मुसीबतों की बरसात, फसले तबाह, बिजली ठप

Firozabad Updated Thu, 23 Jan 2014 05:42 AM IST
फीरोजाबाद। बेमौसम बारिश किसानों पर भारी पड़ गई। सैकड़ों बीघा फसलें हो गई जलमग्न हो गई। पानी बंद नहीं हुआ तो तैयार खड़ी आलू की फसल के सड़ने की संभावना बढ़ गई है। सरसों के साथ मिर्च की फसल प्रभावित होगी। इधर कई क्षेत्रों में पानी भरने से फसल बर्बाद हो रही है।
मंगलवार की शाम से शुरू हुई बारिश बुधवार को भी पूरे दिन हुई। बाजार खुले लेकिन कोई ग्राहक दिखाई नहीं दिया। खुले आसमान के नीचे जीवन गुजारने वाले पशु पक्षी भी सर्दी के कारण ठिठुरते दिखाई दिए। बरसात के चलते शहरी क्षेत्र में जलभराव हो गया। बस स्टेंड के सामने, सर्विस रोड, रसूलपुर डाकबंगला के निकट पानी भर जाने के कारण राह निकलना तक दूभर हो गया। मथुरा नगर, जलेसर रोड, बोधाश्रम रोड, नगला बरी, जाटवपुरी, आसफाबाद, गांधीपार्क, स्टेशन रोड, नई बस्ती, करबला, चंद्रवार गेट, रामनगर, संतनगर सहित क्षेत्रों में पानी भरने के कारण काफी दिक्कत हुई। नई आबादी वाले क्षेत्र सैलई, कश्मीरीगेट, ताड़ो वाली बगिया, हबीबगंज, रामगढ़, हाजीपुरा, गालिब नगर, राहीनगर में फिसलन बढ़ गई।
सदर बाजार में बुधवार को पूरे दिन सन्नाटा पसरा रहा। कुछ दुकानदारों ने दुकानें तो खोलीं लेकिन ग्राहकों के इंतजार में मायूस बैठे रहे। मुख्य मार्गों सहित गली- मोहल्लों में सड़कें खाली दिखाई दीं। क्योंकि लोग तो घरों से नहीं निकल रहे थे। स्कूल एवं कालेज तो खुले लेकिन स्टाफ ही नहीं बल्कि छात्र-छात्राओं की उपस्थित काफी कम रही।

कार्यालयों में कम रही उपस्थिति
बारिश के कारण सरकारी दफ्तरों में उपस्थिति काफी कम रही। जो कर्मचारी कार्यालय पहुंचे भी वह शाम को जल्दी ही निकल लिए। क्योंकि बुधवार को भी बारिश थमने का नाम ही नहीं ले रही थी।

खाली बैठे रहे चिकित्सक
जिला अस्पताल में सोमवार, बुधवार व शुक्रवार वाले दिन मरीजों की संख्या सर्वाधिक रहती है लेकिन बारिश के कारण बुधवार को अस्पताल में सन्नाटा रहा। क्लीनिक पर चिकित्सक खाली ही बैठे मरीजों का इंतजार करते रहे।

शादी- समारोह में भी नही पहुंचे लोग
बारिश का असर शादी समारोह पर पड़ा। जिनके यहां आयोजन थे उन्होंने काफी लोगों की दावत का इंतजाम किया था लेकिन उम्मीद से आधे भी लोगों के नहीं पहुंचने के कारण काफी खाना बर्बाद हो गया। कुछ आयोजक तो पशुओं का खाना खिलाते दिखाई दिए।

बारिश ने बढ़ाई सब्जियों की कीमत
बेमौसम बारिश ने सब्जियों की कीमतें बढ़ा दीं। आलू की कीमत पांच किलोग्राम पर दस से 15 रुपया तक बढ़ गई। दो दिन पूर्व जहां 35 से 40 रुपया का पांच किलोग्राम था। वहीं बुधवार को यह 50 रुपया पर पहुंच गया। इसका बड़ा कारण आलू की खुदाई प्रभावित होना है। गोभी दो से तीन रुपया तक महंगा हुई। पालक के साथ टमाटर, बंदगोभी, मिर्च की कीमतें बढ़ गई। थोक मंडी में आलू की कम आवक के कारण फुटकर दुकानदारों को आलू कम मिला।

खरगपुर, नगला पसी में फसलें जलमग्न
एका (ब्यूरो)। खरगपुर, नगला पसी में तो सैकड़ों हेक्टेयर आलू, गेहूं एवं लहसुन की फसल बारिश से जलमग्न हो गई। इसमे खरगपुर में सौदान सिंह, मनीराम यादव, पप्पू शर्मा, राधेश्याम शर्मा, सत्यप्रकाश गोस्वामी, रामसनेहीलाल आदि हैं। जबकि नगला पसी निवासी शिवराज सिंह, मोहरपाल सिंह, साधू सिंह की करीब 1800 बीघा भूमि पर पानी भरने से लाखों की चपत लगी है।

बिजली व्यवस्था ध्वस्त, अंधकार में आधा शहर
बरसात के चलते शहर में करीब दर्जन भर ट्रांसफार्मर क्षतिग्रस्त पड़े हैं, जिससे आधा शहर अंधकार में डूबा हुआ है। शहर के मथुरा नगर, लोहिया नगर, ओझानगर, राहीनगर, नारायन नगर, रसूलपुर, आसफाबाद, सुहागनगर, महावीर नगर, महताब नगर, नगला विश्नु में फुंके ट्रांसफार्मर विभाग नहीं बदल सका।
बुधवार को भी बरसात ने थमने का नाम नहीं लिया। सुबह से ही आपूर्ति बंद कर दी गई। लाइन में हुए फाल्ट एवं ब्रेकडाउन ठीक नहीं हो सके। बिजली के अभाव में पेयजल संकट भी गहरा गया है। नगरपालिका द्वारा जेनरेटर चलवाकर आपूर्ति करने की व्यवस्था की जा रही है। वहीं प्रतिदिन करीब पांच दर्जन टैंकरों से समस्याग्रस्त क्षेत्रों में आपूर्ति की जा रही है।

बीस घंटे बाद ठीक हो सका फाल्ट
मंगलवार की शाम करीब चार बजे एस एन क्षेत्र के फीडर नंबर 14 पर एक फाल्ट हो गया। उक्त फाल्ट के चलते शहर के गांधीनगर, शिवनगर व गोपाल नगर की विद्युत आपूर्ति भंग हो गई। लोगों ने फीडर पर बताने के साथ-साथ क्षेत्र के जेई यशपाल सिंह को भी फोन पर कई बार समस्या बताई। मंगलवार पूरी रात कई घरों की बत्ती गुल रही तो बुधवार को भी फाल्ट ठीक करने की सुध दोपहर बाद आई। बिजली व्यवस्था भंग होने से पेयजल संकट हो गया। जेई बार-बार बरसात का बहाना कर पल्ला झाड़ते रहे जबकि फाल्ट शट डाउन लेकर ठीक होना था। दोपहर बाद आपूर्ति सुचारु हो गई।
टूंडला में दूसरे दिन भी बारिश होती रही। इससे एनसीआर कालेज रोड, तेलमिल रोड, एमपी रोड, जैन गली, मस्जिद रोड आदि पर जलभराव हो गया। इससे वाहन चालकों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। स्कूलों में रैनी डे घोषित कर दिया गया।

मिर्च और आलू की फसल चौपट
टूंडला/ नगला बीच। दो दिन से हो रही लगातार बारिश से मिर्च, आलू व सरसों को खासा नुकसान हुआ है। नगला बीच, नगला सिकंदर, पचोखरा, हिम्मतपुर, रजावली, बछगांव आदि क्षेत्रों में खेतों में खड़ी फसल में पानी भर गया है। सबसे अधिक मिर्च, धनियां, मैथी, पालक आदि की सब्जियों को नुकसान हुआ है। किसानों ने बताया कि 40 से 60 प्रतिशत फसल बर्बाद हो गई है।

Spotlight

Most Read

Kanpur

बाइकवालाें काे भी देना हाेगा टोल टैक्स, सरकार वसूलेगी 285 रुपये

अगर अाप बाइक पर बैठकर आगरा - लखनऊ एक्सप्रेस वे पर फर्राटा भरने की साेच रहे हैं ताे सरकार ने अापकी जेब काे भारी चपत लगाने की तैयारी कर ली है। आगरा - लखनऊ एक्सप्रेस वे पर चलने के लिए सभी वाहनों को टोल टैक्स अदा करना होगा।

17 जनवरी 2018

Related Videos

जिस प्रिंसिपल ने पढ़ाया उसके साथ छात्रों ने किया गंदा काम!

फिरोजाबाद के एक स्कूल की प्रिंसिपल को शहर के कुछ रईसजादों ने अश्लील फोटो सोशल मीडिया पर वायरल करने की धमकी दी।

17 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper