बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

घरों में घुसा बाढ़ का पानी, पशुओं समेत पलायन करने लगे लोग

Varanasi Bureau वाराणसी ब्यूरो
Updated Thu, 01 Oct 2020 10:36 PM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
गाजीपुर। जनपद की प्रमुख नदी गंगा में बाढ़ का खतरा भले टल चुका हो, लेकिन सहायक नदियों ने कहर बरपाना शुरु कर दिया है। कई छोटी नदियां उफान पर हैं, जिसकी वजह से करीब 24 गांव बाढ़ के पानी से घिर गए हैं। भैंसही और मंगई नदी के जलस्तर में आई तेजी ने दुल्लहपुर क्षेत्र के कई गांवों के लोगों का जनजीवन अस्तव्यसत कर दिया है। घरों में पानी घुस गया है और सड़कों पर भी पानी आ जाने से आवागमन प्रभावित होने लगा है। ऐसे में लोग पशुओं के साथ सुरक्षित स्थानों की ओर पलायन करने लगे है। दुल्लहपुर : क्षेत्र के हरदासपुर कला गांव जखनियां ब्लाक का मऊ जिला का सीमावर्ती गांव है। यहां से भैंसही नदी गुजरती है। जलस्तर अचानक बढ़ जाने से आधा गांव पानी की जद में है। फसलें जलमग्न हो गई है तथा 24 घरों में पानी भर गया है। लोग सामान समेट कर पशुओं के साथ पलायन कर रहे हैं। कुछ लोग खुले आसमान के नीचे आ गए है। जबकि कुछ पराशर गिरी ब्रह्म बाबा के धार्मिक स्थान पर शरण लिए हैं। इधर नायकडीह-मऊ मार्ग पानी आने से बंद हो गया है। मऊ जाने के लिए दूसरे रास्तों का इस्तेमाल किया जा रहा। हरदासपुर कला गांव के रामबचन पाल तथा रामधारी पाल का खेत और मकान पानी की जद में है। वहीं शिव प्रसाद चौहान, चंद्रदीप चौहान, बीरबल चौहान, गुड्डू चौहान, गोपाल चौहान, तिलकधारी चौहान, छोटू शर्मा घर में पानी भर जाने से सड़क पर तिरपाल डालकर रह रहे हैं। बीरबल की धान की खड़ी फसल डूब चुकी है। हरदासपुर कला के दूसरी तरफ रहने वाले कमलेश पाल, सर्वेश पाल, रामदास पाल, नगीना शर्मा, जनार्दन यादव, गोरख यादव, सुरेश्वरी देवी, राम सोच यादव आदि की फसलें भी डूबी हैं। बाढ़ प्रभावित अधिकतर भूखमरी की कगार पर पहुंच गए हैं।
विज्ञापन

जखनिया : दुल्लहपुर के बीच बहने वाली मंगई नदी का तेवर तीन दिन बाद थोड़ा नरम हुआ है लेकिन स्थिति में कोई खास राहत नहीं है। फसलों में पानी जमा हुआ है। रेवरिया के राम अशीष यादव, दयानंद यादव, रामप्रीत यादव, चंद्रकेश यादव ,योगेश यादव, बृजेश यादव, प्रवीण राम, देवनाथ राम, मधु यादव, सुरेश निषाद, दिल्लू निषाद, रामसूरत राजभर, राम नगीना राजभर, काशी यादव, तेजू यादव, गामा यादव, रामजन्म यादव, शिवदास यादव, लालजी यादव, बिहारी यादव सहित करीब 85 किसानों की फसल पानी में डूब कर खराब हो चुकी हैं।

बहरियाबाद : उदन्ती नदी का कहर जारी है। क्षेत्र के दर्जनों किसानों की सैकड़ों एकड़ फसलें जलमग्न है। भंवरूपुर, भरतपुर, कबीरपुर, चकफरीद, चकसदर, चकखिजिर, उकरांव, उनरापुर, आसपुर, झंगिया, टाड़ा बैरख, डोरा आदि गांवों के किसानों की हालत खराब है।
ताजपुर डेहमा : टोंस नदी के पानी से हरिनरायण के डेरा के पास की सड़क जलमग्न होने से रास्ता बंद है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us