फर्जी सिमकार्ड बेचने वाले पांच गिरफ्तार

Gorakhpur Updated Fri, 26 Oct 2012 12:00 PM IST
गोरखपुर। फर्जी आईडी तैयार करके सिम कार्ड बेचने वाला गिरोह एसओजी के हाथ आ गया। महराजगंज के दो और गोरखपुर के तीन युवकों को गिरफ्तार कर एसओजी ने कैंट पुलिस को सौंप दिया। उनके पास से 30 सिमकार्ड, कंप्यूटर, प्रिंटर और भारी मात्रा में फर्जी पहचान पत्र बरामद हुआ है।
टावर लगाने के नाम पर लोगों से ठगी करने वाले गिरोह को गत दिनों लखनऊ पुलिस ने गिरफ्तार किया था। पकड़े गए एक दर्जन से अधिक युवकों में कई गोरखपुर के भी थे। उनके पास करीब 300 सिमकार्ड बरामद हुआ था। उनसे पूछताछ करने पर मालूम हुआ था कि ठगी के लिए वह लोग फर्जी सिमकार्ड का इस्तेमाल करते थे। इन्हीं नंबरों को वह अखबार में प्रकाशित कराते थे। फर्जी आईडी वाले सिमकार्ड इन लोगों ने गोरखपुर से खरीदे थे। लखनऊ में पूछताछ के बाद इसका खुलासा होने पर वहां के अधिकारियों ने एसएसपी गोरखपुर को इसकी जानकारी दी।
एसएसपी आशुतोष कुमार ने फर्जी पहचान पत्र पर सिमकार्ड बेचने वालों की धरपकड़ का जिम्मा एसओजी को सौंपा। एसओजी प्रभारी अशोक सिंह ने टीम के साथ धर्मशाला के पास मोबाइल शॉप पर छापा मारकर वहां फर्जी आईडी पर बिकने वाले सिमकार्ड के गिरोह का खुलासा किया। एसओजी ने इस मामले में धर्मशाला के रोशन जायसवाल, महराजगंज फरेंदा के राहुल, नई बाजार चौरीचौरा के गणेश जायसवाल, महराजगंज पनियरा के मनीष और कूड़ाघाट के रजत अग्रहरि को गिरफ्तार किया। इनके पास से फर्जी आईडी पर एक्टिवेट कराए गए एक ही कंपनी के 30 सिमकार्ड, कंप्यूटर, प्रिंटर और भारी मात्रा में फर्जी पहचान पत्र बरामद हुआ। एसओजी ने इस मामले में एक कंपनी से सेल्स मैनेजर को भी उठाया था। पूछताछ में पता चला कि ये दुकान फर्जी पहचान पत्र के जरिए सिम एक्टिवेट कराकर बेचते थे। एसओजी ने सभी आरोपियों को कैंट पुलिस के सुपुर्द कर दिया है।


नकली वोटर कार्ड बनाने का खुलासा
महराजगंज। मुड़िला बाजार से गोरखपुर की एसओजी ने बुधवार को छापा मार सिम एक्टिवेट करने के लिए नकली मतदाता पहचान पत्र बनाने वाले एक रैकेट का खुलासा किया। इस कार्रवाई में पुलिस ने करीब 8000 नकली मतदाता पहचान पत्र, कंप्यूटर और अन्य उपकरण बरामद की। एक युवक को एसओजी अपने साथ गोरखपुर लेकर आ गई।
पिछले दिनोें गोरखपुर पुलिस के हाथ कुछ नकली मतदाता पहचान पत्र लगे थे। इस आधार पर छानबीन के बाद गोरखपुर एसीओजी ने फरेन्दा के एक दुकानदार राहुल को उठाया। उसने पूछताछ में पनियरा थाना क्षेत्र के मुड़िला बाजार गांव के एक व्यक्ति के बारे में जानकारी दी। दो दिन पहले पुलिस ने मुड़िला बाजार के मनीष कुमार को फोन कर 7000 मतदाता पहचान पत्र की डिमांड की। इस पर उसने हामी भर दी। बुधवार सुबह गोरखपुर एसओजी पनियरा क्षेत्र में लोकल पुलिस को साथ लेकर दबिश देने मौके पर पहुंची। एसओजी ने गांव के युवक मनीष कुमार को उठा लिया। उसके पास से कंप्यूटर, प्रिंटर, करीब 8000 नकली मतदाता पहचान पत्र और अन्य जरूरी उपकरण बरामद हुए। कस्टडी में लिया गया युवक गांव के पूर्व प्रधान का बेटा बताया जा रहा है। उसके बनाए पहचान पत्र से सिम एक्टिवेट करने का कार्य किया जाता है। एक रुपये में तैयार होने वाला पहचान पत्र वह थोक भाव तीन रुपये में बेचता था।

Spotlight

Most Read

Meerut

राहुल काठा की सुरक्षा में पेशी

राहुल काठा की सुरक्षा में पेशी

23 जनवरी 2018

Related Videos

‘पद्मावत’ का विरोध करने वालों ने कहा, सिनेमाघरों के अंदर करेंगे ब्लास्ट

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद देश के कई हिस्सों में ‘पद्मावत’ का विरोध जारी है। यूपी के महराजगंज में विरोध कर रहे लोगों ने कहा कि अगर फिल्म रिलीज होती है तो हम सिनेमा घरों में ब्लास्ट कर देंगे।

22 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper