गोरखनाथ मंदिर में कथा ज्ञान महायज्ञ का उद्घाटन

Gorakhpur Updated Thu, 27 Sep 2012 12:00 PM IST
गोरखपुर। श्रीमद्भागवत और नाथ पंथ में अद्भुत साम्य है। इसके द्वादश अध्याय में नौ योगेश्वरों की कथा को समझने वाले नाथ पंथ की महिमा का एहसास करते हैं। श्रीमद्भागवत कथा धर्म का सागर है, इसमें से यथासंभव पात्र अपनी पात्रता के अनुसार तत्व ग्रहण करते हैं।
गोरखनाथ मंदिर में महंत दिग्विजयनाथ की 43 वीं पुण्यतिथि पर आयोजित सात दिवसीय श्रीमद्भागवत कथा ज्ञान महायज्ञ के उद्घाटन अवसर पर व्यासपीठ से ये बातें स्वामी बालभरत ने कहीं। पहले दिन भागवतकथा की महिमा का गुणगान करते हुए कहा कि श्रीमद्भागवत भगवान श्रीकृष्ण का ही दूसरा रूप है। देखने में यह पुराण लगता है लेकिन सुनने में यह नित्य नूतन है। यशस्वी जीवन का मार्ग प्रशस्त करने का कथा ही एक सशक्त माध्यम है। मनुष्य को पाप से मुक्ति के साथ मोक्ष तक कथा ही पहुंचाता है।
कथा व्यास ने भगवान शिव द्वारा पार्वती को अमर कथा सुनाने, भगवान शुक के सुने जाने, शिव का कोप, शुक का जन्म, सनत कुमार की कथा, नारद शेक आदि के प्रसंग के साथ आरती कुंज बिहारी की संगीतमयी आरती के साथ कथा को विश्राम दिया गया। इससे पहले बालभरत एवं योगी आदित्यनाथ द्वारा अखंड दीप के साथ निकाली गई शोभायात्रा सभागार में पहुंची। यहां महंत दिग्विजयनाथ की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित कर श्रद्धांजलि दी गई। यजमानों में सीताराम जायसवाल, अवधेश सिंह, गजेंद्र प्रताप सिंह, श्रीचंद बंसल आदि ने व्यासपीठ का पूजन किया।

धर्म प्राण और संस्कृति भारत की आत्मा
गोरक्षपीठ के उत्तराधिकारी एवं सदर सांसद योगी आदित्यनाथ ने कहा कि धर्म भारत का प्राण है और संस्कृति उसकी आत्मा है। भारतीय धर्म और संस्कृति का दर्शन भारतीय धर्म ग्रंथों में ही होता है। श्रीमद्भागवत महापुराण कथा ज्ञानयज्ञ भारतीय धर्म-संस्कृति के ही मूल तत्व का उद्घाटन करती है। दिगंबर अखाड़ा अयोध्या के महंत सुरेश दास ने कहा कि कथाओं में गुरु वंदना का महात्म्य है। गोरक्षपीठ विरक्त परंपरा का सूचक है। इस परंपरा को कर्म के बंधन में कभी भी नहीं बांधा जा सकता है। अयोध्या के महंत कौशल किशोर दास ने कहा कि भगवान को प्राप्त करने के लिए मानव जन्म मिलता है। भगवान की सेवा करते रहने से जीवन में मोक्ष मिल जाएगा। संचालन डा. श्रीभगवान सिंह ने किया।

Spotlight

Most Read

Madhya Pradesh

MP निकाय चुनाव: कांग्रेस और भाजपा ने जीतीं 9-9 सीटें, एक पर निर्दलीय विजयी

मध्य प्रदेश में 19 नगर पालिका और नगर परिषद अध्यक्ष पद पर हुए चुनाव में कांग्रेस और भाजपा के बीच कड़ा मुकाबला देखने को मिला।

20 जनवरी 2018

Related Videos

आलू किसानों पर यूपी के कृषि मंत्री का बड़ा बयान

यूपी में आलू किसानों की हालत क्या है इससे पूरा देश वाकिफ है। यूपी के अलग-अलग शहरों में सड़कों पर आलू फेंके जाने की तस्वीरें सामने आती हैं। ऐसे में यूपी के कृषि मंत्री ने ये आश्वासन दिया है कि आलू किसानों के साथ अन्याय नहीं किया जाएगा।

20 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper