बेकाबू ट्रक ने पल्लेदार को रौंदा, मौत

Ghazipur Updated Mon, 04 Jun 2012 12:00 PM IST
जमानिया/मतसा। सुहवल थाना क्षेत्र के ताड़ीघाट रेलवे क्रासिंग पर रविवार की सुबह बेकाबू सोलह चक्का ट्रक ने ट्रैक्टर में धक्का मारते हुए पल्लेदार को रौंद दिया। इससे मौके पर ही उसकी मौत हो गई। गेहूं से लदी ट्रैक्टर ट्राली रेलवे क्रासिंग पर ही पलट गई और ट्रक भी क्रासिंग पर ही फंस गया। हादसे के ट्रक का आरोपी चालक मौके से फरार हो गया। क्रासिंग से ट्रैक्टर और ट्रक को हटाने तक करीब तीन घंटे तक क्रासिंग पर यातायात बाधित रहा।
जमानिया कोतवाली क्षेत्र के राघवपुर गांव निवासी दूधनाथ यादव के तीन पुत्रों में दूसरे नंबर का 45 वर्षीय सुरेश यादव पल्लेदारी कर अपनी पत्नी रंजू देवी और पांच बच्चों में पुत्री सीमा, रीमा, शिमला, विमला, रेनू तथा पुत्र अखिलेश की आजीविका चलाता था। रविवार की सुबह वह गांव के ही ढोलन कुशवाहा के ट्रैक्टर पर गेहूं लादकर किसान के साथ जंगीपुर मंडी जा रहा था। बताया गया है कि ट्रैक्टर जब ताड़ीघाट रेलवे क्रासिंग पार करने लगा, तभी जमानिया से गाजीपुर की ओर आ रहे तेज रफ्तार 16 चक्का ट्रक ने पीछे से ही ट्रैक्टर ट्राली में जोरदार धक्का मारा। धक्का लगने पर ट्रैक्टर अनियंत्रित हुआ कि ट्रक ने दूसरा धक्का मार दिया। ट्राली के ऊपर गेहूं के बोरे पर बैठा पल्लेदार धड़ाम से गिर पड़ा। इस पर ट्रक ने उसे रौंद दिया। वहीं ट्रैक्टर ट्राली क्रासिंग पर ही पलट गई और ट्रक भी फंस गया। हादसे को देखकर जब तक आसपास के लोग मौके पर पहुंचे, गिट्टी से भरे 16 चक्का ट्रक को छोड़ कर आरोपी चालक मौके से फरार हो गया। सूचना पर सुहवल पुलिस मौके पर पहुंची लेकिन इस बीच मौके पर लोगों की भीड़ जुट चुकी थी। क्रासिंग के बीच ट्रैक्टर ट्राली के पलटने और ट्रक के फंसा होने के कारण आवागमन बाधित हो गया। दोनों ओर वाहनों की लंबी कतार लग गई। पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया और लोगों की मदद से ट्रैक्टर ट्राली को क्रासिंग से हटवाते हुए क्र्रेन बुलवाया। क्र्रेन ने फंसे ट्रक को क्रासिंग से हटाया। ऐसे में करीब तीन घंटे तक क्रासिंग पर यातायात बाधित रहा। थानाध्यक्ष राम स्वरूप वर्मा का कहना था कि पंचनामा करके शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। साथ ही अज्ञात चालक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उसकी तलाश की जा रही है।


नगसर में खड़ी कर दी गई पैसेंजर
जमानिया। गनीमत रही रेलवे क्रासिंग पर हुए हादसे की सूचना सही समय पर रेलवे अधिकारियों को मिल गई। वरना दिलदारनगर से चलकर ताड़ीघाट आने वाली पैसेंजर ट्रेन छूट चुकी थी। सूचना पर उसे नगसर में ही रोेक दिया गया। वरना ताड़ीघाट रेलवे क्रासिंग पर ट्रेन हादसा हो सकता था। ट्रेन को रोके जाने से तमाम लोग बीच रास्ते में ही फंसे रहे और विलंब से गंतव्य पर पहुंचे।

अब घर में कैसे जलेगा चूल्हा
जमानिया। पल्लेदार सुरेश यादव उर्फ हरंगी ही परिवार का कमाऊ था। उसका बड़ा भाई विजयी तथा सबसे छोटा भाई रमेश राजमिस्त्री है। सभी अलग-अलग रहते हैं। मृतक की पांच पुत्रियों में सिर्फ बड़ी पुत्री सीमा की ही अभी शादी हुई है जबकि दूसरे नंबर की रीमा शादी करने योग्य है। अलावा इसके पुत्रियों मे शिमला, विमला तथा रेनू अभी छोटी है। पुत्र अखिलेश भाई-बहनों में तीसरे स्थान पर है। ऐसे में पल्लेदार की मौत होने से उसकेे घर में चूल्हा कैसे जलेगा, यह भविष्य के गर्त में छिप गया है। शव से लिपटकर उसकी पत्नी धाड़े मारकर बिलख रही थी तो बिलख रहे बच्चे भी अपनी बेसुध मां को ढांढस बंधा रहे थे।

Spotlight

Most Read

Madhya Pradesh

14 साल के इस बच्चे ने कराई चार कैदियों की रिहाई, दान में दी प्राइज मनी

14 साल के आयुष किशोर ने चार कैदियों की रिहाई के लिए दान कर दी राष्ट्रपति से मिली प्राइज मनी।

22 जनवरी 2018

Related Videos

कोहरे ने लगाया ऐसा ब्रेक, एक के बाद एक भिड़ीं कई गाड़ियां

वाराणसी-इलाहाबाद राजमार्ग पर गुरुवार को घने कोहरे के बीच दो एक सड़क हादसा हो गया। कोहरे की वजह से विजिबिलिटी कम होने पर एक के बाद एक चार गाड़ियां एक-दूसरे से टकरा गईं। इस हादसे में चार लोगों के घायल होने की भी खबर है।

21 दिसंबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper