36 करोड़ की बकाएदारी में एफसीआई का दफ्तर सील

Gonda Updated Tue, 14 Aug 2012 12:00 PM IST
गोंडा। 36 करोड़ रुपए सेल्स टैक्स बकाया होने के मामले में सोमवार को नायब तहसीलदार रत्नेश कुमार की टीम ने एफसीआई दफ्तर पर ताला लगाकर उसे सील कर दिया। तहसील प्रशासन की एफसीआई दफ्तर को सील करने की यह कार्रवाई पिछले डेढ़ वर्षों से चल रही थी, लेकिन अभी तक किन्हीं न किन्हीं कारणों से एफसीआई अधिकारी इससे अपना बचाव करते रहे। सोमवार को इस मामले में शासन स्तर से पड़े दबाव के बाद वसूली टीम ने दफ्तर पर ताला लगाकर उसे सील कर दिया। जिसके बाद से एफसीआई अधिकारियों में खलबली मची हुई है। वहीं एक संभावना यह भी जाहिर की जा रही है कि जल्द ही इस मामले में एफसीआई के कई अधिकारी निलंबित किए जा सकते हैं। गौरतलब है कि भारतीय खाद्य निगम की स्थानीय इकाई ने पिछले तीन वर्षों का अपना सेल्स टैक्स नहीं जमा किया है जिसका उसके ऊपर तकरीबन 36 करोड़ रुपए बकाया है। पिछले वर्ष भी इसी बकाएदारी के मामले में तहसील प्रशासन का शिकंजा उसके ऊपर कसा था लेकिन उस समय निगम के तत्कालीन एरिया मैनेजर अशोक सिंह ने जिलाधिकारी से कुछ समय की मोहलत मांग कर जैसे-तैसे इस मामले को कुछ दिनों के लिए टलवा दिया था। उस समय निगम के ऊपर सेल्स टैक्स का 24 करोड़ रुपए बकाया था। जो मौजूदा समय में अब बढ़कर 36 करोड़ रुपए हो गया है। ऐसी स्थिति में इतनी बड़ी रकम बकाएदारी में पड़ी होने की भनक जब शासन को लगी तो उसने वसूली टीम पर शिकंजा कसते हुए हर हाल में इसकी वसूली किए जाने के आदेश दे दिए। सोमवार को सुबह 10 बजे जैसे ही गोंडा-लखनऊ रोड पर एलबीएस कॉलेज के निकट स्थित एफसीआई का दफ्तर खुला, वैसे ही नायब तहसीलदार रत्नेश कुमार के नेतृत्व में वसूली टीम दफ्तर पहुंच गई जहां टीम के लोगों ने एफसीआई के अधिकारियों से वसूली की रकम और उससे सम्बंधित दस्तावेज मांगे लेकिन जब काफी देर तक उसे न दस्तावेज मिले, न ही रकम से सम्बंधित चेक, तो उसने आनन-फानन में एफसीआई दफ्तर में काम कर रहे अधिकारियों व कर्मचारियों को दफ्तर से बाहर निकलने की बात कहते हुए इसके गेट पर ताला लगाकर इसे सील कर दिया। वसूली टीम में शामिल विष्णु यादव ने बताया कि एफसीआई ने पिछले तीन वर्षों वर्ष 2008 से लेकर वर्ष 2010-11 तक का सेल्स टैक्स नहीं जमा किया है जिसका उसके ऊपर कुल 36 करोड़ रुपए बकाया है। वहीं नायब तहसीलदार रत्नेश कुमार ने बताया कि 36 करोड़ रुपए की बकाएदारी एफसीआई पर होने के कारण उसका दफ्तर सील किया गया है। उधर दफ्तर सील होने के बाद इस मामले में कई बार एफसीआई अधिकारी से बात करने की कोशिश की गई मगर उनसे सम्पर्क नहीं हो सका। सूत्रों की मानें तो इस मामले में एफसीआई के कई अधिकारियों पर निलंबन की गाज गिर सकती है।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी में नौकरियों का रास्ता खुला, अधीनस्‍थ सेवा चयन आयोग का हुआ गठन

सीएम योगी की मंजूरी के बाद सोमवार को मुख्यसचिव राजीव कुमार ने अधीनस्‍थ सेवा चयन बोर्ड का गठन कर दिया।

22 जनवरी 2018

Related Videos

उन्नाव: यूपी पुलिस के हाथ लगी बड़ी सफलता, किया नकली शराब कंपनी का भंडाफोड़

लखनऊ एसटीएफ और उन्नाव पुलिस के हाथ बड़ी सफलता लगी है। दरसअल लखनऊ एसटीएफ और उन्नाव पुलिस की संयुक्त कार्रवाई में एक नकली देशी शराब बनाने वाली फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया है। इस फैक्ट्री में बनने वाली नकली शराब आसपास के कई जिलों में सप्लाई की जाती थी।

2 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper