औषधीय पौधों के मार्फत भारत महाशक्ति बन सकता है : प्रो. दुबे

Gorakhpur Updated Thu, 06 Dec 2012 05:30 AM IST
गोरखपुर। सार्वभौमिकता की दृष्टि से भारत एवं भारतीय प्रायद्वीप औषधीय पौधों से भरा-पूरा है। इन पौधों की गुणवत्ता और वैज्ञानिक विशिष्टता को उजागर कर भारत विश्व की महाशक्ति बन सकता है। जरूरत इन पौधों की पूर्ण पहचान बना कर विश्वस्तरीय मानक के अनुकूल किया जाए। यह कहना है काशी हिंदू विश्वविद्यालय के वनस्पति विज्ञान विभाग के आचार्य प्रो.एनके दुबे का। वह बुधवार को गोरखपुर यूनिवर्सिटी के वनस्पति विज्ञान विभाग द्वारा आयोजित प्रो. केएस भार्गव स्मृति व्याख्यानमाला को संबोधित कर रहे थे।
संवाद भवन में आयोजित व्याख्यानमाला को संबोधित करते हुए प्रो. एनके दुबे ने कहा कि भारत में पाए जाने वाले सर्पगंधा, अश्वगंधा, गिलोय, सतावर, अमृता, कालमेघा, नीम, शंखपुष्पी, सफेद मूसली, काली मूसली, तिल पुष्पी, सर्फोका, गदहपुरना आदि औषधीय पौधों क ी गुणवत्ता को उजागर करने की जरूरत है। कहा कि औषधीय पौधों के उत्पाद की गुणवत्ता पर ध्यान दिया जाए तो भारत को विश्व में अग्रणी बनाया जा सकता है। एमिटी यूनिवर्सिटी के निदेशक प्रो. नारायण ऋषि ने प्रो. केएस भार्गव के जीवन पर प्रकाश डाला। बताया कि वह कुशल प्रशासक और अपनी विधा के पुरोधा आचार्य थे। उन्होंने इंग्लैंड के रोथम स्टेट एक्सपेरिमेंटल स्टेशन के वैज्ञानिक नोबेल पुरस्कार विजेता सीडब्ल्यू बाऊडन के साथ शोध कार्य किया। वह निर्जीव और सजीव की कड़ी माने जाने वाले विषाणुओं पर अपना कार्य संपादित करते रहे। उन्हें राष्ट्रीय कृषि अकादमी और राष्ट्रीय विज्ञान अकादमी का फेलो चुना गया। बताया कि प्रो. भार्गव क ा विशेष योगदान रेट्रोवायरस में है। उन्होंने वायरस के योगदान को जीवन की विभिन्न समस्याओं के निदान एवं बायोटेक्नोलाजी के माध्यम से जीन ट्रांसफर के द्वारा नए उपयोगी जीवों के निर्माण के रहस्यों को उद्घाटित किया जा सकता है।
यूनिवर्सिटी के वनस्पति विज्ञान विभाग के अध्यक्ष प्रो. पीपी उपाध्याय ने अतिथियों का स्वागत किया। संचालन एवं धन्यवाद ज्ञापन डा. अनिल द्विवेदी ने किया। व्याख्यानमाला की अध्यक्षता कार्यवाहक कुलपति प्रो.आरपी यादव ने की। इस मौके पर प्रो. निशा मिश्रा, प्रो. कलावती शुक्ला, प्रो. आरपी शुक्ला, डॉ. मालविका श्रीवास्तव, प्रो.वीवी उपाध्याय, डॉ. शरद मिश्रा, डॉ. जोन्नाडा राव, डॉ. उपेंद्रनाथ, डॉ. मनीष मिश्रा, डॉ. एबी सिन्हा,डॉ. वाईएन श्रीवास्तव, डॉ. केके पांडेय आदि मौजूद थे।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी में नौकरियों का रास्ता खुला, अधीनस्‍थ सेवा चयन आयोग का हुआ गठन

सीएम योगी की मंजूरी के बाद सोमवार को मुख्यसचिव राजीव कुमार ने अधीनस्‍थ सेवा चयन बोर्ड का गठन कर दिया।

22 जनवरी 2018

Related Videos

आलू किसानों पर यूपी के कृषि मंत्री का बड़ा बयान

यूपी में आलू किसानों की हालत क्या है इससे पूरा देश वाकिफ है। यूपी के अलग-अलग शहरों में सड़कों पर आलू फेंके जाने की तस्वीरें सामने आती हैं। ऐसे में यूपी के कृषि मंत्री ने ये आश्वासन दिया है कि आलू किसानों के साथ अन्याय नहीं किया जाएगा।

20 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper