जैसे कश्मीर में पत्थर खाते हो, वैसे यहां भी पत्थर से मारे जाओगे

amarujala Updated Sun, 04 Jun 2017 10:05 PM IST
ख़बर सुनें
वजीरगंज थाने में शनिवार को अपनी बुजुर्ग मां के साथ हुई लूट की घटना की रिपोर्ट दर्ज कराने गए सेना के एक जवान के साथ एसओ वजीरगंज ने अभद्रता की। अपने बड़बोलेपन में एसओ ने यहां तक कह डाला कि कश्मीर में पत्थर खाने वालों को यहां भी पत्थर ही मिलेगा।
आरोप है कि एसओ ने न सिर्फ सैनिक को अपमानित किया बल्कि उस पर दबाव बनाकर लूट की घटना की तहरीर ही बदल दी और मामले को मारपीट में दर्ज कर लिया। रविवार को पीड़ित सैनिक ने अपनी बुजुर्ग मां के साथ समाज कल्याण मंत्री से मिलकर पुलिस की करतूत बताई और एसओे के खिलाफ कार्रवाई की मंाग की है। 

वजीरगंज थाना क्षेत्र के हथिनाग गांव के रहने वाले संतोष सिंह सेना में कार्यरत हैं। वर्तमान समय में उनकी तैनाती जम्मू कश्मीर के डोडा सेक्टर में है। संतोष सिंह का कहना है कि शनिवार को जमीन के विवाद को लेकर उनकी बुजुर्ग मां सुशीला सिंह अपने नाती हिमांशु सिंह के साथ थाना समाधान दिवस में शिकायत लेकर जा रही थी।

रास्ते में वह इंडियन आयल पेट्रोल पंप के समीप पहंची ही थी कि पीछे से बाइक पर सवार गंाव के ही तीन युवक आ धमके और उनकी बाइक में टक्कर मार दी। जब तक दोनों कुछ समझ पाते तीनों युवकों ने सुशीला व हिमांशु की पिटाई करे लगे। दोनों को पिटता देख जब सड़क से गुजर रहे राहगीर उन्हें बचाने दौड़े तो तीनों युवक भाग निकले।

आरोप है कि भागते समय युवकों ने उनकी सोने की चैन भी छीन लिया। बाइक से गिरने व युवकों की पिटाई से सुशीला व हिमांशु घायल हो गए। संतेाष सिंह ने बताया कि घटना की जानकारी मिलने पर वह अपनी मां व भतीजे को लेकर थाने पहुंचे और पुलिस को पूरी बात बताई।

संतोष सिंह का आरोप है कि वजीरगंज एसओ गोरखनाथ सरोज ने उसकी बात को सुनने के बजाय उसे ही हड़काना शुरू कर दिया। इतना ही नही एसओ ने सैनिक को कहा कि जैसे तुम कश्मीर में पत्थर खाते हो उसी तरह से यहां भी पत्थर से मारे जाओगे।

जवान संतोष का आरोप है कि एसओ ने उसे अपमानित करते हुए तहरीर बदलने के लिए दबाव बनाया और उसकी लूट की रिपोर्ट लिखने के बजाय मारपीट की मामूली धाराओं में रिपोर्ट दर्ज कर लिया। पुलिस ने घायलों का मेडिकल परीक्षण भी नही कराया। रविवार को पीड़ित जवान अपनी मां सुशीला सिंह के साथ प्रदेश के समाज कल्याण मंत्री से मिला और अपनी पीड़ा सुनाई। इसके अलावा सैनिक ने पुलिस अधीक्षक, डीआईजी व डीएम को

शिकायती पत्र भेजकर एसओ के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। थानाध्यक्ष गोरखनाथ सरोज ने बताया कि गांव के ही एक व्यक्ति से संतोष सिंह का विवाद चल रहा है। इसी मामले मे शनिवार को दोनों पक्षों का चालान किया गया था। अभद्रता का आरोप निराधार है।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News App अपने मोबाइल पे|
Get all crime news in Hindi. Stay updated with us for all breaking hindi news.

Spotlight

Most Read

National

बेटी के प्रेमी के 25 से अधिक टुकड़े कर नदी में बहाए, एक महीने बाद ऐसे हुआ खुलासा

बेटी के प्रेमी के 25 टुकड़े कर बहा दिए थे नदी में, गलती से खेत में छूटे सिर ने पुलिस को ऐसे पहुंचाया आरोपी तक.....

20 मई 2018

Related Videos

सिलेंडर फटने से लगी आग, राख हो गए तीन घर

गोंडा में सिलेंडर फटने से लगी आग में तीन घर जलकर राख हो गए। इसके अलावा एक मवेशी भी इस आग में झुलस गया। लोगों की घंटो कोशिश के बाद आग पर काबू पाया जा सका।

23 अप्रैल 2018

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen