राधाकुंड व पांडेय तालाब `2.5 करोड़ से संवरेगा

Gonda Updated Wed, 22 Jan 2014 05:46 AM IST
गोंडा (ब्यूरोे)। शहर के ऐतिहासिक राधाकुंड व पांडेय तालाब की तस्वीर बदलने के लिए जिला प्रशासन ने कवायद शुरू कर दी है। ढाई करोड़ रुपये से होने वाले सुंदरीकरण में जॉगिंग व सुबह के चाय की चुस्कियों की व्यवस्था भी होगी।
शहर के बीचोबीच स्थित राधा कुंड व मशहूर पांडेय तालाब के दिन बहुरने वाले हैं। डीएम डॉ. रोशन जैकब व नगर पालिका परिषद अध्यक्ष रूपेश कुमार श्रीवास्तव की अगुवाई में करीब दो करोड़ रुपये की लागत से राधाकुंड तालाब के सौंदर्यीकरण कार्य कराने का प्रस्ताव तैयार किया गया है। इसके तहत तालाब की चहारदीवारी बनाई जाएगी। तालाब के किनारे जॉगिंग के लिए प्लेटफॉर्म बनाया जाएगा। प्लेटफॉर्म के किनारे रेलिंग लगाई जाएगी, जहां लोग भ्रमण कर सकें। यहां लोग आराम से बैठ सकें इसके लिए राधाकुंड के किनारे कुर्सियों का निर्माण भी कराया जाएगा। सुबह जॉगिंग करने आए लोगों को चाय भी मिले इसके लिए तालाब के किनारे पर दो दुकानें बनवाई जाएंगी। राधाकुंड तालाब के बीचोंबीच फव्वारा बनाया जाएगा। इसी तरह करीब 50 लाख रुपये की लागत से पांडेय तालाब के किनारे चहारदीवारी व प्र्रकाश की व्यवस्था कराई जाएगी। सुरक्षा के लिए चहारदीवारी बनवाकर लोहे के एंगल लगवाए जाएंगे। नगर पालिका परिषद के अध्यक्ष रूपेश कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि दोनों तालाबों के सुंदरीकरण के लिए करीब ढाई करोड़ रुपये की योजना प्रस्तावित है। मंगलवार को डीएम डॉ. रोशन जैकब ने राधा कुंड व पांडेय तालाब का निरीक्षण कर उसके सुंदरीकरण के प्रस्तावित प्लान की जानकारी ली। उन्होंने नगर पालिका परिषद अध्यक्ष को सुंदरीकरण का फाइनल प्रस्ताव उन्हें भेजने को कहा।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

उन्नाव: यूपी पुलिस के हाथ लगी बड़ी सफलता, किया नकली शराब कंपनी का भंडाफोड़

लखनऊ एसटीएफ और उन्नाव पुलिस के हाथ बड़ी सफलता लगी है। दरसअल लखनऊ एसटीएफ और उन्नाव पुलिस की संयुक्त कार्रवाई में एक नकली देशी शराब बनाने वाली फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया है। इस फैक्ट्री में बनने वाली नकली शराब आसपास के कई जिलों में सप्लाई की जाती थी।

2 जनवरी 2018