिसमस केक नववर्ष की खुशियों में मिठास घोल देता है। क्रिसमस केक का इतिहास 16वीं सदी के आस-पास का है। इससे पहले क्रिसमस केक समारोह का हिस्सा नहीं होते थे। लोग ‘ब्रेड क्रम्बस्’ से सब्जियां मिलाकर एक डिश बनाते थे। इंग्लैड में ‘प्लम प्रोडिज’ की प्रथा थी। 16वीें शताब्दी में जौ को पुडिंग से निकाल दिया गया और उसकी जगह गेहूं के आटे ने ले ली। इसमें अंडा, मक्खन और उबाला हुआ ‘प्लम’ मिलाया जाने लगा। संपन्न लोग जिनके पास तंदूर होते थे वे ही इसे बनाते थे बाद में ये केक रूस तक पहुंचा और फिर पूरी दुनियां में फैल गया।
भारत में क्रिसमस केक कई प्रकार से बनाए जाते हैं जिसमें प्रमुख रूप से प्रचलित फ्रूट केक और प्लम केक हैं। इसके अलावा प्लेन केक, चॉक लेट केक, कॉफी केक, सीड केक और रम केक भी बनाया जाता है। यहां बेकर्स से केक बनवाने का चलन काफी है। ईसाई समुदाय के हर घर में केक की तैयारी चल रही है। बेकर्स के वहां कई माह पहले से बुकिंग कराई गई है। इसके पहले उसकी सामग्री तैयार करने में लोग व्यस्त हैं। क्रिसमस केक की तैयारियों पर अर्जुमंद बानो की रिपोर्ट -

माह भर पहले से सुखाते हैं मेवे
मुझे अपना बचपन याद है जब हम पूरे साल क्रिसमस केक का इंतजार करते थे। आज भी करते हैं लेकिन क्रिसमस की तैयारियां हमें व्यस्त कर देती हैं। क्रिसमस पर हम खासकर फ्रूट केक बनाते हैं। मुझे केक में मक्खन में केक बनवाती हूं। लगभग एक महीने पहले क्रिसमस केक की तैयारियां शुरू कर दी जाती हैं। क्रिसमस के अवसर पर हम सभी के साथ केक बांटते हैं, इसलिए बहुत ज्यादा मात्रा में केक बनता है। क्रिसमस केक में बहुत अधिक मेवे पड़ते हैं।
चारु जैसन, टीचर, सेंट पॉल स्कूल-

बेकरी में ले जाकर देते हैं सामग्री
क्रिसमस केक के बिना हम क्रिसमस की परिकल्पना भी नहीं कर सकते है। इस बार प्लम केक बनवा रही हूं। हम किशमिश को धोकर सुखाना और बाकी मेवे बारीक काटने पड़ते हैं। फिर बराबर यात्रा में मैदा, चीनी, अंडा, पील और मेवे और देशी घी ’बेकरी’ मे ले जा कर दे देते हैं। क्रिसमस केक में गर्ममशाला जैसे छोटी इलायची, जायफल, जावित्री आदि का पाउडर भी डाला जाता है। जैम और भूमिलेड भी डाला जाता है।
निशी हिसकिल, प्रिसिंपल, एचपी चिल्ड्रेन एकेडमी,

फ्रूट केक हम लोगों का पसंदीदा
क्रिसमस के अवसर पर हम लोग फ्रूट केक बनवाते हैं। केक की तैयारियां हम लोग पहले से शुरू कर देते है क्याेंकि किशमिश का धो कर सुखाना पड़ता है और मेवों को बारीक काटना पड़ता है। केक ज्यादा मात्रा में बनता है इसलिए मेवे और किशमिश को तैयार करने में काफी समय लग जाता है। सारी तैयारी करके बेकर्स के पास हम केक की सामग्री ले जाते हैं। केक पर अपने नाम की पर्ची लगवानी पड़ती है क्योंकि बेकर्स के पास हजारों केक बनते हैं।
नीता नथैनियल, टीचर, एनई रेलवे गर्ल्स इंटर कालेज

फंगस से बचाने को सुखाते हैं किशमिश
मैं हमेशा फ्रूट केक बनवाती हूं। इस बार 7 किलोग्राम केक ही बनवा रही हूं, जिसमें डेढ़ डेढ़ किलो किशमिश और दूसरे मेवों को डाला है। किशमिश को धो कर सुखाने का काम नवंबर से ही शुरू कर देते हैं क्योंकि यदि थोड़ी सी भी नमी रह जाए तो पूरे केक में फंगस लग जाती है। मेवे काटने का काम दिसंबर में होता है। बचपन के दिन याद करती हूं तो बड़ी हंसी आती है उस वक्त मैं और मेरा भाई बिना काटे, तोड़ कर केक खाते थे मस्ती करते थे।
सुषमा जैक्सन, टीचर एनई रेलवे, सीनियर सेकेंड्री स्कूल,

25 साल से बना रहे हैं क्रिसमस केक
क्रिसमस बहुत ही व्यस्त सीजन होता है। लगभग एक हफ्ता पहले से ही आर्डर पूरे हो जाते हैं और हम केक बनाने के काम में लग जाते है। हमें केक बनाते हुए लगभग 25 साल हो चुके हैं और इन सालों में बहुत से क्रिश्चियन दोस्त बन गए । जिनके साथ केक की तरह साल दर साल, रिश्तों में मिठास बढ़ती गई। ज्यादातर लोग फ्रूट केक और प्लम केक बनवाते है। रिबन केक भी पंसद किया जाता है। केक की अधिकता के कारण पर्चियों का महत्व बढ़ जाता है। हर केक पर पर्ची लगाना आवश्यक होता है ताकि किसी का केक किसी के पास न पहुंच जाय। लोग भारी मात्रा में केक बनवाते हैं कुछ देशी घी में कुछ रिफाइंड में, कुछ मक्खन में और कुछ मक्खन और घी मिलाकर केक बनवाते है।
हिदायत साहेब, फाइन बेकर्स, धर्मशाला

Spotlight

Most Read

Chandigarh

पंजाब: कैबिनेट मंत्री राणा गुरजीत सिंह ने दिया इस्तीफा

पंजाब के कैबिनेट मंत्री राणा गुरजीत सिंह ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। राणा गुरजीत ऊर्जा एवं सिंचाई विभाग के मंत्री थे।

16 जनवरी 2018

Related Videos

पार्क में घूमने गए नाबालिग जोड़े की पंचायत ने जबरन करवाई शादी

यूपी के महाराजगंज से एक ऐसा मामला सामने आया है जिससे लोग सकते में हैं। पार्क में घूमने गए प्रेमी जोड़े की पंचायत ने जबरन शादी करवा दी। बता दें प्रेमी जोड़ा नाबालिग है।

16 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper