चमकाए गए थानों के असलहे

Ghazipur Updated Sun, 13 May 2012 12:00 PM IST
गाजीपुर। लंबे समय से थानों के शस्त्रागारों में जंग खा रहे असलहों की भी पुलिस प्रशासन ने सुधि लेनी शुरू कर दी गई है। इस कड़ी में पुलिस उप महानिरीक्षक वाराणसी परिक्षेत्र ए सतीश गणेश के निर्देश पर बीते शुक्रवार को जिले के सभी थानों में मौजूद असलहों की साफ सफाई कराई गई। साथ ही असलहों और कारतूसों का मिलान भी कराया गया। एसपी का दावा है कि मिलान में असलहे और कारतूस पूरे मिले।
अपराधी वारदात को अंजाम देने तथा पुलिसकर्मियों से लोहा लेने के लिए अत्याधुनिक हथियारों का इस्तेमाल कर रहे हैं। इसको देखते हुए पुलिस महकमे ने भी अपने संसाधनों में बढ़ोत्तरी की है लेकिन व्यस्तता और लापरवाही के चलते पुलिस न तो अपने को मेंटेन रख पा रही है और न ही शस्त्रों का सही ढंग से रखरखाव ही कर रही है। कई बार यह लापरवाही पुलिस पर भारी पड़ चुकी है। वजह जरूरत पड़ने पर कई बार पुलिस का वार चूक गया है और अपराधी खाकी पर भारी पड़े हैं। इसको देखते हुए अब थानों के मालखाने में रखे गए असलहों की सुधि पुलिस महकमे की ओर से ली जा रही है। इसके लिए डीआईजी ने परिक्षेत्र के सभी पुलिस अधीक्षकों को एक साथ निर्देश जारी किए। उनके निर्देशों के अनुपालन में बीते शुक्रवार को सर्किल के क्षेत्राधिकारियों ने अपने-अपने क्षेत्र के थानों का मुआयना कर पुलिस लाइन से जारी किए असलहों और कारतूस का मिलान कराया और इसकी रिपोर्ट देर शाम एसपी को दी। एसपी ने बताया कि मिलान में हथियार और कारतूस बराबर पाए गए हैं। हथियारों की बेहतर ढंग से सफाई कराई गई है। इससे कभी भी और किसी भी वक्त पुलिस अपराधियों से मोर्चा ले सकेगी।

इनसेट
अखर सकती है फोर्स की कमी
गाजीपुर। लंबे समय से जिले में तैनात रहे या फिर माया सरकार में गैर जनपद से यहां आए पुलिसकर्मी अब फिर से अपने मनचाहे जिले में चल जाएंगे। शासन ने उनकी गुहार सुन ली है। इसके तहत जिले से 240 आरक्षी, 4 हेड कांस्टेबिल, 4 मुख्य आरक्षी तथा 20 सशस्त्र पुलिसकर्मियों को अविलंब कार्यमुक्त किया जाना है। उनके स्थान पर गैर जिलों से आने वालेे जवान भी कम से कम एक सप्ताह बाद ही पुलिस लाइन में अपनी आमद करा सकेंगे। ऐसे में पुलिस फोर्स की कमी अखर सकती है। 6 उपनिरीक्षक भी इसकी जद में हैं। इनमें उप निरीक्षक दूधनाथ, मूंसूर अली, विंधेश्वरी सिंह, आलिया बानो, राम मसल यादव तथा सिधारी सिंह भी शामिल हैं। अलावा इसके जिले के कई और उप निरीक्षक ऐसे हैं जिनकी शिकायत हुई। ऐसे उप निरीक्षकों की सूची डीआईजी द्वारा पहले ही मंगा ली गई है। उनके आदेश पर ऐसे उप निरीक्षकों को भी जिले से जाना ही पड़ेगा।

पानी पिएं ठंडा-ठंडा
गाजीपुर। पुलिस परिवार कल्याणार्थ के लिए आखिरकार पुलिस लाइन में आरओ सिस्टम प्लांट शुरू हो गया। इससे अब प्रतिदिन पुलिस अधिकारियों, पुलिसकर्मियों तथा उनके परिजनों को शुद्ध मिनिरल वाटर के साथ चील्ड पानी पीने को मिलेगा। पुलिस लाइन के आरआई एके पांडेय ने बताया कि पानी का केन पुलिसकर्मियों के आवास तक भिजवाया जाएगा। बशर्तें इसके लिए उनसे तय शुल्क लिया जाएगा। ताकि इस मद से आरओ सिस्टम का रखरखाव और मेंटीनेंस भी किया जा सके।

Spotlight

Most Read

Madhya Pradesh

MP निकाय चुनाव: कांग्रेस और भाजपा ने जीतीं 9-9 सीटें, एक पर निर्दलीय विजयी

मध्य प्रदेश में 19 नगर पालिका और नगर परिषद अध्यक्ष पद पर हुए चुनाव में कांग्रेस और भाजपा के बीच कड़ा मुकाबला देखने को मिला।

20 जनवरी 2018

Related Videos

कोहरे ने लगाया ऐसा ब्रेक, एक के बाद एक भिड़ीं कई गाड़ियां

वाराणसी-इलाहाबाद राजमार्ग पर गुरुवार को घने कोहरे के बीच दो एक सड़क हादसा हो गया। कोहरे की वजह से विजिबिलिटी कम होने पर एक के बाद एक चार गाड़ियां एक-दूसरे से टकरा गईं। इस हादसे में चार लोगों के घायल होने की भी खबर है।

21 दिसंबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper