विज्ञापन

पहले ही देते ध्यान तो गर्मी न करती परेशान

Ghaziabad Updated Wed, 20 Jun 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
ख़बर सुनें
गाजियाबाद। अगर पावर कारपोरेशन पहले से ही ध्यान देता तो गर्मी में जनता बिलबिलाती नहीं। इंफ्रस्ट्रक्चर मजबूत होता तो कम आपूर्ति में शेड्यूल रोस्टिंग के साथ जनता को राहत रहती। बीते साल से इस बार हालात बद से बदतर हो गए हैं। ट्रांसमिशन के चार सब स्टेशनों का निर्माण नहीं हो सका, नतीजा डिस्ट्रीब्यूशन के पांच तैयार सब स्टेशन बेकार पड़े है। जिनती बिजली मिल रही है, वो भी जनता को पूरी नहीं मिल पा रही है। फॉल्ट और ब्रेक डाउन ने शहर पर आफत ढाह रखी है।
विज्ञापन

100 करोड़ की मार
साहिबाबाद। टीएचए के उद्योग प्रति दिन 100 करोड़ रुपये का नुकसान उठा रहे हैं। जेनरेटर से संचालन में लागत तीन गुना बढ़ जाती है। साहिबाबाद औद्योगिक क्षेत्र को बिजली सप्लाई करने वाले अंबिका स्टील 33 केवीए बिजलीघर में काम चलने के कारण पिछले कुछ दिनों से उद्योगों को बिजली नहीं मिल रही है।
6 सबस्टेशन, काम के नहीं
जिले में डिस्ट्रीब्यूशन के लिए 13 विद्युत सब स्टेशनों का निर्माण होना है। इनमें से पांच सबस्टेशन तैयार हो चुके है ट्रांसमिशन के सबस्टेशन नहीं बनने से बेकार पड़े है। बिजली नहीं है तो इनका इस्तेमाल ही नहीं किया जा सकता है।
करंट कैरिंग कैपेसिटी कम
गर्मी में संसाधनों की करंट कैरिंग कैपेसिटी कम हो जाती है और उसपर भी जब संसाधन पुराने हो तो इनकी कैपेसिटी और भी कम हो जाती है। जिले में बेहतर इंफ्रास्ट्रक्चर नहीं होने से जनता तक आपूर्ति की 10 फीसदी बिजली यानी करीब 100 मेगावाट बिजली बेकार चली जाती है।

ये हैं ट्रांसमिशन के हालात
स्थान क्षमता स्थिति
डीपीएच 132केवीए अंतिम स्टेज पर
कान्हा उपवन 132केवीए निर्माणाधीन
टीला मोड़ 132केवीए निर्माणाधीन
यूपीएसआईडीसी 132केवीए निर्माणाधीन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us