जम कर हुआ धमाल, झूम उठा शहर

Gorakhpur Updated Sun, 28 Oct 2012 12:00 PM IST
गोरखपुर। हरिहर बाबा के भवई नृत्य से शुरू डांडिया धमाल ने शनिवार की शाम नीर निकुंज वाटर पार्क में वाकई धमाल मचा दिया। शाम साढ़े छह बजे रंगारंग नृत्य संगीत का जो सिलसिला शुरू हुआ वह देर रात तक अहर्निश जारी रहा। क्या बच्चे, क्या वयस्क, क्या महिला क्या पुरुष सभी मानो डांडिया रास के रंग में रम गए थे। गोरक्षधाम की धरती पर राजस्थानी लोक नृत्य और संगीत बखूबी परवान चढ़ा। फिजा में भले ही गुलाबी ठंड का अहसास हो पर लोगों के पेशानी से पसीने की बूंदें तर-तर बह रही थीं, पर चेहरे पर थकान का नामों निशान नहीं था। ऐसा लग रहा था मानो आश्विन शुक्ल तेरस की निशा थम-सी गई हो।
अमर उजाला रूपांतरण के तत्वावधान में नवरात्र के चार दिन बाद वाटर पार्क के मुक्ताकाशीय मंच पर आयोजित डांडिया धमाल की शुरुआत कोटा (राजस्थान) के यशवंत चौहान ने स्वागत गीत ‘पधारो मारे देश केशरिया बालम..’ से किया। इसके पश्चात तीन बार के राष्ट्रपति पुरस्कार विजेता हरिहर बाबा ने सिर पर गिलास और उस पर अल्युमिनियम के रंग बिरंगे 71 कलश के साथ शुरू किया भवई नृत्य तो दर्शकों से खचाखच भरे वाटर पार्क का माहौल ही बदल गया। हर कोई बाबा के पांव की चपलता और अद्भुत संतुलन का मुरीद बन कर रह गया। कोई अपनी जगह छोड़ने को तैयार नहीं था। बाबा जब स्टेज से उतर कर दर्शकों के बीच आए तो लोगों ने उन्हें घेर कर तालियों की थाप से उनका साथ देना शुरू किया। उधर बाबा थे कि सिर पर गिलास और कलश लिए कभी दौड़ कर बाईं ओर के दर्शकों की ओर जाते तो कभी दाहिनी तरफ। कभी पीछे वालों के घेरे में तो पलक झपकते आगे। यही नहीं, उन्होंने सिर पर सब कुछ लिए तलवार की धार और कांच के टुकड़ों पर नृत्य शुरू किया तो लोगों ने दांतों तले उंगली दबा ली। वाटर पार्क तालियों की गड़गड़ाहट से गूंज उठा। बाबा का नृत्य 6.45 बजे आरंभ हुआ तो चला 7.10 बजे तक। ऐसा लग रहा था मानों खुद नटराज वाटर पार्क में नृत्य प्रस्तुत कर रहे हों।
इसके बाद 7.15 बजे शुरू हुआ हीमा बाधिका, राज्य गुरु राजवी, प्रिया दवे,हरदेव सिंह झाला, अमि शुक्ला आदि का गरबा नृत्य। महेंद्र राठौर और शिल्पा बहन के कर्ण स्पर्शी राजस्थानी लोक गीतों की धुन पर प्रस्तुत गरबा नृत्य ने सबका मन मोह लिया। ‘कृष्ण भगवान झुला हारिफान धांई लियौ...’, ‘भला भाणजड़ा सरावर जाव रयां होल रमु...’ और ‘के रंगला जाम्या कालिंदी घाट..’ जैसे गीत पर पर कलाकारों के साथ वहां मौजूद शहरी भी झूम उठे। गरबा के बाद फिर स्टेज पर उतरे हरिहर बाबा। इस बार यशवंत के गीत ‘श्याम तुम मत जानियो..’ पर बाबा का अग्नि भवई नृत्य देख लोग दंग रह गए। करीब 20 मिनट तक चले इस नृत्य के दौरान सबकी आंखें बाबा के पैरों की चपलता और सिर पर जलती मटकी की ओर लगा रहा। लेकिन क्या संतुलन था, अद्भुत।
हरिहर बाबा के भवई नृत्य के पश्चात नितिन दवे के नेतृत्व में शुरू हुआ डांडिया धमाल। पहले दवे की टीम के कलाकारों ने इसकी शुरुआत की फिर वे मैदान में क्या उतरे कि उपस्थित जनसमूह थिरक उठा। चारों तरफ अलग-अलग टोलियों में लोग डांडिया के साथ थिरक ते रहे मानो उन सभी ने भी नितिन दादा से दीक्षा ली हो। कमर की लोच और भाव भंगिमा काबिल-ए-तारीफ थी। जैसे जैसे शाम ढलती गई लोगों की नृत्य संगीत की शमा परवान चढ़ती गई। इसमें डीआईजी की पत्नी शोभा जैन तथा एसएसपी की पत्नी श्वेता ने भी डांडिया के साथ मोहक नृत्य पेश किया। डीआईजी मुथा अशोक जैन भी स्टेज पर उतरे और जमकर थिरके। ऐसे में एसएसपी आशुतोष भला क्यों पीछे रहते। शहर के आला अफसरों के अलावा इस कार्यक्रम में मेयर सत्या पांडेय, पूर्व मेयर अंजू चौधरी सहित शहर के गणमान्य नागरिक और अमर उजाला परिवार के सदस्य उपस्थित थे।

Spotlight

Most Read

Lucknow

ब्राइटलैंड स्कूल दो दिन के लिए बंद, छात्रा हुई जुवेनाइल कोर्ट में पेश

राजधानी के ब्राइटलैंड स्कूल में छात्र को चाकू मारने की घटना के बाद बच्चों में बसे खौफ को दूर करने के लिए स्कूल को दो दिनों के लिए बंद कर दिया है।

19 जनवरी 2018

Related Videos

महाराजगंज में AAP का प्रदर्शन, गायों को लेकर की ये बड़ी मांग

पूर्वी यूपी के महाराजगंज में बुधवार को आम आदमी पार्टी कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया। आम आदमी पार्टी कार्यकर्ताओं का ये प्रदर्शन मधवलियां गोसदन में गायों की मौत के मामले में कसूरवारों के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर हुआ।

18 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper