कोतवाल के खिलाफ फूटा गुस्सा

Ghazipur Updated Sun, 23 Dec 2012 05:30 AM IST
गाजीपुर। पीजी कालेज छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष पंकज उपाध्याय तथा श्यामराज तिवारी को गिरफ्तार कर कोतवाली में उनकी बर्बर पिटाई किए जाने का आरोप लगाते हुए शनिवार को पीजी कालेज के छात्रों का गुस्सा फूट पड़ा। छात्र नेताओं की रिहाई, झूठे मुकदमे को स्पंज करने तथा आरोपी कोतवाल को बर्खास्त या फिर तत्काल प्रभाव से निलंबित करने की मांग को लेकर एसपी से मिलने आए छात्रों के हुजूम को जब पुलिस आफिस के गेट पर सुरक्षाकर्मियों ने रोक दिया तो छात्र आंदोलित हो गए। इसे लेकर पुलिस प्रशासन और छात्रों के बीच काफी देर जिच हुई।
छात्र नेताओं की गिरफ्तारी और कोतवाली में उनकी बेरहमी से की गई पिटाई को लेकर शनिवार की सुबह से ही छात्रों में जबरदस्त गुस्सा व्याप्त था। करीब दस बजे पीजी कालेज के छात्र लामबंद होनेे लगे। इसके बाद जुलूस की शक्ल में छात्र नारेबाजी करते हुए कचहरी स्थित पुलिस आफिस के लिए कूच किए। पुलिस आफिस के गेट मौजूद सुरक्षाकर्मियों ने छात्रों को पुलिस आफिस के अंदर घुसने से मना किया तो छात्रों का गुस्सा सातवें आसमान पर पहुंच गया। आंदोलित छात्र पुलिस प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करनेे लगे। छात्र नेता कमलेश पांडेय का कहना था कि कोतवाली पुलिस ने झूठेे आरोप में छात्र नेता पंकज उपाध्याय तथा उनके साथी छात्र नेता श्यामराज तिवारी को गिरफ्तार कर उनके ऊपर मुकदमा थोपा है। राजेंद्र यादव राणा का कहना था कि छात्र नेताओं की रिहाई करते हुए उनका मुकदमा वापस लिया जाए। छात्र नेता अभिषेक सिंह मंटू ने कहा कि पूर्व में कोतवाली के प्रभारी रहे शशिमौलि पांडेय को दोबारा से कोतवाली का कोतवाल बनाया जाए। इसी बीच दिल्ली में हुए गैंगरेप के खिलाफ प्रदर्शन कर सहजानंद पीजी कालेज के छात्र और छात्राआें का हुजूम भी मौके पर पहुंच गया और वे भी संग हो गईं। इसपर एसडीएम सदर ने वार्ता के लिए छात्राें को बुलाने का प्रयास किया लेकिन छात्रों ने उनकी पेशकश ठुकरा दी। बाद में एसडीएम सदर अमित किशोर और प्रभारी सीओ सिटी शंकर प्रसाद मौके पर पहुंचे और छात्रों को समझाने का प्रयास किया। लेकिन टकराव की स्थिति पैदा हो गई। सुरक्षाकर्मियों ने कड़ी मशक्कत करके हालात पर काबू पाया। एसडीएम के कहने पर छात्र धरने से उठकर सरजू पांडेय पार्क में पहुंच गए। यहां काफी देर तक जहां छात्रों ने नारेबाजी की। इस मौके पर अभिषेक सिंह, दिवाकर सिंह, विकास राय, रणजीत राय, पीयूष कुमार राय, देवेन्द्र कुमार, समीर, भारत राय, शनि चौरसिया, विवेकानंद पांडेय, खामिस अख्तर, पूनम तिवारी, सुलेखा यादव, अमृता यादव, शिखा राय, रीना आदि समेत बड़ी संख्या में छात्र छात्राएं मौजूद रही। वहीं छात्रों के आरोपों को पुलिस प्रशासन के अधिकारी सिरे से खारिज कर रहेे थे। कोतवाल संतलाल यादव का कहना था कि पकड़े गए छात्र नेताओं ने सुरक्षा में मुस्तैद सिपाही के साथ अभद्र व्यवहार किया। लिहाजा पुलिस को सख्त कदम उठाना पड़ा। बाद में छात्रों ने एसडीएम को मांगों से संबंधित पत्रक दिया। छात्रों का कहना है कि कोतवाल के खिलाफ कार्रवाई की संस्तुति रिपोर्ट उच्चाधिकारियों को देने के आश्वासन पर आंदोलन को समाप्त कर दिया गया।

Spotlight

Most Read

Meerut

दो सगी बहनों से साढ़े चार साल तक गैंगरेप, घर लौट आई एक बेटी ने सुनाई आपबीती

दो बहनों का अपहरण कर तीन लोगों ने साढ़े चार वर्ष तक उनके साथ गैंगरेप किया। एक पीड़िता आरोपियों की चंगुल से निकल कर घर लौट आई। उसने परिवार को आपबीती सुनाई।

21 जनवरी 2018

Related Videos

कोहरे ने लगाया ऐसा ब्रेक, एक के बाद एक भिड़ीं कई गाड़ियां

वाराणसी-इलाहाबाद राजमार्ग पर गुरुवार को घने कोहरे के बीच दो एक सड़क हादसा हो गया। कोहरे की वजह से विजिबिलिटी कम होने पर एक के बाद एक चार गाड़ियां एक-दूसरे से टकरा गईं। इस हादसे में चार लोगों के घायल होने की भी खबर है।

21 दिसंबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper