सौरभ जैन को मिली जमानत, जल्द होगी रिहाई

Ghaziabad Updated Wed, 05 Dec 2012 05:30 AM IST
एनआरएचएम घोटाले में सीबीआई फिर फेल
गाजियाबाद। एनआरएचएम घोटाले में फंसे मुरादाबाद के दवा कारोबारी सौरभ जैन की रिहाई का रास्ता साफ हो गया है। डासना जेल में बंद सौरभ जैन को गाजियाबाद स्थित सीबीआई कोर्ट से जमानत मिल गई। सीबीआई आरोपी कारोबारी के खिलाफ 90 दिन बीत जाने के पश्चात भी चार्जशीट दाखिल नहीं कर सकी। सौरभ के वकील अरविंद मोहन ने उसकी जमानत अर्जी सीबीआई विशेष न्यायाधीश एस. लाल की कोर्ट में दाखिल की। न्यायाधीश ने सौरभ को जमानत दे दी। सौरभ के परिजनों ने मंगलवार शाम को बेल बांड भी पेश कर दिए। बेलबांड वेरिफिकेशन को भेजे गए हैं। बृहस्पतिवार को सौरभ जेल से बाहर आ सकता है।
दवा कारोबारी सौरभ को 5 जनवरी 2012 को सीबीआई ने गिरफ्तार किया था। तब से वह डासना जेल में ही बंद है। सौरभ के खिलाफ सीबीआई ने तीन अलग-अलग एफआईआर दर्ज की थीं। इनमें एफआईआर संख्या-2ए/2012 और 3ई/2012 में सौरभ जैन को इलाहाबाद हाईकोर्ट से पूर्व में ही जमानत मिल चुकी है। 4 सितंबर 2012 को इन दो मामलों में जमानत मिलने के साथ ही सीबीआई ने कोर्ट में प्रार्थना पत्र देकर सौरभ को तीसरे मामले एफआईआर संख्या-3ए/2012 में न्यायिक हिरासत में ले लिया था। इस एफआईआर में सौरभ पर आरोप है कि उसने अपनी पत्नी रजनी जैन के नाम से फर्म बनाकर एनआरएचएम घोटाले को अंजाम दिया। आरोप है कि मल्टीमीडिया के नाम पर सरकारी अस्पतालों में लगने वाले बोर्ड की मद में यह घोटाला हुआ।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: जब पुलिस की ‘दबंगई’ पर भारी पड़ी युवती की बहादुरी

गाजियाबाद के थाना मसूरी क्षेत्र में पुलिस की दबंगई का एक युवती ने मुंहतोड़ जवाब दिया।

23 जनवरी 2018