लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Delhi NCR ›   Ghaziabad News ›   घट रहे शिक्ष्ाक कैसे होगी पढ़ाई

घट रहे शिक्ष्ाक कैसे होगी पढ़ाई

Ghaziabad Updated Mon, 21 May 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
133 शिक्षक स्कूलों से हो रहे रिटायर


गाजियाबाद। माध्यमिक शिक्षा परिषद् से संबद्ध एडेड स्कूल, शिक्षक और शिक्षणेत्तर कर्मचारियों की कमी से जूझ रहे हैं। वर्तमान में जिले के स्कूलों में जितने लेक्चरर, टीजीटी और शिक्षणेत्तर कर्मचारियों की जरूरत है उससे 25 प्रतिशत कम से ही काम चल रहा है। हर साल करीब सवा सौ शिक्षक और 50 के करीब में शिक्षणेत्तर कर्मचारी रिटायर हो रहे हैं लेकिन नियुक्ति अनुपात में नहीं हो रही। इस साल 133 शिक्षक गाजियाबाद और पंचशील नगर के स्कूलों से रिटायर हो रहे हैं।
गाजियाबाद और पंचशील नगर में 95 एडेड स्कूल हैं। इनमें शिक्षक और शिक्षणेत्तर कर्मचारियों के 3489 पद हैं, जबकि 2575 शिक्षक और शिक्षणेत्तर कर्मचारी ही वर्तमान में कार्यरत हैं। इनमें 1496 शिक्षक शामिल हैं। इसमें पंचशील नगर में 179 लेक्चरर और 481 टीजीटी तथा गाजियाबाद में 219 लेक्चरर और 617 टीजीटी शिक्षण कार्य में लगे हुए हैं। जून मे 133 शिक्षक और 42 शिक्षणेत्तर कर्मचारी रिटायर हो रहे हैं। ऐसे में 1496 कार्यरत शिक्षकों में से घटकर 1363 शिक्षक ही शेष रहेंगे। अभी 911 कर्मचारी कम हैं और इनमें करीब 600 शिक्षक शामिल हैं। हर साल रिटायर होने वाले शिक्षकों की तुलना में 50 फीसदी भी नए शिक्षकों की नियुक्ति न होने से नए सत्र से स्कूलों की पढ़ाई चौपट होने की स्थिति में आ जाएगी। हालांकि शिक्षा विभाग के मुताबिक स्कूलों से शिक्षकों की आवश्यकता से संबंधित जानकारी मांग ली गई है। अभी स्कूलों से 60 पदों की जरूरत बताई गई है। समीक्षा के बाद अधियाचन जून में चयन बोर्ड को भेजा जाएगा।


विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00