दो हजार से ज्यादा छात्रों की परीक्षा छूटी

Gorakhpur Updated Sat, 14 Jul 2012 12:00 PM IST
गोरखपुर। आईटीआई प्रवेश परीक्षा औपचारिकता बन कर रह गई। कहने को प्रवेश परीक्षा थी लेकिन किसी छात्र की परीक्षा नौ बजे से शुरू हुई तो किसी परीक्षार्थी की 12 बजे से। एडमिट कार्ड नहीं होने की वजह से परीक्षार्थी मनमर्जी परीक्षा केंद्रों पर शामिल हुए। जिन परीक्षा केंद्रों पर चार सौ परीक्षार्थियाें को शामिल होना था वहां आठ सौ परीक्षार्थी शामिल हुए। परिषद का बस एक मकसद था कि परीक्षा किसी तरह संपन्न हो जाए। इस प्रयास के बावजूद करीब दो हजार छात्रों की परीक्षा छूट गई।
शुक्रवार को निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार आईटीआई प्रवेश परीक्षा जैसे तैसे गोरखपुर महानगर में बनाए गए 49 परीक्षा केंद्रों पर संपन्न हुई। परीक्षा दो पालियों में होगी। पहली पाली सुबह नौ बजे से 11 बजे तक और दूसरी पाली अपराह्न दो बजे से चार बजे तक। गोरखपुर में इस परीक्षा में कुल 27765 परीक्षार्थियों को शामिल होना था। लेकिन 10 हजार से ज्यादा परीक्षार्थियों को निर्धारित परीक्षा तिथि तक एडमिट कार्ड नहीं मिल सका था। एडमिट कार्ड पाने के लिए सुबह पांच बजे से ही कई हजार छात्र आईटीआई चरगावां में इकट्ठा हो गए। लेकिन एडमिट कार्ड नहीं बन पाने से नाराज छात्रों ने आईटीआई चरगावां के कार्यालय में जमकर तोड़फोड़ कर दी। कर्मचारी जान बचाने के लिए भाग खड़े हुए। इसके बाद एडमिट कार्ड के लिए परीक्षार्थियों ने साइबर कैफे का रुख किया। लेकिन शुक्रवार को भी परिषद की वेबसाइट के ठीक ढंग से काम नहीं कर पाने के कारण छात्र एडमिट कार्ड डाउनलोड करने में सफल नहीं हुए। स्थिति यह थी कि जनता इंटर कालेज बिछिया में जहां 400 परीक्षार्थियों के लिए केंद्र बनाया गया था वहां 800 परीक्षार्थी इकट्ठा हो गए। जो परीक्षा सुबह नौ बजे से शुरू होनी थी वह किसी परीक्षा केंद्र पर 10 बजे शुरू हुई तो किसी परीक्षा केंद्र पर 11 बजे तो कहीं 12 बजे। परीक्षा आयोजित कराने की जिम्मेदारी संभाल रहे आईटीआई चरगावां के प्रिंसिपल अरविंद कुमार का पूरा फोकस सभी अभ्यर्थियों को परीक्षा कराने पर ही केंद्रित रहा। उन्होंने सभी केेंद्रों पर निर्देश जारी कर दिया कि किसी भी छात्र को परीक्षा केंद्र से वापस नहीं भेजा जाए। और फिर जैसे तैसे आईटीआई प्रवेश परीक्षा संपन्न हो गई।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी में नौकरियों का रास्ता खुला, अधीनस्‍थ सेवा चयन आयोग का हुआ गठन

सीएम योगी की मंजूरी के बाद सोमवार को मुख्यसचिव राजीव कुमार ने अधीनस्‍थ सेवा चयन बोर्ड का गठन कर दिया।

22 जनवरी 2018

Related Videos

आलू किसानों पर यूपी के कृषि मंत्री का बड़ा बयान

यूपी में आलू किसानों की हालत क्या है इससे पूरा देश वाकिफ है। यूपी के अलग-अलग शहरों में सड़कों पर आलू फेंके जाने की तस्वीरें सामने आती हैं। ऐसे में यूपी के कृषि मंत्री ने ये आश्वासन दिया है कि आलू किसानों के साथ अन्याय नहीं किया जाएगा।

20 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper