शादी की खुशियां मातम में तब्दील

amar ujala Updated Mon, 05 Jun 2017 10:30 PM IST
ख़बर सुनें
बरेली में रविवार की आधी रात शहजहांपुर मोड़ के पास हुए भीषण हादसे में मरने वाले 22 लोगों में 6 लोगों की शिनाख्त हो गई है। ये सभी एक ही गांव के हैं। इसमें एक परिवार के चार तथा एक परिवार के दो लोग जिंदा जले हैं। यह सभी कोतवाली देहात के बेलवानोहर गांव के हैं।
 बरेली हादसे में घायल बेलवा नोहर गांव के रहने वाले सोनू उर्फ रामधन सिंह राणा के साथ दिल्ली से उसी घटनाग्रस्त बस से आ रहे थे, जिनकी हादसे में मौत हो गई। बताते हैं कि यह सारे लोग सोनू की बहन पूनम की 7 जून को होने वाली शादी में शामिल होने के लिए आ रहे थे। रविवार की रात बरेली में हुए हादसे की खबर पता चलते ही पूरे गांव का माहौल गमगीन हो गया और शादी की खुशियां मातम में बदल गईं।

 रविवार की रात बरेली में हुए बस हादसे का पता चलने के बाद वहां पहुंचे रामपाल ने बताया कि दिल्ली से उनके चाचा उमाशंकर और उनका पूरा परिवार इसी बस पर सवार होकर आ रहा था। जबकि इसी बस पर इसी गांव की मायादेवी व उनका 14 साल का बेटा भी था।

जो शहजहांपुर मोड़ के पास हुए बस हादसे में मारे गए। रामपाल के मुताबिक बस में उमाशंकर (50) के अलावा उनकी पत्नी कलावती (48), उनका बेटा दीपक (14) व बेटी निशा (18) के साथ ही मायादेवी (35) पत्नी स्वर्गीय फूलचन्द्र के अलावा उनका बेटा हरीश बस हादसे में मारे गए।

जिसकी पुष्टि रामपाल ने बरेली में शवों की शिनाख्त किए जाने के बाद की है। रामपाल के मुताबिक उमाशंकर के परिवार में अब केवल उनकी एक बेटी लीलावती ही बची है। जिसकी शादी नवाबगंज के मंहगूपुर में हुई है। वहीं मायादवी के पति की मौत काफी पहले हो चुकी थी। जबकि हादसे में मायादेवी के साथ ही उसका बेटा भी मारा गया। अब मायादेवी के परिवार में केवल दो बेटे आशाषी (18) व मनीष (14) ही रह गए हैं। 

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News App अपने मोबाइल पे|
Get all crime news in Hindi. Stay updated with us for all breaking hindi news.

Spotlight

Most Read

Allahabad

दो बार रेकी के बाद अधिवक्ता पर किया गया अटैक

शातिर अपराधी अंजनी घटना से तीन दिन पहले रेकी करने गया था राजेश की गली में

24 मई 2018

Related Videos

राम मंदिर निर्माण न शुरू होने से नाराज है ये साधु, दी आत्मदाह की धमकी

पूर्व सांसद राम विलास वेदांती ने कहा है कि अगर अगले साल 26 मार्च तक राम मंदिर का निर्माण नहीं शुरू हुआ तो वो आत्महदाह कर लेंगे। राम विलास ने ये बयान गोंडा में दिया। राम विलास यहां 24 मई से शुरू हो रही श्रीमद्भागवत कथा करने आए हुए हैं।

23 मई 2018

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen