कुल्हाड़ी से गर्दन काटकर कंपाउंडर की हत्या

Ghazipur Updated Wed, 08 Aug 2012 12:00 PM IST
दुल्लहपुर। निजामुद्दीपुर गांव स्थित फैजुल मदरसे के पास चकरोड पर सोमवार की रात कुल्हाड़ी से गर्दन काट कर निजी अस्पताल के कंपाउंडर अमर नाथ चौहान की हत्या कर दी गई। मौका-ए-वारदात से पुलिस ने हत्या में प्रयुक्त कुल्हाड़ी के साथ मृतक की साइकिल, मोबाइल और लैपटाप बरामद कर लिया है। घटना मेें करीबियों का हाथ मानते हुए पुलिस वारदात को आशनाई से जुड़ा होना मानकर तफ्तीश कर रही है। शक के आधार पर तीन युवकों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया है।
दुल्लहपुर के ही झोरियां चुरामनपुर गांव का 25 वर्षीय अमरनाथ पुत्र बसंतू चौहान मियाबड़ा गांव के चंदन चौहान की होमियोपैथ क्लीनिक पर कंपाउंडर का काम करता था। सोमवार की रात करीब साढ़े आठ बजे क्लीनिक बंदकर वह बाजार गया था। इसी बीच उसके मोबाइल पर किसी का फोन आया और वह अपनी साइकिल से निजामुद्दीनपुर गांव पहुंचा। रात करीब नौ बजे उसने अपने मोबाइल से फोन कर बड़े भाई रवींद्र चौहान को बताया कि कुछ लोगों ने उसे घेर लिया है और उसकी हत्या करने की धमकी दे रहे हैं। उसने ग्राम प्रधान डा. लल्लन चौहान को भी दो बार फोन कर अपनी जान को खतरे में बताया। आनन-फानन में जब प्रधान मौके पर पहुंचे तो वहां खून से लथपथ कंपाउंडर का शव पड़ा मिला। कुल्हाड़ी के वार से उसकी गर्दन कट गई थी। मौके पर पहुंची पुलिस ने जांच पड़ताल करके शव को कब्जे में ले लिया। मौके से पुलिस को खून से सनी कुल्हाड़ी और कुछ ही दूर पर मृतक का मोबाइल, साइकिल तथा लैपटाप पड़ा मिला। मौके पर जुटे लोगों ने पुलिस को बताया कि करीब नौ बजे घटनास्थल के पास तीन युवक बैठे दिखे थे और लैपटाप चलाते हुए मोबाइल पर बात भी कर रहे थे। वारदात में उनका ही हाथ हो सकता है। सीओ भुड़कुड़ा बीके सिंह का कहना था कि वारदात से पहले मृतक के मोबाइल पर कहां-कहां से फोन आया, उक्त नंबरों की काल डिटेल निकलवा कर सर्विलांस के सहारे आरोपियों तक पहुंचने की कोशिश की जा रही है। अभी तक घटना के पीछे कोई कारण उभर कर सामने नहीं आया है। हां इतना जरूर है कि अपने किसी खास के बुलाने पर ही अमरनाथ मौका-ए-वारदात पर गया।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

कोहरे ने लगाया ऐसा ब्रेक, एक के बाद एक भिड़ीं कई गाड़ियां

वाराणसी-इलाहाबाद राजमार्ग पर गुरुवार को घने कोहरे के बीच दो एक सड़क हादसा हो गया। कोहरे की वजह से विजिबिलिटी कम होने पर एक के बाद एक चार गाड़ियां एक-दूसरे से टकरा गईं। इस हादसे में चार लोगों के घायल होने की भी खबर है।

21 दिसंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls