सर्किट हाउस में जबरदस्‍त पावर प्‍ले

Gorakhpur Updated Sun, 22 Jul 2012 12:00 PM IST
गोरखपुर। सर्किट हाउस पर शनिवार को सदर संसदीय सीट से सपा का टिकट हासिल करने के लिए दावेदारों का जमावड़ा लगा था। यहां एक से एक लक्जरी गाड़ियां थीं गन थीं लेकिन ‘जन’ न था। थे तो सख्त चेहरे और कलफ कुर्ते वाले कुछ ऐसे लोग जिनमें पर्यवेक्षक की नजर में चढ़ने के लिए शक्ति प्रदर्शन की होड़ लगी थी। अलबत्ता इनके बीच पार्टी के ही कुछ ऐसे कार्यकर्ता जरूर दिखे जो ऐसे ‘महानुभावों’ की अचानक घुसपैठ से भौचक थे। उनकी पीड़ा यह थी कि पार्टी के लिए खून पसीना वे बहा रहे हैं और उन्हें धकेल, अगली पांत में वे खड़े हो गए हैं जिनके दामन पर दाग ही दाग हैं और पार्टी से उनका सिर्फ रस्मी रिश्ता है। पर अपने जेबी समर्थकों के साथ जिस रुतबे में वे आए थे उसके सामने बड़े बड़े गच्चा खा जाएं। समर्थक उनकी शान में ऐसे कसीदे काढ़ रहे थे मानो उन्हें टिकट मिल गया तो जनता उन्हें विजय तिलक लगाने को उतावली है। कंधाें में लटकती राइफलें और हाथों में झूलती बंदूकें समाजवाद की सच्ची तस्वीर पर सवाल खड़े कर रही थीं।
शनिवार को सदर संसदीय क्षेत्र के लिए समाजवादी पार्टी की तरफ से नियुक्त पर्यवेक्षक पूर्व सांसद एवं इटावा के विधायक रघुराज सिंह शाक्य को गोरखपुर आना था। इसकी जानकारी पार्टी की तरफ से टिकट के आवेदन कर्ताओं और संगठन से जुड़े लोगों के साथ ही आम कार्यकर्ताओं को दी गई थी। उन्हें वैशाली ट्रेन से आना था नतीजतन रेलवे स्टेशन पर स्वागत करने वालों की भीड़ लग गई थी। कई दावेदार भारी संख्या में चार पहिया वाहनों के साथ जब स्टेशन पहुंचे तो खुद पार्टी के ही निष्ठावान कार्यकर्ता हैरत में पड़ गए। पर्यवेक्षक का काफिला जब स्टेशन से सर्किट हाउस चला तो एक दावेदार की फोटो लगी अधिकतर गाड़िया दिखाई दीं। उनके अलावा भी कई ऐसे दावेदार रहे जो अपने लाव लश्कर के साथ सर्किट हाउस पहुंचे थे। गाड़ियां मैदान में तो असलहाधारी सर्किट हाउस में अंटे पड़े थे। समाजवादी पार्टी से टिकट के लिए कितने दावेदार हैं यह किसी को पता नहीं था। पर्यवेक्षक आए तो यह मालूम हुआ कि कौन कौन से लोग टिकट चाह रहे हैं। कुछ लोगों के बारे में बताना नहीं पड़ा। मगर कुछ लोगों के बारे में कार्यकर्ता सवाल उठा रहे थे। आखिर उन्हें किसने पार्टी में शामिल कराया। संगठन से जुड़े लोग दबी जुबान से यह कहते रहे कि स्थानीय संगठन को ऐसे लोगों के बारे में नहीं बताया गया। न ही पार्टी कार्यालय से ऐसे लोगों ने
एनओसी ही ली। आवेदन कैसे किया इसको भी लेकर निष्ठावान कार्यकर्ता बेचैन दिखे। किसी ने कहा कि पैसा यदि जमा करना
है तो कोई भी जमा कर देगा। पर जिनका सपा से दूर -दूर तक कोई रिश्ता नहीं था आखिर वह टिकट की दौड़ में कैसे शामिल हो गए।

Spotlight

Most Read

Lucknow

डीजीपी ने हनुमान सेतु मंदिर में मांगी प्रदेश के लिए कामना तो 'भगवान' ने दिया आशीर्वाद

लंबे इंतजार के बाद प्रदेश के नवनियुक्त डीजीपी ओपी सिंह मंगलवार सुबह राजधानी पहुंचे। एअरपोर्ट से निकलने के बाद सबसे पहले वह राजधानी के सबसे वीवीआईपी मंदिर हनुमान सेतु मंदिर पहुंचे।

23 जनवरी 2018

Related Videos

‘पद्मावत’ का विरोध करने वालों ने कहा, सिनेमाघरों के अंदर करेंगे ब्लास्ट

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद देश के कई हिस्सों में ‘पद्मावत’ का विरोध जारी है। यूपी के महराजगंज में विरोध कर रहे लोगों ने कहा कि अगर फिल्म रिलीज होती है तो हम सिनेमा घरों में ब्लास्ट कर देंगे।

22 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper