उतारकर फेंक दो ये वर्दी, जा बैठो घरों में

Ghaziabad Updated Tue, 26 Jun 2012 12:00 PM IST
लोनी में दोहरे मर्डर से गुस्‍साए लोग, महिलाओं ने पुलिस को सुनाई खरी खोटी
d अमर उजाला ब्यूरो
लोनी। चिरोड़ी मंडी में हुए दोहरे हत्याकांड से लोगों में जबरदस्त गुस्सा है। मौके पर जांच करने पहुंचे पुलिस अफसरों को लोगों ने घेर लिया और खूब खरी खोटी सुनाई। मृतक दयाचंद की पत्नी शिक्षा और बहू दीपा का कहना था कि पत्नी की हत्या करके खुले घूम रहे प्रशांत को पुलिस गिरफ्तार नहीं कर पाई। ऐसे पुलिसवालों को वर्दी पहनने का कोई हक नहीं है।
लोगों ने एसएसपी प्रशांत कुमार को भी नहीं बख्शा। परिजनों का कहना था कि प्रशांत और उसके साथियों को मौत की सजा दी जाए। मृतक दयाचंद के परिवार में उनका बडा पुत्र धर्मेन्द्र, चार पुत्रियां हैं।
कत्ल की वजह में पुलिस उलझी
पुलिस की तफ्तीश अभी कत्ल की वजह पर ही उलझी हुई है। एसएसपी का कहना है कि मामला रंगदारी का नहीं लगता, कोई और वजह हो सकती है।
मुंह नहीं खोल रहे थे ग्रामीण
एसएसपी प्रशांत कुमार, एसपी रूरल जगदीश शर्मा ने ग्रामीणों से बार-बार घटना के विषय में पूछने का प्रयास किया, लेकिन कोई भी दहशत के कारण मुंह खोलने के लिए तैयार नहीं था।
शातिर है प्रशांत
ग्रामीणों ने बताया कि प्रशांत शातिर अपराधी है तथा कई बार जेल जा चुका है। उन्होंने बताया कि प्रशांत मंडी के व्यापारियों से रंगदारी वसूलता था, हो सकता है कि वह दयाचंद और उसके बेटे धनेष से भी रंगदारी मांग रहा हो। जिसका भुगतान न करने पर ही दोनों की हत्या की गई हो। जबकि कुछ का कहना था पत्नी की हत्या के बाद से पुलिस उसकी गिरफ्तारी के लिए गांव में दबिश दे रही थी। प्रशांत को दयाचंद और उसके पुत्र पर मुखबिरी का शक था?


Spotlight

Most Read

Jharkhand

चारा घोटाला: चाईबासा कोषागार मामले में कोर्ट ने सुनाया फैसला, तीसरे केस में लालू दोषी करार

रांची स्थित विशेष सीबीआई अदालत ने चारा घोटाले के तीसरे मामले में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और आरजेडी के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को दोषी करार दिया है। साथ ही पूर्व सीएम जगन्नाथ मिश्रा को भी दोषी ठहराया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: जब पुलिस की ‘दबंगई’ पर भारी पड़ी युवती की बहादुरी

गाजियाबाद के थाना मसूरी क्षेत्र में पुलिस की दबंगई का एक युवती ने मुंहतोड़ जवाब दिया।

23 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls