बाढ़ के पानी से घिरे 150 मजरे

Gonda Updated Wed, 19 Sep 2012 12:00 PM IST
गोंडा। घाघरा और सरयू नदी का जलस्तर बढ़ने के साथ ही बाढ़ की त्रासदी शुरू हो गई है। तरबगंज और करनैलगंज क्षेत्र के 150 मजरे पानी से घिर गए हैं। बाढ़ के पानी के दबाव से एल्गिन ब्रिज-चरसड़ी बांध तथा भिखारीपुर-सकरौर रिंग बांध को खतरा बढ़ गया है। बाढ़ को देखते हुए प्रशासन सतर्क हो गया है। सभी बाढ़ चौकियां अलर्ट कर दी गई हैं। घाघरा नदी एल्गिन ब्रिज पर मंगलवार की शाम छह बजे खतरे के निशान 106.07 मीटर के सापेक्ष 107.19 मीटर पर पहुंच गई, जो लाल निशान से एक मीटर 12 सेमी. ऊपर है। सरयू अयोध्या में खतरे के निशान 92.73 मीटर के सापेक्ष 93.15 मीटर पर पहुंच गई, जो खतरे के निशान से 42 सेमी. ऊपर बह रही है। बाढ़ कंट्रोल रूम के अनुसार घाघरा में मंगलवार को 190036 क्यूसेक पानी डिस्चार्ज हो रहा था। घाघरा और सरयू में बढ़ रहे जलस्तर से तरबगंज के 12 गांव बाढ़ के पानी से घिर गए हैं। जबकि करनैलगंज के तीन गांव पानी से घिरे हैं। प्रशासन ने तरबगंज में बाढ़ प्रभावित गांवों के लिए 125 नावें तथा करनैलगंज में चार नावें लगा दी हैं। बाढ़ के पानी से तरबगंज व करनैलगंज क्षेत्र के दुर्गागंज, माझाराठ, जैतपुर, दुल्लापुर, महेशपुर, साकीपुर, दत्तनगर, गोकुला, तुलसीपुर, रांगी, पटपरगंज, गोपसराय आदि ग्रामों के 150 मजरे घिर गए हैं और खेतों में पानी भर गया है। गोपसराय के रामनाथ सिंह, छट्ठीलाल, बनगांव के सुरेश सिंह, घांचा के चिंतामणि पाण्डेय ने बताया कि गांव के आसपास फसल भी पानी में डूब गई है। तरबगंज के तहसीलदार डॉ. केएस पाण्डेय ने बताया कि बाढ़ के पानी से 12 गांवों के कई मजरे पानी से घिर गए हैं। ग्रामवासियों की सुविधा के लिए 125 नावें लगा दी गई हैं। जरूरत पड़ने पर नावें बढ़ा दी जाएंगी।
इसी तरह करनैलगंज तहसील क्षेत्र के चंदापुर किटौली के तीन गांव धुसवा, पसियनपुरवा, लोनियनपुरवा बाढ़ के पानी से घिर गए हैं। उप जिलाधिकारी करनैलगज केपी श्रीवास्तव ने बताया कि इन गांवों के लोगों की सुविधा के लिए चार नावें लगा दी गई हैं। घाघरा और सरयू के बढ़ रहे जलस्तर से एल्गिन ब्रिज-चरसड़ी बांध और भिखारीपुर-सकरौर रिंग बांध को खतरा बढ़ गया है। प्रशासन ने सभी बाढ़ चौकियों को सतर्क कर दिया है। जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी मो. गफ्फार हुमायूं ने बताया कि दोनों बांध सुरक्षित हैं। इन पर पूरी नजर रखी जा रही है।

जरूरत पड़ी तो आएगी एनडीआरएफ
अपर जिलाधिकारी सीपीएन उपाध्याय ने कहा कि घाघरा और सरयू का जलस्तर लगातार बढ़ रहा है। कुछ गांवों के आसपास खेतों में पानी भर गया है। नावें लगा दी गई हैं। उन्होंने बताया कि अभी ऐसी बाढ़ नहीं है कि एनडीआरएफ की जरूरत पड़े। यदि जरूरत पड़ी तो एनडीआरएफ फिर आ जाएगी। उन्होंने बताया कि जनपद में एनडीआरएफ लोगों को आपदा से राहत और बचाव का प्रशिक्षण देने के लिए आई थी। उसे 15 सितंबर तक जनपद में रुककर प्रशिक्षण देना था। परंतु कजरी तीज मेले को देखते हुए उसे 18 सितंबर तक रोका गया था, जो अभी है। उसे आगे रोकने का कोई विचार नहीं है। बाढ़ से निपटने के लिए पीएसी की फ्लड यूनिट तैनात है।

Spotlight

Most Read

Madhya Pradesh

मध्यप्रदेश: कांग्रेस ने लहराया परचम, 24 में से 20 वॉर्ड पर कब्जा

मध्यप्रदेश के राघोगढ़ में हुए नगर पालिका चुनाव में कांग्रेस को 20 वार्डों में जीत हासिल हुई है।

20 जनवरी 2018

Related Videos

उन्नाव: यूपी पुलिस के हाथ लगी बड़ी सफलता, किया नकली शराब कंपनी का भंडाफोड़

लखनऊ एसटीएफ और उन्नाव पुलिस के हाथ बड़ी सफलता लगी है। दरसअल लखनऊ एसटीएफ और उन्नाव पुलिस की संयुक्त कार्रवाई में एक नकली देशी शराब बनाने वाली फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया है। इस फैक्ट्री में बनने वाली नकली शराब आसपास के कई जिलों में सप्लाई की जाती थी।

2 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper