हे बचवा! हमका मुख्तार से मिला द

Ghazipur Updated Mon, 24 Sep 2012 12:00 PM IST
गाजीपुर। उम्र करीब 80 वर्ष। चेहरे पर झुर्री। तन की चमड़ी सिकुड़ी हुई। पैर में फटी बिवाई और चप्पल नदारद। मटमैली धोती से ढका तन और पके बाल। आंख में आंसू और वाणी में बेचारगी के साथ हे बचवा हमका मुख्तार से मिला द... का बार-बार अनुरोध। यह हाल था पीरनगर की वृद्धा संपतिया देवी का, जो कड़ी धूप में पैदल चलकर किसी तरह रविवार को जिला जेल के गेट पर पहुंची थी। वह आतुर थी जेल में ठहरे मऊ विधायक मुख्तार अंसारी की एक झलक पाने को। इसके लिए वह बंदी रक्षकों से गिड़गिड़ाई, फफक-फफक कर रोई लेकिन घंटों इंतजार के बाद उसे मन मसोस कर घर जाना पड़ा। वह अथक प्रयास के बाद भी मुख्तार का दीदार नहीं कर सकी।
रविवार की दोपहर, समय करीब 12 बजे। जेल पर सुरक्षाकर्मियों की फौज मुस्तैद खड़ी थी। सबकी निगाहें चौकन्ना थीं और कड़ी धूप से हर कोई पसीने से तर-बतर था लेकिन सुरक्षा के चलते कोई पुलिसकर्मी अपनी जगह से टस से मस नहीं हो रहा था। मुलाकाती लाइन लगाए हुए थे तो उनकी गतिविधियां वीडियो कैमरे में कैद की जा रही थी। कुछ महिला मुलाकातियों के साथ उनके नन्हें-मुन्ने बच्चे भी थे। इसी समय पीरनगर की अस्सी वर्षीया संपतिया देवी लड़खड़ाते हुए जेल गेट पर धमक पड़ी। उस पर नजर पड़ते ही पुलिस वाले चौकन्ना हो गए। बंदी रक्षकों के पूछने पर वह कहने लगी कि हे बचवा हम बड़ी दूर सेे आइल हई, बस हमके जेलवा में मुख्तार से मिला द..। जब से हम सुनलीं ह कि ऊ जेलवा में आ गइल बाड़न, तबेे से हम छटपटात बाड़ी..। यह सुनकर जब बंदी रक्षकों नेे सुरक्षा का हवाला देते हुए बुढ़िया को बताया कि माई उनसे मुलाकात न हो पाई। ऊ केहू से मिलत नइखे, अऊर तोहरे पास कउनो कागज-पत्तर भी न बा..अइसे में मुलाकात न हो सके ला। यह सुनते ही संपतिया देवी पर मानों दुखों का पहाड़ टूट पड़ा। वह न बचवा अइसे न करीं। हम हर बार उनसे बिना रोक-टोक के मिलत रहलीं अऊर ऊ हमार इतना मदद कइलें हौंवे कि का बताई..। इस पर भी जब बंदी रक्षकों का दिल नहीं पसीजा तो बेचारी बुढ़िया फफक-फफक कर रोने लगी। इस इंतजार में कि हो न हों, उसे ज्ददोजहद के बीच मुख्तार की एक झलक मिल ही जाए, वह जेल गेट पर दोपहर दो बजे तक कड़ी धूप में बैठी बिलखती रही। बाद में उसे निराश होकर घर वापस जाना ही पड़ा। रास्ते भर वह आह भरते, सिसकते तथा बंदी रक्षकों को कोसते हुए घर पहुंची। उसकी इस मनोदशा, अपनों के प्रति प्रेमभाव को देखकर पुलिस वाले भी बहुत कुछ सोचने को मजबूर थे लेकिन सुरक्षा व्यवस्था के चलते वह भी कोई जोखिम लेना नहीं चाहे।

Spotlight

Most Read

Madhya Pradesh

MP निकाय चुनाव: कांग्रेस और भाजपा ने जीतीं 9-9 सीटें, एक पर निर्दलीय विजयी

मध्य प्रदेश में 19 नगर पालिका और नगर परिषद अध्यक्ष पद पर हुए चुनाव में कांग्रेस और भाजपा के बीच कड़ा मुकाबला देखने को मिला।

20 जनवरी 2018

Related Videos

कोहरे ने लगाया ऐसा ब्रेक, एक के बाद एक भिड़ीं कई गाड़ियां

वाराणसी-इलाहाबाद राजमार्ग पर गुरुवार को घने कोहरे के बीच दो एक सड़क हादसा हो गया। कोहरे की वजह से विजिबिलिटी कम होने पर एक के बाद एक चार गाड़ियां एक-दूसरे से टकरा गईं। इस हादसे में चार लोगों के घायल होने की भी खबर है।

21 दिसंबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper