सदन मेें ‘महाभारत’

Ghaziabad Updated Fri, 10 Aug 2012 12:00 PM IST
नगर निगम कार्यकारिणी चुनाव में मेयर से धक्का-मुक्की, जमकर हंगामा
गाजियाबाद। जैसा हंगामेदार नगर निगम का चुनाव हुआ था, सदन भी कुछ वैसे ही ट्रैक पर जाता दिख रहा है। बृहस्पतिवार को निगम कार्यकारिणी के चुनाव में विवाद, हंगामा, खींचतान सब कुछ हुआ। किसकी घड़ी में कितने बजे हैं, तकरार यहां से शुरू हुई और फिर बवाल बढ़ता ही गया। वोटिंग के दौरान कुछ पार्र्षदों ने 73 बरस के मेयर तेलूराम कांबोज से धक्का-मुक्की तक कर दी। उनसे माइक और बैलेट पेपर छीन लिया। यह सब सांसद राजनाथ सिंह, सांसद नरेंद्र कश्यप और सभी विधायकों की मौजूदगी में हुआ। हंगामे के बीच राजनाथ नगर निगम से जल्दी चले गए।
कार्यकारिणी गठन के लिए दोपहर 12 बजे नामांकन के समय तक सभी दलों के पार्षद व नेता आपसी समझौते के प्रयास में थे। राजेंद्र त्यागी, अनिल स्वामी, संजय यादव, सुनील चौधरी और आदिल मलिक पार्र्षदों को समझा रहे थे। पीस पार्टी के हाजी अजीमुद्दीन के मौके से गायब होने से नाम वापसी का समय निकल गया। इसी दौरान पीठासीन अधिकारी तेलूराम कांबोज ने घोषणा कर दी कि अभी दस मिनट शेष हैं। कांग्रेस नेता सुनील चौधरी ने विरोध किया और शोर-शराबे के बीच मतदान की घोषणा हो गई। दोपहर तीन बजे शांतिपूर्ण माहौल में मतदान शुरू हुआ। वार्ड 52 से कांग्रेस के पार्षद सुल्तान सिंह खारी ने मतपत्र ठीक से दिखाई न देने के कारण गलत मतदान की बात कही और दूसरा मतपत्र मांगा। मेयर और सहायक नगर आयुक्त ने विरोध किया तो कांग्रेसियों ने हंगामा शुरू कर दिया। फिर भाजपाई और कांग्रेसी आमने-सामने आ गए। इसी बीचखारी ने साथी के सहयोग से मेयर को धक्का देकर उनसे माइक और बैलेट पेपर छीनकर फाड़ दिया। नोक-झोंक के बाद कुछ सनियर पार्षदों के साथ विधायक आदि हस्‍तक्ष्‍ाेप कर मामला शांत किया। मतदान के बाद फिर हंगामा हो गया। इसी दौरान सांसद राजनाथ सिंह वहां से निकल गए। जैसे-तैसे मतगणना शुरू हुई। कक्ष में केवल प्रत्याशियों को ही आने दिया गया। दो मतपत्र निरस्त हुए। इन्हें लेकर बसपा पार्षद मोहम्मद यामीन ने हंगामा शुरू कर दिया। मतपत्र को वैध ठहराने की मांग करते हुए साथियों को अंदर बुला लिया। इससे फिर बवाल खड़ा गया। मतगणना रुक गई। मेयर और सहायक नगर आयुक्त एके सिंह से से खूब बहस हुई। विधायक अमरपाल ने देखा कि एक मत कैंसल होने पर भी यामीन जीत रहे थे। उन्होंने सभी को समझाकर हंगामा शांत कराया। इसके बाद शाम करीब छह बजे परिणाम घोषित किया जा सका।

पार्षदों के सुलूक से मेयर दुखी
गाजियाबाद। निगम कार्यकारिणी चुनाव में जो कुछ हुआ, मेयर तेलूराम कांबोज उसे लेकर खासे आहत दिखाई दिए। उन्होंने कहा कि धक्का-मुक्की और छीना झपटी कर पार्षद और उनके समर्थक क्या साबित करना चाहते थे। नगर आयुक्त के सामने ही जोरदार हंगामा शुरू हो गया था मगर पुलिस नहीं बुलाई गई। अपने साथ बदसलूकी और छीना झपटी पर मेयर ने कहा कि हमने संयम से काम लिया। जिन्होंने गलत व्यवहार किया, उन्हें सोचना होगा कि बुजुर्गों के साथ किस तरह पेश आना चाहिए। भाजपा के वरिष्ठ पार्षद अनिल स्वामी ने कहा कि निगम अफसरों को पुलिस बुलानी चाहिए थी।

कार्यकारिणी में भाजपा का परचम
गाजियाबाद। कार्यकारिणी चुनाव में भाजपा परचम लहराने में कामयाब रही। भाजपा जहां सबसे बड़े दल के रूप में उभरी और अपने सभी घोषित पार्षदों को जिताने में कामयाब रही। सपा, बसपा और भाजपा ने एक-एक महिला को भी इसमें स्थान दिया।

भाजपा
वार्ड नाम पार्षद प्राप्त मत
29 महेंद्र चौधरी 06
41 विमला देवी 06
62 अनिल स्वामी 07
68 राजेंद्र त्यागी 07
सपा
03 बाला यादव 05
13 महेश यादव 05
बसपा
02 कुलदीप 07
57 यामीन 06
77 कुमकुम चौधरी 08
कांग्रेस
32 ओम त्यागी 07
53 प्रवीण कुमार 06
पीस पार्टी
50 हाजी अजीमुद्दीन 05

मतदान की घोषणा होते ही पहुंचे वीवीआईपी
कार्यकारिणी का चुनाव सभी को आम सहमति से होने की उम्मीद थी। हालांकि प्रत्येक दल अपनी पूरी तैयारी की हुई थी। अपने पार्षदों को दो दिन पहले से साथ रखा गया था। दोपहर में एक बजे जैसे ही आम सहमति के प्रयास टूटे और मतदान की घोषणा हुई तो भाजपा सांसद राजनाथ सिंह और बसपा सांसद नरेन्द्र कश्यप मतदान करने पहुंचे। इनके अलावा बसपा विधायक अमरपाल शर्मा, सुरेश बंसल, वहाब चौधरी, प्रशांत चौधरी और एमएल तोमर ने भी वहां आकर मतदान किया। भाजपा महानगर संयोजक सरदार एसपी सिंह भी मौजूद रहे।


कुमकुम चौधरी अव्वल बाला पिछड़ी
बसपा समर्थित वार्ड 77 की पार्षद कुमकुम चौधरी ने सबसे ज्यादा वोटों से जीत दर्ज की। उन्हें आठ वोट मिले। सपा की पार्षद बाला यादव और पीस पार्टी के पार्षद को पांच-पांच वोट मिले।

पीस पार्टी के पार्षद ने बिगाड़ा खेल
कार्यकारिणी के आम सहमति के गठन को पीस पार्टी के पार्षद हाजी अजीमुद्दीन ने बिगाड़ दिया। वह अपना नामांकन वापस न लेने पर अड़ गए। जबकि बाकी दलों के नेताओं में आम सहमति थी।

मतदान से पहले जारी किया व्हिप
मतदान से पहले सभी राजनीतिक दलों ने अपने पार्षदों को लिखित में व्हिप जारी किया। बसपा व सपा के अपने पार्षद नहीं थे। इनके द्वारा समर्थित पार्षदों को ही व्हिप जारी किया गया। महिला पार्षदों को उनके परिजन और पार्टी नेता मतदान के बारे में समझाते रहे। कई महिला पार्षद अपने परिजनों को मतदान कराने के लिए साथ ले गईं। सभी प्रमुुख पार्टियाें के नेता आखिर तक मौके पर जमे रहे। हंगामे के दौरान कुछ वरिष्ठ पार्षदों ने संयम से काम लिया और सबको आखिर तक सबको समझाने में लगे रहे।

Spotlight

Most Read

Madhya Pradesh

CM शिवराज ने रोड शो में शख्स को जड़ा थप्पड़, ट्विटर पर हुए ट्रोल

रोड शो में मुख्यमंत्री अपना आपा खो बैठे और एक शख्स पर थप्पड़ जड़ दिया। इस घटना का वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है जिस वजह से लोग उनकी कड़ी निंदा करने लगे हैं।

16 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: इस बंदर और कुत्ते की दोस्ती एक मिसाल है

अक्सर हम सब ने बंदर और कुत्ते की दुश्मनी देखी है लेकिन हापुड़ में बंदर और कुत्ते के बच्चे का प्यार इन दिनों चर्चा का विषय बना हुआ है।

15 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper