पार्क से हटाओ पब्लिक स्कूल

Ghaziabad Updated Tue, 07 Aug 2012 12:00 PM IST
d अमर उजाला ब्यूरो
गाजियाबाद। निगर निगम ने पार्क में चलाए जा रहे पब्लिक स्कूल को हटाने का आदेश जारी किया है। नगर आयुक्त ने सोमवार को उद्यान प्रभारी और अतिक्रमण दस्ता अधिकारी को स्कूल हटवाने के आदेश दिए हैं।
महानगर के माडल टाउन स्थित नगर निगमपार्क में पिछले कई सालों से सेंट मैरी स्कूल चल रहा है। नगर निगम के उद्यान प्रभारी जुगेन्द्र सिंह के अनुसार स्कूल संचालक ने निगम से 135.37 वर्ग मीटर भवन पुस्तकालय के लिए लिया था। इसको 450 रुपये मासिक किराए पर दिया था। पुस्तकालय के नाम पर संचालक ने यहां पब्लिक स्कूल शुरू कर दिया। इनके द्वारा पार्क का 709 वर्ग मीटर क्षेत्र पर अतिक्रमण कर लिया गया। सूचना के अधिकार केतहत पत्रांक संख्या 92 में उद्यान प्रभारी ने स्वीकार किया है कि पार्क में स्कूल चलाने की न तो अनुमति दी गई है और न ही दी जा सकती है। स्कूल संचालक द्वारा पार्क पर अवैध कब्जा किया हुआ है।
सोमवार को कांग्रेस नेता और पूर्व पार्षद सुनील चौधरी ने इस मामले को नगर आयुक्त के सामने उठाया। सुनील चौधरी ने बताया कि कालोनी में इससे आक्रोश व्याप्त है और लोग पार्क को खाली कराने की मांग कर रहे हैं। नगर आयुक्त जितेन्द्र सिंह ने उद्यान प्रभारी जुगेन्द्र सिंह और अतिक्रमण दस्ते के प्रभारी रोहन सिंह को पार्क से स्कूल हटवाने के आदेश दिए हैं। एक सप्ताह में पार्क को अतिक्रमण मुक्त कराकर आम जनता के लिए खोलने के आदेश दिए गए हैं। इसकेसाथ ही आरोपी केविरुद्ध रिपोर्ट दर्ज कराने और जुर्माना वसूलने के आदेश दिए गए हैं।
सेंट मैरी स्कूल के संचालक नरसिंह अरोड़ा का कहना है कि स्कूल में 300 बच्चे हैं और 14 लोगों का स्टाफ है। पार्क में इसका संचालन पूरी तरह वैध है और इस पर हाईकोर्ट से स्टे लिया हुआ है। स्कूल को किसी हालत में नहीं हटाने दिया जाएगा।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: जब पुलिस की ‘दबंगई’ पर भारी पड़ी युवती की बहादुरी

गाजियाबाद के थाना मसूरी क्षेत्र में पुलिस की दबंगई का एक युवती ने मुंहतोड़ जवाब दिया।

23 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls