सच जानने के लिए पहुंची टीम

Gorakhpur Updated Sun, 22 Jul 2012 12:00 PM IST
गोरखपुर। छह साल पहले जंगल टिकरिया में हुई पुलिस मुठभेड़ का सच जानने सीबीसीआईडी के सदस्य शनिवार को जंगल टिकरिया पहुंचे। गुलरिहा क्षेत्र में फोरेंसिक विशेषज्ञों के साथ पहुंचे पुलिस वालों ने पुतले के सहारे मुठभेड़ की तह तक जाने का प्रयास किया। तत्कालीन एसओ और चौकी इंचार्ज के साथ पुलिस करीब डेढ़ घंटे तक छानबीन करती रही। मानवाधिकार आयोग की जांच बताकर अधिकारियों ने कुछ भी साझा करने से इंकार कर दिया। बड़हलगंज के बदमाश मनोज तिवारी को पुलिस ने छह साल पूर्व जंगल टिकरिया में हुई मुठभेड़ में मार गिराया था।
लूट, हत्या और हत्या के प्रयासों शामिल बदमाश के एनकाउंटर पर अधिकारियों ने पुलिस टीम को शाबाशी दी थी। हालांकि मनोज के परिजनों ने एनकाउंटर को फर्जी ठहराते हुए मानवाधिकार आयोग में जांच की गुहार लगाई। आयोग के निर्देश पर मामले की सीबीसीआईडी जांच शुरू हो गई।
सरहरी प्रतिनिधि के अनुसार शनिवार को लखनऊ से आई तीन सदस्यीय टीम के अधिकारी जंगल में पहुंचे।
उनके साथ फोरेंसिक विभाग के एक्सपर्ट भी रहे। विधि विज्ञान प्रयोगशाला के निदेशक श्याम बिहारी उपाध्याय और उनके सहयोगियों ने मुठभेड़ वाले स्थान पर पुतला खड़ाकर हकीकत को जानने का प्रयास किया।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

मरीज की मौत पर परिजन ने सरकारी अस्पताल में किया तांडव

बस्ती के सरकारी अस्पताल में भर्ती एक मरीज की मौत के बाद तिमारदार ने खूब तांडव मचाया। तीमारदार ने अस्पताल में रखी कुर्सी और मेज को फेंकना शुरू कर दिया।

23 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls