गांव से शहर तक गूंजीं या हुसैन की सदाएं

Ghazipur Updated Mon, 26 Nov 2012 12:00 PM IST
गाजीपुर। मोहर्रम पर्व पर रविवार को शहर सहित जिले के विभिन्न हिस्सों में या हुसैन की सदाएं गूंजती रहीं। जगह-जगह से ताजिए निकाले गए। बाद में उन्हें कर्बला में दफन किया गया। जुलूस के दौरान लोगों ने हसन एवं हुसैन को याद करते हुए मातमपुर्सी की। नखास स्थित लकड़ी के टाल एवं रजदेपुर पुलिस चौकी के पास ताजियों की मिलनी का कार्यक्रम संपन्न हुआ। भोर तक ताजियों को दफन करने का कार्य चलता रहा।
शहर सहित कई ग्रामीण क्षेत्रों का ताजिया जुलूस शहर के विशेश्वरगंज स्थित इमामबाड़े में पहुंचा। जुलूस में शामिल लोग या हुसैन की सदाएं तथा मातम करते चल रहे थे। इसके बाद बारी-बारी से ताजिए का दफन किया गया। महाराजगंज में भी ताजिया का जुलूस निकाला गया। जुलूस में सिकंदर अली, इरशाद अली, मो. असलम, सद्दाम हुसैन, मो. नौशाद, अफजाल, मो. सरफुद्दीन, सैयद अली, सज्जाद, सेराज अली, मो. इस्लाम, मो. अजहरुद्दीन आदि मातम करते चल रहे थे। मुहम्मदाबाद संवाददाता के अनुसार नगर में ताजिया जुलूस बड़े पैमाने पर निकाला गया। कई ताजियों को शहनिंदा के इमामबाड़े में दफनाया गया। यूसुफफुर बाजार, स्टेशन सहित अदिलाबाद क्षेत्र के ग्रामीण इलाकों के ताजिए के जुलूस यूसुफपुर स्थित कर्बला में ही दफन किए गए। दो-तीन स्थानों पर मिलनी कार्यक्रम आयोजित किया गया। यूसुफपुर गुड़ मंडी के पास तिराहे पर ऐतिहासिक लट्ठ लाठी संपन्न हुई, जिसे देखने के लिए भारी संख्या में लोग जुटे रहे। दिलदारनगर/भदौरा संवाददाता के अनुसार उसिया, सेवराई, देवैथा सहित ग्रामीण इलाकों ताजिए का जुलूस निकाला गया। कई स्थानों पर मिलनी का कार्यक्रम संपन्न हुआ। बाराचवर के माटा, कामूपुर, नरायनपुर, मौरा, सिउरी अमहट में भी जुलूस निकाले गए, जिसमें आकर्षक ढंग से ताजियों को सजाया गया था। शामिल लोग या हुसैन के सदाएं बुलंद करते तथा मातम करते चल रहे थे। बहरियाबाद में कसबा सहित क्षेत्र के विभिन्न गांवों मखदूमपुर, मलिकन गांव, झोटना, दरगाह, देईपुर, पलिवार से विभिन्न चौक पर ताजिए रखे गए।
मातम, नौहाख्वानी एवं जुलूस का सिलसिला दिनभर चलता रहा। दोपहर में कसबा में उत्तर और दक्षिण मुहल्ला के ताजिए जामा मस्जिद एवं इस्लामिया स्कूल परिसर में रखे गए। इसके बाद दोनों मुहल्ले से पुन: जुलूस निकला। युवकों ने युद्ध कला का प्रदर्शन किया। देर रात तक ताजियों के दफन के कार्य चलता रहा। जुलूस में मुंतदीर इमाम, बादशाह, शहंशाह, शमीमुलवरा, दानिश, सलीम अंसारी, नजर इमाम, खुर्शीद, मुर्शीद, नेसार अहमद, शादाब, अफसर इमाम, मसीउद्दीन, आफताब, हेसामुद्दीन, रेयाज, रमेश जायसवाल, श्यामसुंदर जायसवाल, शहजादे, नबी हसन आदि शामिल थे। थानाध्यक्ष राहुल शुक्ला पुलिस और पीएससी के साथ तैनात थे। करीमुद्दीनपुर क्षेत्र में उतरांव, असावर, दुबिहा मोड़, राजपुर, महेंद, कामूपुर, सखिया, बथोर तथा करीमुद्दीनपुर बाजार में भी जुलूस निकाला गया और मिलनी का कार्यक्रम आयोजित किया गया।
मतसा क्षेत्र के खिदिरपुर, मतसा, बेटाबर, दुरहिया कसबा पठानटोली सहित अन्य क्षेत्र में ताजिया का जुलूस निकाला गया। जमानिया नगर क्षेत्र तथा स्टेशन बाजार से ताजिए के कई जुलूस निकाले गए। जुलूस में शामिल लोग मातम करते चल रहे थे। सैदपुर: नगर में ताजिए का जुलूस विभिन्न मुहल्लों से निकाला गया।
ग्रामीण इलाकों के ताजिए भी नगर क्षेत्र में ही दफन किए गए। भांवरकोल के मछटी, पखनपुरा सहित कई ग्रामीण इलाकों के ताजिए का जुलूस पखनपुरा स्थित इमामबाड़े में दफन के लिए पहुंचे। ग्रामीण इलाके के ताजियों को इमामबाड़े में दफन किया गया। सिधागरघाट संवाददाता के अनुसार क्षेत्र के पाली, अवराकोल, दुर्गा स्थान आदि जगहों पर ताजिए निकाले गए। बाद में उन्हें दफन किया गया। इसके अलावा शादियाबाद, जंगीपुर, नंदगंज, बिरनो, दुल्लहपुर आदि ग्रमीण इलाकों में ताजिए का जुलूस निकाला गया।

Spotlight

Most Read

National

2019 में कांग्रेस के साथ मिलकर चुनाव नहीं लड़ेगी CPM

महासचिव सीताराम येचुरी की ओर से पेश मसौदे में भाजपा के खिलाफ लड़ाई में कांग्रेस समेत तमाम धर्मनिरपेक्ष दलों को साथ लेकर एक वाम लोकतांत्रिक मोर्चा बनाने की बात कही गई थी।

22 जनवरी 2018

Related Videos

कोहरे ने लगाया ऐसा ब्रेक, एक के बाद एक भिड़ीं कई गाड़ियां

वाराणसी-इलाहाबाद राजमार्ग पर गुरुवार को घने कोहरे के बीच दो एक सड़क हादसा हो गया। कोहरे की वजह से विजिबिलिटी कम होने पर एक के बाद एक चार गाड़ियां एक-दूसरे से टकरा गईं। इस हादसे में चार लोगों के घायल होने की भी खबर है।

21 दिसंबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper