जूनियर डाक्टरों की हैवानियत का चौतरफा विरोध

Gorakhpur Updated Thu, 06 Sep 2012 12:00 PM IST
गोरखपुर। मेडिकल कालेज में मंगलवार को जूनियर डाक्टरों की हैवानियत का चौतरफा विरोध होने लगा है। पत्रकारों, यूनिवर्सिटी छात्रनेताओं, सपा, भाजपा, कांग्रेस समेत अन्य दलों ने कार्रवाई के लिए प्रशासन को 24 घंटे का अल्टीमेटम दिया है। महिला कांग्रेस की कार्यकर्ताओं ने जूनियर डाक्टरों का पुतला फूंका और डीएम से मिलकर गिरफ्तारी की मांग की।
गोरखपुर जर्नलिस्ट प्रेस क्लब अध्यक्ष एसपी सिंह के नेतृत्व में पत्रकारों का प्रतिनिधिमंडल कमिश्नर, डीएम से मिला। बताया कि कवरेज करने गए मीडिया कर्मियों पर हमला, लूटपाट निंदनीय है। चेतावनी दी कि यदि 24 घंटे के भीतर जूनियर डाक्टरों की गिरफ्तारी नहीं हुई तो पत्रकार आंदोलन को बाध्य होंगे।
भाजपा के क्षेत्रीय संयोजक डा. समीर कुमार सिंह ने मेडिकल कालेज के प्राचार्य से जूनियर डाक्टरों पर कार्रवाई की मांग की है। भाजपा महानगर संयोजक डा. धर्मेंद्र सिंह, जिला संयोजक जनार्दन तिवारी, राहुल श्रीवास्तव, राधेश्याम सिंह, देवेश श्रीवास्तव, सूर्यनाथ ने कहा कि डाक्टरों द्वारा हाथ में हाकी, डंडा आदि लेकर मरीजों, तीमारदारों, मीडिया कर्मियों पर हमला निंदनीय है।
दलित महिला वाहिनी की प्रदेश अध्यक्ष, जिला पंचायत सदस्य निर्मला पासवान ने जूनियर डाक्टरों का रजिस्ट्रेशन निरस्त कराने की मांग की। कांग्रेस जिला मीडिया सेल चेयरमैन गोरखलाल श्रीवास्तव, उपाध्यक्ष मदन त्रिपाठी ने डाक्टरों के विरुद्ध कार्रवाई की मांग की है। दलित जोड़ो अभियान समिति की तरफ से पूर्व सांसद राजनारायण पासी के नेतृत्व में पदाधिकारियों ने मेडिकल कालेज का दौरा किया।
लोक जनशक्ति पार्टी के प्रदेश महासचिव राजेंद्र कुमार बागी, भाकपा माले के जिला सचिव राजेश साहनी ने भी घटना की निंदा करते हुए डाक्टरों पर कठोर कार्रवाई की मांग की है। भाजयुमो महानगर अध्यक्ष इंद्रमणि उपाध्याय ने घटना के लिए पुलिस, प्रशासन को जिम्मेदार ठहराया। लोकदल के जिलाध्यक्ष ओंकारनाथ यादव, युवा जनता दल, यूनाइटेड के नेता अयोध्या प्रसाद साहनी ने भी डाक्टरों पर कार्रवाई की मांग की।

छात्रनेताओं ने की निलंबन की मांग
गोरखपुर यूनिवर्सिटी छात्रसंघ के निवर्तमान महामंत्री नीरज शाही की अध्यक्षता में हुई बैठक में छात्रनेताओं ने जूनियर डाक्टरों के निलंबन की मांग की है। कहा कि यदि 24 घंटे के भीतर डाक्टरों की गिरफ्तारी नहीं हुई तो डीएम, कमिश्नर कार्यालय पर धरना दिया जाएगा। नीरज शाही ने बताया कि गुरुवार को यूनिवर्सिटी मेन गेट पर पुतला फूंका जाएगा। डा. रतनपाल सिंह, डा. रुप कुमार सिंह सहित कई पूर्व पदाधिकारियों के साथ ही छात्रनेता शुभम सिंह, रणजीत राय आदि ने डॉक्टरों की अविलंब गिरफ्तारी की मांग की है। छात्रनेता श्याम सिंह की अध्यक्षता में हुई बैठक में प्राचार्य को बर्खास्त करने के साथ ही डॉक्टरों की डिग्री निरस्त करने की मांग की गई। 0
सपाइयों ने सीएम को दी घटना की जानकारी
मेडिकल कालेज के जूनियर डॉक्टरों द्वारा तीमारदारों को पीटने की घटना की सपाइयों ने निंदा की। सपा कार्यकर्ताओं ने असुरन स्थित पार्टी कार्यालय पर हुई बैठक में कहा कि जूनियर डॉक्टरों द्वारा मंगलवार को की गई अराजकता की घटना कोई नई नहीं है। नेताओं ने कहा कि जूनियर डॉक्टर इसके पहले भी इस तरह की घटना को अंजाम दे चुके हैं इसलिए प्रशासन और पुलिस उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई करे ताकि भविष्य में इस तरह की घटना की पुनरावृत्ति न हो। उन्होंने बुधवार को मुख्यमंत्री को फैक्स के माध्यम से इस पूरी घटना की जानकारी दी और दोषी जूनियर डॉक्टरों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की।
कांग्रेसियों ने डीएम कार्यालय पर किया प्रदर्शन
गोरखपुर। जूनियर डाक्टरों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर कांग्र्रेसियों ने बुधवार को डीएम कार्यालय पर प्रदर्शन किया। बाद में डीएम को दिए गए ज्ञापन में कांग्रेसियों ने बताया कि पूरी घटना मेडिकल कालेज के प्रधानाचार्य के इशारे पर हुई है।
जिला युवा कांग्रेस के महासचिव अनवर हुसेन के नेतृत्व में कांग्रेसियों ने कहा कि जूनियर डाक्टर आए दिन मरीजों और तीमारदारों से दुर्व्यवहार करते हैं। उनके खिलाफ कार्रवाई न होने से यह स्थिति हुई है। मंगलवार को उन्होंने मीडिया कर्मियों पर हमला कर हद कर दी है। इस दौरान मो. अनीश, जितेंद्र प्रजापति, मोतीलाल यादव, सोनू कुमार, ईश्वर चंद्र आदि मौजूद रहे।
जिला कांग्रेस कमेटी ई पिछड़ा विभाग के जिलाध्यक्ष देवेंद्र कुमार निषाद और जिला प्रवक्ता परवेज अख्तर ने कहा कि जूनियर डाक्टरों का व्यवहार शर्मनाक है। उधर, महानगर कांग्रेस कमेटी के पूर्व सह प्रवक्ता व महामंत्री राकेश यादव ने प्रतिनिधिमंडल के साथ डीएम को ज्ञापन सौंपा।
कड़ी कार्रवाई हो: विश्वविजय
आमी बचाओ मंच के अध्यक्ष विश्वविजय सिंह ने कहा कि मेडिकल कालेज में मरीजों के साथ मारपीट और पत्रकारों पर हमला निंदनीय घटना है। जूनियर डाक्टरों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए।
सिंगेश देवी ने की डीजीएमई से मुलाकात
कांग्रेस नेत्री सिंगेश देवी ने बुधवार की शाम कमिश्नर कार्यालय पर महानिदेशक चिकित्सा शिक्षा डा. सौदान सिंह से मुलाकात की। सिंगेश देवी ने जूनियर डाक्टरों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की।
दोषियों पर हो कार्रवाई : डा. सुरहीता
कांग्रेस की डॉ. सुरहीता करीम ने कहा कि दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए। मंडलीय प्रवक्ता अरविंद पांडेय ने कहा कि पहले से दुखी मरीजों पर हमला करना और मीडिया से दुर्व्यवहार करना निंदनीय है।
दोषी डॉक्टर गिरफ्तार हों : शिक्षक संघ
उत्तर प्रदेश प्राथमिक शिक्षा मित्र संघ ने मेडिकल कालेज में जूनियर डॉक्टरों द्वारा पत्रकारों पर हुए जानलेवा हमले की निंदा की। संघ के जिलाध्यक्ष अजय कुमार सिंह ने कहा कि डॉक्टरों का यह कृत्य पूरी तरह से गुंडई है।
अनुसूचित जाति आयोग ने भी लिया घटना का संज्ञान
गोरखपुर। मेडिकल कालेज में हुई घटना पर अनुसूचित जाति आयोग ने सख्त तेवर अपनाया है। बुधवार को लोकसभा के सांसद और अनुसूचित जाति आयोग के राष्ट्रीय अध्यक्ष पीएल पुनिया ने फोन पर घायल मीडिया कर्मियों से बात की। उन्होंने कहा कि डाक्टरों ने अक्षम्य अपराध किया है। उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। इससे पहले पीएल पुनिया के निर्देश पर पूर्व सांसद राजनारायन पासी और उनके जनसंपर्क अधिकारी महेंद्र मोहन उर्फ गुड्डू तिवारी के नेतृत्व में घायल मरीजों, राहगीरों और मीडिया कर्मियों से मुलाकात की।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी एसटीएफ ने मार गिराया एक लाख का इनामी बदमाश, दस मामलों में था वांछित

यूपी एसटीएफ ने दस मामलों में वांछित बग्गा सिंह को नेपाल बॉर्डर के करीब मार गिराया। उस पर एक लाख का इनाम घोषित ‌किया गया था।

17 जनवरी 2018

Related Videos

ट्रक और वन विभाग की गाड़ी में टक्कर के बाद विवाद, फिर हुआ ये

महराजगंज के जिला अस्पताल के पास ट्रक और वन विभाग की गाड़ी की टक्कर होने के बाद विवाद खड़ा हो गया। ट्रक चालक का आरोप है कि उसकी वन विभाग के कर्मचारियों ने जमकर पिटाई की है।

16 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper