पांच वर्ष बाद 600 परिवारों को मिलेगा उम्मीदों का आसरा

Lucknow Bureau Updated Sun, 14 Jan 2018 09:49 PM IST
पांच साल बाद मिलेगा शहरी गरीबों को आवास का आसरा

गोंडा। करीब पांच साल बाद शहर में रहने वाले गरीब परिवारों को छत नसीब होगी। जिले में आसरा आवास योजना के तहत बनकर तैयार 600 आसरा आवासों के आवंटन का रास्ता साफ हो गया है। पांच साल पहले सपा सरकार ने कांशीराम आवास योजना का नाम बदलकर इस योजना का शुभारंभ किया था।

मगर पहले तो बजट के अभाव में यह योजना निर्धारित समय में पूरी नहीं हो सकी और जब पूरी हुई तो सपा नेताओं की आपसी खींचतान ने इसका आवंटन अटका दिया। अब डीएम ने इसके आवंटन की पहल की है। अब 30 जनवरी को इसका आवंटन होगा।

गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले शहरी गरीबों को पक्का मकान उपलब्ध कराए जाने के उददेश्य से तत्कालीन सपा सरकार ने वित्तीय वर्ष 2012-13 में आसरा आवास योजना का शुभारंभ किया था। इस योजना के तहत जिले को 600 आसरा आवासों के निर्माण कराने का लक्ष्य तय किया गया था।

इसके लिए तत्कालीन सपा सरकार ने 28 करोड़ रुपये की धनराशि स्वीकृत करते हुए धनराशि जारी किया था। वर्ष 2015 में इसके निर्माण को पूरा कराकर इसके आवंटन की समय सीमा निर्धारित की गई थी मगर बजट के अभाव में निर्धारित समय सीमा के भीतर सभी आवास बनकर तैयार नहीं हो पाए जिससे इसका आवंटन नहीं हो सका था।

वर्ष 2016 में आधे अधूरे आवासों को आवंटित करने की प्रक्रिया की शुरुवात की गई मगर सपा के नेताओं की आपसी खींचतान के बाद आवंटन प्रक्रिया उलझ गई और आवंटन अटक गया। आवंटन अटकने से इस योजना के तहत आवेदन करने वाले गरीब निराश हो चुके थे।

जिलाधिकारी ने इन आसरा आवासों के आवंटन की पहल की है। डीएम जेबी सिंह ने 30 जनवरी को आसरा आवास के आवंटन का ऐलान किया है और डूडा के अफसरों को तैयारी करने के निर्देश दिए हैं। डीएम की इस पहल ने आवंटन का इंताजार कर रहे इन आवेदको की उम्मीदों को पंख लगा दिए हैं।

गोंडा। आसरा आवास के निर्माण के जिम्मेदारी सीएनडीएस को सौंपी गई थी। बीच में बजट के अभाव में जरूर इसके निर्माण में विलंब हुआ मगर बजट मिलने के बाद संस्था ने अधूरे पड़े निर्माण कार्य को पूरा दिया है। डूडा के परियोजना अधिकारी का कहना है कि निर्माण में मानकों का पूरा ख्याल रखा गया है।

18 वर्ग मीटर में बनाए गए एक आसरा आवास की लागत करीब 3.75 लाख रुपये है। एक कमरे के इस फ्लैट में किचन, शौचालय व एक छोटी सी बालकनी भी दी गई है। स्वच्छ पेयजल उपलब्ध कराने के लिए पानी की टंकी का भी निर्माण कराया गया है।

वर्ष 2016 में बनकर तैयार हो चुके 288 आवासों के आवंटन की प्रक्रिया शुरू की गई थी। आवंटन की प्रक्रिया को पूरा भी कर लिया गया था और तरीखों का ऐलान भी हो चुका था मगर आवासों की रजिस्ट्री में लगने वाले शुल्क के अदायगी को लेकर मामला फंस गया था और तत्कालीन जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने आवंटन तिथि के एक दिन पहले इसके आवंटन पर रोक लगा दी थी।

आसरा आवास योजना के तहत करीब सात हजार लोगों ने आवेदन किया था जिसमें से लक्ष्य के मुताबिक 600 परिवारों को आवास देने के लिए चयनित किया गया है। इन्हे आवास आवंटित करने की प्रकिया पूरी कर ली गई है। 30 जनवरी का जिलाधिकारी इन आवासों का आवंटन करेंगे।
वीएस शुक्ला, परियोजना अधिकारी डूडा

Spotlight

Most Read

Lucknow

अखिलेश यादव का तंज, ...ताकि पकौड़ा तलने को नौकरी के बराबर मानें लोग

यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने केंद्रीय मंत्री सत्यपाल सिंह पर निशाना साधा और कहा कि भाजपा देश की सोच को अवैज्ञानिक बताना चाहती है।

22 जनवरी 2018

Related Videos

उन्नाव: यूपी पुलिस के हाथ लगी बड़ी सफलता, किया नकली शराब कंपनी का भंडाफोड़

लखनऊ एसटीएफ और उन्नाव पुलिस के हाथ बड़ी सफलता लगी है। दरसअल लखनऊ एसटीएफ और उन्नाव पुलिस की संयुक्त कार्रवाई में एक नकली देशी शराब बनाने वाली फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया है। इस फैक्ट्री में बनने वाली नकली शराब आसपास के कई जिलों में सप्लाई की जाती थी।

2 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper