लगत बा आयोग क सख्ती मेहनत पर पानी फेरी

Ghazipur Updated Thu, 21 Jun 2012 12:00 PM IST
ख़बर सुनें
गाजीपुर। हैलो... कहा हव मनोहर। हम त प्रीटिंग प्रेस में बाड़ी नेता जी। उहां क्या कर रहे हो। आपे न भेजली हईं पम्फलेट छपावे खातिर। अईसन ह कि पम्फलेट मत छपावा। खाली हैंडबिल छपवा ला। काहे नेता जी। अरे मर्दे पम्फलेट छपावे से का फायदा होई। देखत बाड़ा न कि चुनाव आयोग केतना टाइट बा। दस दिन पहिले तिराहा-चौराहा अऊर गली में जऊन पम्फलेट चस्पा कईले रहला लोग, आज ऊ कहीं नजर ना आवत बा। हैंडबिले ठीक ह। मतदाता लोगन के हाथों-हथा थमा देवल जाई। ठीक बा नेता जी। का बात ह नेता जी। मनोहर के का समझावत रहली ह। का बताई महेश भइया। चुनाव आयोग विधानसभा अऊर लोकसभा के तर्ज पर करावत बा। आचार संहिता के उल्लंघन क डर सबही प्रत्याशी के मन में बनल बा। हमके त ई बात क अफसोस होत बा कि हम झूठही शुरू में हजारों रुपया क पोस्टर छपवा के पूरा शहर में चस्पा करा देहली। लेकिन आयोग क अईसन डंडा चलल कि एक-एक मतदाता लोगन के पास जाके आपन चेहरा देखावे के पड़त बा। खंभा पर लगल होर्डिंग के भी उतार के कूड़ा के भाव फेंक देवल गईल। यही से भइया हैंडबिल छपावत बाड़ी। हमरे हिसाब से नेता जी आयोग क फैसला सही ह। चुनाव लड़े वाले लोग दीवार पर पोस्टर सटाके खराब कर देत रहलन ह। तोहार कहनाम सही ह महेश भइया, मगर टेंशन त ई बात क ह कि मतदाता लोगन के अपने पक्ष में करे के खातिर दावतों देवे में डर लगत बा। हम त यही बलबूता पर चुनाव मैदान में कूदल बाड़ी कि मतदाता लोगन के खुश करके आपन काम बना लेब, मगर लगत बा कि चुनाव आयोग क सख्ती मेहनत पर पानी फेर देई।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Kanpur

ठेकों पर सुबह बिकती मिली शराब

ठेकों पर सुबह बिकती मिली शराब

23 मई 2018

Related Videos

जा रही थी बारात, लेकिन हुआ ऐसा कि पसर गया मातम, 7 की मौत

गाजियाबाद में एक दर्दनाक हादसे में सात लोगों की मौत हो गई। बताया जा रहा है कि ड्राइवर की लापरवाही से कार 20 फीट गहरे नाले में जा गिरी। हालांकि आनन-फानन में घायलों को हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया लेकिन तब तक देर हो चुकी थी।

21 अप्रैल 2018

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen