विज्ञापन

हर दल में महाभारत

Ghaziabad Updated Fri, 15 Jun 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
ख़बर सुनें
कुर्सी के खेल निराले : वोट-सपोर्ट बाद में, अभी तो घरों का झगड़ा नहीं निपटा पा रहीं पार्टियां
विज्ञापन

गाजियाबाद। यह कुर्सी का खेल है, जिसने दिलों से लेकर दलों तक दरार ला दी है। मेयर के लिए सजी चुनावी क्लास में नेता अभी पहला इम्तिहान भी पास नहीं कर पाए हैं कि हर तरफ महाभारत हो गई है। सपा दो-दो सूरमा (सिकंदर-सूदन) की जंग में उलझी है। तो बसपा अपने ही चार-चार योद्धाओं के झगड़े से जूझ रही है। कांग्रेस का हाल ऐसा कि विजय चौधरी की उम्मीदवारी होते ही न जाने क्यों, ज्यादातर सूरमा कोपभवन में चले गए हैं। भाजपा से तेलूराम के फोटो पर नई कलह की खबरें आ रही हैं। चर्चा है, पार्टी के फरमान के बाद भी कितने ही भाजपा पार्षद बैनर-पोस्टर में मेयर प्रत्याशी को जगह देने को लेकर अनमने हैं।
बसपा: उम्मीदवार के ऐलान में सबसे पीछे छूटी बसपा से जुड़े सुरेश कश्यप, कर्णे प्रधान, बिजेंद्र नागर, अशोक चौधरी ने मेयर चुनाव में अपना दांव फेंका है। इनमें कोई पीछे हटने को तैयार नहीं। पहले संगठन का कहना था कि उम्मीदवार का फैसला कोआर्डिनेटर करेंगे मगर अब कहा जा रहा है कि जब चारों विधायक लखनऊ से लौटेंगे, तब तय होगा। अभी यहां टिकट पर ही घमासान मचा है।
कांग्रेस : हर बार दो खेमों में बंटी नजर आने वाली कांग्रेस मेयर चुनाव में भी अंतर्कलह के उसी ट्रैक पर है। विजय चौधरी ने हाथ का आशीर्वाद तो लिया है मगर कांग्रेसियों का यकीन जीतने में अभी पीछे ही हैं। रही सही कसर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता बिजेंद्र यादव ने मेयर के लिए ताल ठोंककर पूरी कर दी है और उन्हें राजनीति में माहिर कई ताकतवर नेताओं का वरदहस्त प्राप्त है।


भाजपा: कितने ही नौजवान नेताओं को नजरंदाज करके भाजपा ने 73 साल के तेलूराम पर भरोसा जताया है। साथ ही बैठक कर यह फरमान भी सुना दिया है कि वार्ड के सभी उम्मीदवार अपने बैनर-पोस्टर में तेलूराम का फोटो जरूर लगाएंगे। पार्टी सूत्रों से पता लगा है कि कई पार्षद उम्मीदवारों को पार्टी का फरमान रास नहीं आ रहा। जबकि महानगर संयोजक ने कह दिया है कि सबको ऐसा करना ही पड़ेगा।


सपा : सत्तारूढ़ दल ने रालोद से आए सूदन रावत के समर्थन पर मुहर लगाई है, मगर उन्हें ‘साइकिल’ देने से इंकार कर दिया है। सूदन के लिए बड़ा संकट ये है कि मेयर बनने को कबसे होमवर्क कर रहे सपा नेता सिकंदर यादव सिटी-पार्टी में गहरी पैठ का दावा करते हुए मैदान में कूद पड़े हैं। पार्टी सूत्रों का कहना है कि नौजवान सिकंदर अपना चुनावी रथ पीछे ले जाने को तैयार नहीं हैं। खींचतान जारी है।
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us