कोर्ट में खोला कंकालों से भरा संदूक

Ghaziabad Updated Thu, 03 May 2012 12:00 PM IST
गाजियाबाद। चर्चित निठारी प्रकरण में बुधवार को निशा और पुष्पा मर्डर केस की सुनवाई हुई। सीबीआई के विशेष न्यायाधीश एस. लाल की कोर्ट में आगरा फोरेंसिक लैब के डायरेक्टर और यूपी पुलिस के दरोगा ने अपने बयान दर्ज कराए। इस दौरान खोपड़ियों (कंकाल)से भरा संदूक कोर्ट के आदेश पर खोला गया। इससे पूर्व कड़ी सुरक्षा के बीच मामले के आरोपी सुरेंद्र कोली को कोर्ट में पेश किया गया।
सबसे पहले निशा मर्डर केस की सुनवाई हुई। इसमें आगरा फोरेंसिक लैब के डायरेक्टर डा. एके मित्तल ने अपने बयान दर्ज कराए। डा. मित्तल ने घटना से मिले सबूतों का निरीक्षण रिपोर्ट को साबित किया। इसी प्रकार पुष्पा मर्डर केस में दरोगा छोटे सिंह ने अपने बयान दर्ज कराए। दरोगा ने कोठी संख्या डी-5 के पीछे नाले से खोपड़ी बरामद करना साबित किया। दोनों ही गवाहों से मामले के आरोपी सुरेंद्र कोली ने स्वयं जिरह की।
बचाव पक्ष की मांग पर सीबीआई के विशेष न्यायाधीश एस. लाल ने आदेश दिया कि सीबीआई खोपड़ी वाला संदूक कोर्ट में खोलकर दिखाए। इसके बाद संदूक को कोर्ट के समक्ष खोला गया। समयाभाव के चलते छोटे सिंह दरोगा के निशा मर्डर केस में बयान नहीं हो सके। इस मामले में कोर्ट ने अब 3 मई की तारीख लगाई है। जबकि पुष्पा मर्डर केस की सुनवाई के लिए 16 मई की तारीख दी है।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाले के तीसरे केस में लालू यादव दोषी करार, दोपहर 2 बजे बाद होगा सजा का ऐलान

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: जब पुलिस की ‘दबंगई’ पर भारी पड़ी युवती की बहादुरी

गाजियाबाद के थाना मसूरी क्षेत्र में पुलिस की दबंगई का एक युवती ने मुंहतोड़ जवाब दिया।

23 जनवरी 2018