... यहां तो अभी केंद्रों का प्रस्ताव ही हुआ तैयार

Gonda Updated Tue, 04 Dec 2012 05:30 AM IST
केस एक-
टूटी है चहारदीवारी
श्री गांधी विद्यालय इंटर कॉलेज रेलवे कॉलोनी बड़गांव को इस बार भी बोर्ड परीक्षा के लिए केंद्र के रूप में प्रस्तावित किया गया है। इस विद्यालय के पिछले हिस्से की चहारदीवारी करीब 200 मीटर तक क्षतिग्रस्त है। यहीं नहीं विद्यालय के कई कमरों की खिड़कियां व दरवाजे भी इसी पिछले हिस्से की चहारदीवारी क्षतिग्रस्त होने के कारण चोर चेारी कर ले गये हैं। विद्यालय के प्रधानाचार्य अवधेश चंद्र बाथम का कहना है कि इसकी जानकारी पहले ही अधिकारियों को दी जा चुकी है।

केस दो-
नहीं है बाउंड्रीवाल
मसकनवां स्थित राजकीय बालिका इंटर कॉलेज मसकनवां को भी बोर्ड परीक्षा के लिए प्रस्तावित किया गया है। शासकीय विद्यालय होने के बावजूद यह विद्यालय मानकों पर खरा नहीं उतर रहा है। यहां पर कोई चहारदीवारी नहीं है। आलम यह है कि यहां पर न तो शिक्षकों के बैठने की कोई व्यवस्था है, न ही बच्चों के। यहां की कई कक्षाओं के बच्चों को जमीन पर टाटपट्टी पर बैठकर शिक्षा ग्रहण करना पड़ रहा है। प्रभारी प्रधानाचार्या राजपता देवी का कहना है कि समस्याओं की जानकारी अधिकारियों को है।

गोंडा। माध्यमिक शिक्षा परिषद की हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की बोर्ड परीक्षा की उलटी गिनती शुरू हो चुकी है। परिषद द्वारा निर्धारित परीक्षा केंद्र चयन के कार्यक्रम के अनुसार अब तक जनपदीय परीक्षा समिति को परीक्षा केंद्रों का निर्धारण करके मंडलीय समिति को अनुमोदन के लिए सूची भेज दी जानी चाहिए थी, लेकिन अभी तक यहां पर सिर्फ प्रस्तावित परीक्षा केंद्रों की सूची जारी की गयी है। प्रस्तावित किए गए 171 केंद्रों के बारे में छह दिसंबर (हालांकि बोर्ड ने यह तिथि एक दिसंबर निर्धारित कर रखी है) तक आपत्तियां ही मांगी गयी हैं। जिससे परीक्षा केंद्रों के निर्धारण में विलंब हो सकता है। हालांकि अधिकारी कहते हैं कि तैयारियां पूरी हैं, कोई परेशानी की बात नहीं है। बोर्ड परीक्षा में इस बार हाईस्कूल के कुल 54890 व इंटरमीडिएट के 40323 परीक्षार्थी बैठ रहे हैं। पिछले वर्ष की अपेक्षा इस बार हाईस्कूल में कुल 232 बालकों व 1793 बालिकाओं का इजाफा हुआ है। वहीं पर इंटरमीडिएट में पिछले वर्ष की अपेक्षा इस बार 3502 बालक कम हुए हैं, जबकि 1933 बालिकाओं की संख्या बढ़ी है। बोर्ड परीक्षाओं को देखते हुए इस बार कुल 171 केंद्र प्रस्तावित किए गए हैं। पिछली बार कुल 151 केंद्र बनाये गये थे। इस बार पिछली बार बने केन्द्रों में से 10 केन्द्रों को हटाकर 30 नये विद्यालयों को परीक्षा केन्द्र बनाने का प्रस्ताव किया गया है। प्रस्तावित केन्द्रों पर 6 दिसंबर तक आपत्ति मांगी गयी है, वहीं पर सभी उपजिलाधिकारियों को इन केन्द्रों की जांच की जिम्मेदारी दी गयी है। बोर्ड परीक्षा में इस बार परीक्षा केन्द्र निर्धारण को लेकर जिला प्रशासन कोई भी चूक करने से बच रहा है। प्रशासन ने काली सूची वाले किसी भी विद्यालय को केन्द्र नहीं बनाया है। इसके साथ ही वर्ष 2012 की परीक्षा में दयानंद आर्य वैदिक इंटर कॉलेज वजीरगंज, ज्योति विद्या मंदिर, तिलक विद्या मंदिर, दीनदयाल अंबिका प्रसाद इंका के खिलाफ बोर्ड को कार्यवाही के लिए रिपोर्ट भेजी गयी थी, इन केन्द्रों को भी इस बार परीक्षा केन्द्र नहीं बनाया गया है। यहीं नहीं जिलाधिकारी डॉ. रोशन जैकब ने जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय पर छापेमारी तक की थी। बहरहाल प्रस्तावित केन्द्रों की जांच कर रहे अधिकारियों की मानें तो कई ऐसे विद्यालय मिले हैं, जो मानकों को नहीं पूरा कर पा रहे हैं। इसकी रिपोर्ट जिलाधिकारी को भेजी जाएगी। डीआईओएस शिवलाल का कहना है कि बोर्ड के निर्धारित कार्यक्रम के अनुरूप परीक्षा केंद्रों के निर्धारण में कुछ विलंब जरूर हुआ है, लेकिन कोई परेशानी की बात नहीं है। सारी तैयारियां पूरी हैं, जैसे ही आपत्ति एवं जांच रिपोर्ट आ जाती है, प्रक्रिया आगे बढ़ जाएगी।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी पुलिस भर्ती को लेकर युवाओं में जोश, पहले ही दिन रिकॉर्ड रजिस्ट्रेशन

यूपी पुलिस में 22 जनवरी से शुरू हुआ फॉर्म भरने का सिलसिला पहले दिन रिकॉर्ड नंबरों तक पहुंच गया।

23 जनवरी 2018

Related Videos

उन्नाव: यूपी पुलिस के हाथ लगी बड़ी सफलता, किया नकली शराब कंपनी का भंडाफोड़

लखनऊ एसटीएफ और उन्नाव पुलिस के हाथ बड़ी सफलता लगी है। दरसअल लखनऊ एसटीएफ और उन्नाव पुलिस की संयुक्त कार्रवाई में एक नकली देशी शराब बनाने वाली फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया है। इस फैक्ट्री में बनने वाली नकली शराब आसपास के कई जिलों में सप्लाई की जाती थी।

2 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper