दो गांवों में आगजनी, पथराव और फायरिंग

Gorakhpur Updated Wed, 25 Jul 2012 12:00 PM IST
गोरखपुर। खेत चर रहे घोड़े के बच्चे को भाला मारकर घायल करने के मामले ने तूल पकड़ लिया। बेलीपार के उत्तरी कोलिया और तिवारीपुर के घुनघुनकोठा गांव के लोग मंगलवार को आमने सामने आ गये। उत्तरी कोलिया गांव में मारपीट, पथराव और फायरिंग में आधा दर्जन लोग जख्मी हो गये। इस दौरान उपद्रवियों ने कई दुकानों और तीन गाड़ियों में तोड़फोड़ कर उन्हें क्षतिग्रस्त कर दिया। एसएसपी ने पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंचकर स्थिति को संभाला। गांव में पीएसी तैनात कर दी गई है। जांच पड़ताल के दौरान घुनघुन कोठा गांव में भारी मात्रा में मिली कच्ची शराब और लहन को कब्जे में लेकर पुलिस ने नष्ट कर दिया।
घुनघुन कोठा के अर्जुन यादव का बछेड़ा (घोड़े का बच्चा) रविवार की शाम उत्तरी कोलिया निवासी भोला का खेत चर रहा था। किसी ने उसे भाला घोंप दिया। बछेड़ा को लहूलुहान देख गुस्साए घोड़ा मालिक रात में उत्तरी कोलिया पहुंच गया। शक में वह राममिलन को उठा लाया। सोमवार सुबह ग्रामीणों ने पुलिस को सूचना दी। उत्तरी कोलिया के प्रधान राज कुमार राजभर की मदद से मामले में समझौता हो गया। पर पूर्व बीडीसी सदस्य बुद्धिराम यादव, घुनघुनकोठा के प्रधान श्रीभगवान यादव इसकी शिकायत लेकर थाने चले गए। रात साढ़े आठ बजे दोनों गांव जा रहे थे तभी किसी ने उन पर पत्थर चला दिया। इसमें बुद्धिराम का सिर फट गया। मंगलवार सुबह घुनघुन कोठा के ग्रामीणों ने उत्तरी कोलिया गांव में धावा बोल दिया। लाठी डंडे और असलहों से लैस ग्रामीणों ने चौराहे पर खड़ी टैंपो में तोड़फोड़ की। दो बाइक भी कूंच दी। इस पर उत्तरी कोलिया के लोग भी असलहों, लाठी, डंडों से लैस होकर आ गए। दोनों पक्षों के बीच जमकर फायरिंग हुई। करीब दो घंटे तक चले बवाल में दोनों तरफ से आधा दर्जन लोग जख्मी हो गए।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

मरीज की मौत पर परिजन ने सरकारी अस्पताल में किया तांडव

बस्ती के सरकारी अस्पताल में भर्ती एक मरीज की मौत के बाद तिमारदार ने खूब तांडव मचाया। तीमारदार ने अस्पताल में रखी कुर्सी और मेज को फेंकना शुरू कर दिया।

23 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls