किसान ने सात हजार के चुकाए 2 लाख, पर कर्जदार

गोंडा/ब्यूरो Updated Mon, 10 Dec 2012 11:59 AM IST
farmer paid 2 lac for 7 thousand
गरीबी से तंग अनंतपुर गांव के एक किसान ने सिद्धीपुरवा गांव के साहूकार से वर्ष 2003 में दस प्रतिशत मासिक ब्याज पर 7 हजार रुपये कर्ज लिए थे। किसान अब तक साहूकार को 2.62 लाख रुपये दे चुका है। फिर भी साहूकार ने 45 हजार रुपये बकाया बताकर किसान और उसके बेटे से बाइक व ट्रैक्टर ट्रॉली छीन ली।

गन्ना के तौल कराने जाते समय साहूकार ने अपने पांच अन्य साथियों के साथ पिता और पुत्र को धमकाया भी। फिलहाल, मामले की रिपोर्ट दर्ज करने थाने पहुंचे किसान को पुलिस ने दिनभर बैठाए रखा, लेकिन रिपोर्ट दर्ज नहीं की। उधर, पुलिस का कहना है कि किसान ने कोई तहरीर नहीं दी है।

थाना खरगूपुर क्षेत्र अंतर्गत अनंतपुर गांव निवासी राजकुमार ने रविवार को बताया कि उसने मार्च 2003 में दस प्रतिशत मासिक ब्याज पर 7 हजार रुपये कर्ज लिए थे। उसने बताया कि अब तक सूदखोर उससे 2 लाख 62 हजार रुपये वसूल चुका है। उसके बाद भी 45 हजार रुपये बकाया बताकर उसे धमका रहा है।

राजकुमार के मुताबिक 1 दिसंबर की सुबह गांव के ही एक व्यक्ति का गन्ना तौलाने के लिए वह अपने बेटे विश्वनाथ के साथ सिद्धीपुरवा गांव जा रहा था। राजकुमार बाइक से था, जबकि बेटा ट्रैक्टर ट्रॉली से। रास्ते में सूदखोर अपने पांच साथियों के साथ आ धमका और दोनों को रोक लिया। राजकुमार ने बताया कि सूदखोर ने उसकी बाइक छीन ली और बेटे को ट्रैक्टर ट्रॉली से नीचे उतार दिया। सूदखोर ने ट्रॉली का गन्ना अपनी पर्ची पर तौल करा लिया।

राजकुमार के मुताबिक सूदखोर ने 45 हजार रुपये देने के बाद बाइक व ट्रैक्टर ट्रॉली ले जाने को कहा। राजकुमार का कहना है कि वह मामले की रिपोर्ट दर्ज कराने थाने गया तो थानाध्यक्ष ने पूरे दिन उसे बैठाए रखा। मगर रिपोर्ट नहीं दर्ज की। उधर, थानाध्यक्ष कमलेश कुमार वाजपेयी का कहना है कि राजकुमार ने तहरीर नहीं दी है। उन्होंने बताया कि 1 दिसम्बर की शाम वह थाने पर आया था, उसे दूसरे दिन बुलाया गया था। मगर तभी से वह नहीं आया।  

दिए गए जांच के आदेश : एसपी
पुलिस अधीक्षक नवनीत कुमार राणा ने बताया कि राजकुमार उनसे मिलने आया था, मगर मामला विश्वसनीय नहीं लग रहा है। उन्होंने बताया कि थानाध्यक्ष खरगूपुर कमलेश कुमार वाजपेयी को जांच कर कार्रवाई करने के आदेश दिए गए हैं।

जिले में पंजीकृत साहूकार: 50
गैर पंजीकृत साहूकार: 6500 (अनुमानित)

कर्जदारों से ली जाने वाली ब्याज दर
पंजीकृत साहूकार: 14 प्रतिशत (वार्षिक)
गैर पंजीकृत साहूकार: 20 से 35 प्रतिशत मासिक (अनुमानित)

सादे कागज पर लगवाते अंगूठा
सूदखोर सादे कागज और 10 रुपये के सादे स्टांप पेपर पर कर्ज लेने वाले का अंगूठा लगवा लेता है। इस पर बाद में विवरण व देय रकम अंकित की जाती है। इससे वह कर्जदार से मनमानी रकम वसूल करता है। एडीएम सीपीएन उपाध्याय का कहना है कि अगर कहीं से अनधिकृत तौर पर जबरन वसूली करने का मामला आता है तो कार्रवाई की जाएगी।

Spotlight

Most Read

Delhi NCR

फुल ड्रेस रिहर्सल आज, यातायात में होगी दिक्कत, कई जगह मिल सकता है जाम

सुबह 10:30 से दोपहर 12 बजे तक ट्रेनों का संचालन नहीं किया जाएगा। कई ट्रेनें मार्ग में रोककर चलाई जाएंगी तो कई आंशिक रूप से निरस्त रहेंगी।

23 जनवरी 2018

Related Videos

उन्नाव: यूपी पुलिस के हाथ लगी बड़ी सफलता, किया नकली शराब कंपनी का भंडाफोड़

लखनऊ एसटीएफ और उन्नाव पुलिस के हाथ बड़ी सफलता लगी है। दरसअल लखनऊ एसटीएफ और उन्नाव पुलिस की संयुक्त कार्रवाई में एक नकली देशी शराब बनाने वाली फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया है। इस फैक्ट्री में बनने वाली नकली शराब आसपास के कई जिलों में सप्लाई की जाती थी।

2 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper