अब स्कूलों में शिक्षकों का नहीं रहेगा टोटा

Firozabad Updated Wed, 10 Oct 2012 12:00 PM IST
फीरोजाबाद। माध्यमिक स्कूल शिक्षक विहीन हो रहे हैं। छात्रों की संख्या के साथ अब शिक्षकों की संख्या भी कम हो रही है।
शिक्षा की गुणवत्ता माध्यमिक स्कूलों में गिरती जा रही है। शिक्षकों की खासी कमी है। जिले में करीब एक सैकड़ा शिक्षकों की कमी है। जिसके चलते कई स्कूलों में विषयवार पढ़ाई ठप पड़ी है। जिले के 388 माध्यमिक स्कूल है। जिसमें से 58 सरकारी कालेज हैं, जबकि चार उच्चीकृत है। कई सरकारी स्कूल में टीचरों का स्टाफ अधिक है, लेकिन छात्र संख्या कम है। इसके बावजूद उन स्कूलों का रिजल्ट वित्तविहीन स्कूलों की अपेक्षा काफी खराब रहता है। डीआईओएस रविंद्र सिंह ने बताया कि सरकारी स्कूलों में शिक्षकों की कमी को पूरा किया जायेगा। सरकार डिग्री कालेज की तर्ज पर माध्यमिक स्कूलों में शिक्षकों को मानदेय पर रखने जा रही है। जिससे जिले के करीब आधा सैकड़ा शिक्षकों की नियुक्ति की जायेगी। यह शिक्षक उन विद्यालयों में भेजे जायेंगे। जहां पर शिक्षकों का टोटा सबसे ज्यादा है। इन शिक्षकों को दस हजार मानदेय पर रखा जायेगा। विषयवार स्कूलों में शिक्षकों की नियुक्ति होगी।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाले के तीसरे केस में लालू यादव दोषी करार, दोपहर 2 बजे बाद होगा सजा का ऐलान

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

सलमान खान को दी थी जान से मारने की धमकी अब है सलाखों के पीछे

फिरोजाबाद में पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़ हुई। जिसमें पंजाब और हरियाणा का शार्प शूटर रवींद्र उर्फ काली राजपूत को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। काफी दिन से पुलिस इनकी तलाश कर रही थी। इसके तार इंटरनेशनल लारेंस विश्नोई गैंग से भी जुड़े हैं।

19 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls