वीआईपी नंबर गोलमाल में चार लिपिक सस्पेंड

Gorakhpur Updated Sun, 16 Sep 2012 12:00 PM IST
गोरखपुर। वीआईपी नंबरों में हुए गोलमाल का खुलासा हो गया है। आरटीओ प्रशासन ने वीआईपी नंबरों में गोलमाल के आरोप में चार जूनियर लिपिक को सस्पेंड कर दिया है। तीन वरिष्ठ लिपिक के खिलाफ कार्रवाई के लिए मुख्यालय पत्र भेजा गया है। जांच में जिन 27 वीआईपी नंबरों में गोलमाल हुआ है, चार मामलों में वसूली कर ली गई है। आरटीओ प्रशासन लक्ष्मीकांत मिश्र ने बताया कि पुलिस से भी जांच कराई जाएगी। इस मामले में कैंट थाने में मुकदमा दर्ज करा दिया गया है।
गौरतलब है कि संभागीय परिवहन विभाग गोरखपुर वीआईपी नंबरों में गोलमाल का मामला प्रकाश में आया था। आरटीओ प्रशासन लक्ष्मीकांत मिश्र और एआरटीओ प्रशासन एम अंसारी ने दो दिनों तक जांच की। जांच में 27 वीआईपी नंबर ऐसे मिले, जिन्हें बैकलॉग में जारी किया गया था। ये सभी नंबर अलग-अलग लिपिक का पासवर्ड चोरी कर जारी किए गए थे। जांच में 17 गाड़ियों का नंबर जारी कर गाड़ी मालिक को वीआईपी नंबर दे दिया गया था। इनमें दस गाड़ी मालिकों को नंबर तो जारी हो गया था लेकिन उन्हें अभी कागजात नहीं मिले थे। आरटीओ अधिकारियों ने चार गाड़ी मालिकों से वीआईपी नंबरों का पैसा वसूल कर लिया है।
चार लिपिकों पर गिरी गाज
वीआईपी नंबरों में जिन चार लिपिक का पासवर्ड चोरी कर गोलमाल किया गया उन्हें सस्पेंड कर दिया गया। इसमें कनिष्ठ लिपिक कमरुजमा, दीपा निगम, अजय सिंह और दिनेश प्रताप सिंह को आरटीओ प्रशासन ने सस्पेंड कर दिया। वरिष्ठ लिपिक हेमंत कुमार, संजय सिन्हा और कौशल किशोर सिंह पर कार्रवाई के लिए मुख्यालय पत्र भेज दिया गया है।
पुलिस भी करेगी जांच : आरटीओ
आरटीओ प्रशासन लक्ष्मीकांत मिश्र ने बताया कि मामले की निष्पक्ष जांच के लिए पुलिस को पत्र भेज दिया गया है। उन्होंने बताया कि अब तक की जांच में जिन लिपिक को सस्पेंड किया गया उनके पासवर्ड पर नंबर जारी हुए हैं। इसमें आरआई का भी पासवर्ड इस्तेमाल किया गया है।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

मरीज की मौत पर परिजन ने सरकारी अस्पताल में किया तांडव

बस्ती के सरकारी अस्पताल में भर्ती एक मरीज की मौत के बाद तिमारदार ने खूब तांडव मचाया। तीमारदार ने अस्पताल में रखी कुर्सी और मेज को फेंकना शुरू कर दिया।

23 जनवरी 2018