छेड़छाड़ के विवाद में मारपीट, फायरिंग

Gorakhpur Updated Mon, 03 Dec 2012 05:30 AM IST
गोरखपुर। खोराबार के पटपर गांव में छेड़छाड़ से शुरू हुआ विवाद दो पट्टीदारों के बीच भूमि विवाद में बदल गया। इस दौरान एक पक्ष पर फायरिंग करने का भी आरोप लगाया गया है। मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों पक्ष के नौ लोगों को हिरासत में लेकर 151 में चालान कर दिया।
खोराबार प्रतिनिधि के अनुसार, घटना रविवार सुबह सात बजे की है। गांव के ही बृजेश यादव के घर कुछ दिन पहले एक समारोह था। जिसमें डीजे और गाड़ी पटपर गांव के राजेंद्र ने बुक कराई थी। उसका पैसा बकाया था। रविवार को सुबह बृजेश अपनी बहन के साथ राजेंद्र के घर बकाया पैसा देने के लिए पहुंचा था। राजेंद्र के घर के सामने उनके पट्टीदार सत्य नरायन यादव का घर है। दोनों के बीच एक भूमि को लेकर विवाद चल रहा है। राजेंद्र के घर बृजेश को देखकर सत्य नरायन का लड़का संजय गुस्सा हो गया। बकाया पैसे देने के लिए राजेंद्र, बृजेश और उसकी बहन घर से निकले। तभी संजय ने बृजेश की बहन के साथ छेड़छाड़ कर दी। बृजेश को यह बात नागवार गुजरी। इसी बात को लेकर बृजेश और संजय आपस में उलझ गए। दोनों के बीच मारपीट शुरू हो गई। बृजेश की बहन का आरोप है कि झगड़े के बीच संजय ने उसके भाई पर फायर कर दिया। लेकिन गोली मिस कर गई। राजेंद्र को देख सत्य नरायन के घरवाले भी वहां पहुंच गए। मामला बृजेश का था लेकिन झगड़ा राजेंद्र और सत्य नरायन के परिवार के बीच मारपीट होने लगी। इस दौरान बृजेश अपनी बहन को लेकर वहां से फरार हो गया। सूचना के बाद मौके पर पुलिस पहुंच गई। पुलिस ने दोनों पक्ष के लोगों को पकड़कर थाने ले आई। पुलिस ने एक पक्ष के सत्य नरायन, जीत नरायन, प्रेम नरायन, राजन और राजू तथा दूसरे पक्ष के राजेंद्र, राम कृपाल, राजेश और उमेश का 151 में चालान कर दिया।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

मरीज की मौत पर परिजन ने सरकारी अस्पताल में किया तांडव

बस्ती के सरकारी अस्पताल में भर्ती एक मरीज की मौत के बाद तिमारदार ने खूब तांडव मचाया। तीमारदार ने अस्पताल में रखी कुर्सी और मेज को फेंकना शुरू कर दिया।

23 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls