अफीम तस्करी से अमरनाथ बना करोड़पति

Ghazipur Updated Mon, 16 Jul 2012 12:00 PM IST
गाजीपुर। अफीम तस्कर अमरनाथ यादव गाजीपुर स्थित एशिया की सबसे बड़ी ओपियम फैक्ट्री के लिए घुन बन गया था। फैक्ट्री के अंदर मजबूत पैठ होने के नाते उसे आसानी से अफीम मिल जाती थी। कम समय में करोड़ों रुपये मूल्य की अफीम ठिकाने लगाकर वह करोड़पति बन गया। पैसे की धाक पर ही उसने पत्नी रजावती को करंडा ब्लाक प्रमुख भी बना डाला लेकिन बनारस में एसटीएफ के हत्थे चढ़ने पर उसे फिर से सलाखों के पीछे जाना पड़ा है।
अफीम तस्करी के मामले में पकड़ा गया यह आरोपी करंडा के सुआपुर गांव निवासी शिवकुमार यादव का पुत्र है। पारिवारिक सूत्रों के मुताबिक उसके परिवार की माली हालत ठीक नहीं थी। शुरूआती समय में जब वह पढ़ने जाता था तो स्कूल की बजाए वह हेरोइनबाजों के बीच ज्यादा ही वक्त बिताता था। यहीं से वह अफीम और हेरोइन तस्करी के धंधे में संलिप्त हो गया। कुछ वर्षोें के बाद उसने अपना पैर बनारस में जमा लिया और मजबूत नेटवर्क तैयार कर बड़े पैमाने पर अफीम तस्करी करने लगा।गोरखधंधा चोखा होने पर चार मार्च 2008 को सैदपुर पुलिस ने उसके चार साथियों पप्पू यादव, भोला गौड़, लल्लू यादव तथा मनीष कुमार को गिरफ्तार कर सेंट्रो कार तथा 73 किलोग्राम अफीम बरामद किया लेकिन पुलिस को चकमा देकर अमरनाथ भाग लिया। पुलिस ने कोर्ट के आदेश पर उसके घर की कुर्की भी कर दी। फरारी के दौरान उसकी कुछ सफेदपोशों से नजदीकियां हुईं, जिसके चलते पुलिस भी उसकी राह में रोड़ा बनने से कतराने लगी। लिहाजा ओपियम फैक्ट्री से बड़े पैमाने पर अफीम की तस्करी करने लगा। विस चुनाव से पूर्व वह हेरोइन और असलहों के साथ एसओजी के हत्थे चढ़ा। इसी मामले में जेल में रहने के बाद जब वह बाहर आया तो फिर से अपना गोरखधंधा तेज कर दिया। 29 फरवरी 2012 को जब बनारस की जैतपुरा पुलिस ने 25 कंटेनर अफीम के साथ सीआईएसएफ के जवान गोपाल धरे के साथ उसके कई साथियों को पकड़ा तो अमरनाथ यादव का नाम प्रमुखता के साथ इस मामले में सामने आया। तब से वह फरार चल रहा था। छानबीन से पता चला है कि बनारस में उसके पास करोड़ों रुपये मूल्य की संपत्ति है। तीन लग्जरी गाड़ियां भी हैंैं। उसके कब्जे से बरामद सफेद रंग की सफारी बिना नंबर की पाई गई है जिसकी जांच में पुलिस जुटी है। एसपी सिटी पीके मिश्र का कहना था कि अब जिला पुलिस उसके मददगारों, अर्जित संपत्ति के साथ उसके जमानतदारों पर शिकंजा कसेगी।

Spotlight

Most Read

Chandigarh

पंजाब: कैबिनेट मंत्री राणा गुरजीत सिंह ने दिया इस्तीफा

पंजाब के कैबिनेट मंत्री राणा गुरजीत सिंह ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। राणा गुरजीत ऊर्जा एवं सिंचाई विभाग के मंत्री थे।

16 जनवरी 2018

Related Videos

कोहरे ने लगाया ऐसा ब्रेक, एक के बाद एक भिड़ीं कई गाड़ियां

वाराणसी-इलाहाबाद राजमार्ग पर गुरुवार को घने कोहरे के बीच दो एक सड़क हादसा हो गया। कोहरे की वजह से विजिबिलिटी कम होने पर एक के बाद एक चार गाड़ियां एक-दूसरे से टकरा गईं। इस हादसे में चार लोगों के घायल होने की भी खबर है।

21 दिसंबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper