खतौनी मांगने पर वकील पर हमला

Ghazipur Updated Thu, 01 Nov 2012 12:00 PM IST
जमानिया। तहसील में बुधवार की दोपहर खतौनी मांगने पर वहां कार्यरत निजी वेंडरों ने अधिवक्ता प्रमोद कुमार पांडेय पर हमला बोल दिया। मारपीट करते हुए वेंडरों ने उनके गले से सोने की चेन लूट ली। इससे खफा अधिवक्ताओं ने एसडीएम तथा तहसीलदार कोर्ट की खिड़कियों में तोड़फोड़ की। इसको लेकर कचहरी का माहौल काफी देर तक अशांत रहा। इस मामले में पीड़ित अधिवक्ता की तहरीर पर पुलिस ने चार आरोपी वेंडरों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।
कचहरी स्थित कंप्यूटर कक्ष में बुधवार को खतौनी के लिए तमाम लोग आए थे। दोपहर करीब साढ़े 11 बजे कचहरी के अधिवक्ता प्रमोद कुमार पांडेय खतौनी लेने वहां पहुंचे। इसपर यहां काम कर रहे निजी वेंडरों से उनकी कहासुनी शुरू हो गई। मामले ने इस कदर तूल पकड़ा कि अधिवक्ता के साथ मारपीट भी शुरू हो गई। इसपर साथी अधिवक्ता की पिटाई से क्षुब्ध अधिवक्ताओं ने तहसील में जमकर हंगामा किया। यही नहीं कंप्यूटर कक्ष के साथ ही एसडीएम व तहसीलदार के कोर्ट की खिड़कियाें को भी तोड़ दिया और एसडीएम तहसीलदार के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी। एसडीएम कैलाश सिंह ने अधिवक्ताआें को मनाने की कोशिश की लेकिन उनका गुस्सा शांत नहीं हुआ। हंगामे की सूचना मिलने पर पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे क्षेत्राधिकारी कमल किशोर ने भी अधिवक्ताआें को समझाने का प्रयास किया लेकिन अधिवक्ता निजी कर्मचारियाें को हटाने तथा उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की मांग पर अड़े रहे। तनाव बढ़ता देख क्षेत्राधिकारी ने सर्किल के सभी थाना प्रभारियाें को पुलिस बल के साथ मौके पर बुलवा लिया। पीड़ित अधिवक्ता प्रमोद कुमार पांडेय ने आरोप लगाया कि जब वह खतौनी लेने के लिए कंप्यूटर कक्ष पर पहुंचे तो वहां रुपया ले कर दूसरे लोगाें को तत्काल खतौनी दिया जा रहा था। जब मैंने खतौनी की मांग की तो वहां मौजूद निजी वेंडर अजीत, उमेश आदि ने गाली गलौज शुरू कर दी। विरोध करने पर उन्हें कमरे में बंद कर मारने पीटने लगे। वहीं तहसील में संविदा पर तैनात वेंडर अजीत, उमेश, राज कपूर उर्फ पप्पू तथा शिव मूरत का आरोप था कि कंप्यूटर कक्ष में अनाधिकृत व्यक्ति का आना वर्जित है। पर श्री पांडेय जबरदस्ती अंदर घुस गए और खतौनी मांगने लगे। असमर्थता जताने पर उन्होंने बदसलूकी और हाथापाई भी किया। वहीं इस घटना के बाद बार एसोसिएशन की बैठक बार भवन मे आहूत की गई, जिसमें अधिवक्ता प्रमोद के साथ मारपीट की घटना की कड़ी निंदा की गयी। अधिवक्ताआें ने कंप्यूटर कक्ष से निजी कर्मचारियों को हटाने तथा अन्य कार्यालयाें में तैनात कर्मचारियाें को भी हटाने की मांग की। कहा गया कि जब तक मांग पूरी नहीं होगी, तब तक न्यायालयाें का बहिष्कार जारी रहेगा। वहीं पुलिस की एक पक्षीय कार्यवाही पर आरोपी तथा उनके समर्थक सवालिया निशान लगा रहे थे। इस संबंध में कोतवाल डीपी सिंह ने बताया कि अधिवक्ता की तहरीर पर आरोपी वेंडरों अजीत, उमेश, राज कपूर, शिव मूरत के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।

Spotlight

Most Read

Delhi NCR

फुल ड्रेस रिहर्सल आज, यातायात में होगी दिक्कत, कई जगह मिल सकता है जाम

सुबह 10:30 से दोपहर 12 बजे तक ट्रेनों का संचालन नहीं किया जाएगा। कई ट्रेनें मार्ग में रोककर चलाई जाएंगी तो कई आंशिक रूप से निरस्त रहेंगी।

23 जनवरी 2018

Related Videos

कोहरे ने लगाया ऐसा ब्रेक, एक के बाद एक भिड़ीं कई गाड़ियां

वाराणसी-इलाहाबाद राजमार्ग पर गुरुवार को घने कोहरे के बीच दो एक सड़क हादसा हो गया। कोहरे की वजह से विजिबिलिटी कम होने पर एक के बाद एक चार गाड़ियां एक-दूसरे से टकरा गईं। इस हादसे में चार लोगों के घायल होने की भी खबर है।

21 दिसंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper