दरोगा के खिलाफ वकीलों ने खोला मोर्चा

Ghaziabad Updated Sun, 18 Nov 2012 12:00 PM IST
मोदीनगर। कोतवाली के एक दरोगा के खिलाफ वकीलों ने मोर्चा खोल दिया है। आरोप है कि दरोगा ने एक वकील से मारपीट कर सोने की अंगूठी और करीब दस हजार रुपये लूटे हैं। इसके विरोध में शनिवार को वकीलों और छात्रों ने जुलूस निकालकर तहसील पर प्रदर्शन किया। अधिवक्ताओं ने दरोगा के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर लूट का सामान बरामद करने की मांग की है।
सीओ को दिए ज्ञापन के अनुसार 15 नवंबर को उमेश पार्क कालोनी में दो पक्षों में मारपीट हो गई थी। पुलिस ने दोनों पक्षों को पकड़कर कोतवाली ले आई थी। अधिवक्ता लोकेंद्र आर्य का कहना है कि एक पक्ष विनय यादव की ओर वह कोतवाली पहुंचे और विवेचना अधिकारी (दरोगा) को परिचय दिया। आरोप है कि इस पर दरोगा ने वकील के साथ अभद्रता कर मारपीट की और सोने की अंगूठी एवं 9735 हजार रुपये लूट लिए। इतना ही नहीं दरोगा ने वकील को भी हवालात में बंद कर दिया। शनिवार को लोग कोतवाली के सामने एकत्र हुए और नारेबाजी करने के बाद जुलूस के रूप में तहसील पर पहुंचे। सीओ ने निष्पक्ष जांच का आश्वासन दिया।

Spotlight

Most Read

Jharkhand

चारा घोटाला: चाईबासा कोषागार मामले में कोर्ट ने सुनाया फैसला, तीसरे केस में लालू दोषी करार

रांची स्थित विशेष सीबीआई अदालत ने चारा घोटाले के तीसरे मामले में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और आरजेडी के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को दोषी करार दिया है। साथ ही पूर्व सीएम जगन्नाथ मिश्रा को भी दोषी ठहराया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: जब पुलिस की ‘दबंगई’ पर भारी पड़ी युवती की बहादुरी

गाजियाबाद के थाना मसूरी क्षेत्र में पुलिस की दबंगई का एक युवती ने मुंहतोड़ जवाब दिया।

23 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls